27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

नदी किनारे मृत पशु को काट रहे 4 लोगों पर हमला, एक की मौत, तीन घायल, गांव में तनाव

दुर्जय पासवान, गुमला गुमला जिले के डुमरी थाना के जैरागी सेन नदी के किनारे बुधवार की देर शाम को मृत पशु को काट रहे जुरमू गांव के चार लोगों पर एक समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया. इस हमले में जुरमू गांव के प्रकाश लकड़ा (50) की मौत हो गयी. जबकि जुरमू गांव के […]

दुर्जय पासवान, गुमला

गुमला जिले के डुमरी थाना के जैरागी सेन नदी के किनारे बुधवार की देर शाम को मृत पशु को काट रहे जुरमू गांव के चार लोगों पर एक समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया. इस हमले में जुरमू गांव के प्रकाश लकड़ा (50) की मौत हो गयी. जबकि जुरमू गांव के ही पीटर केरकेट्टा (50), बेलासियुस तिर्की (60) व जनावारियुस मिंज (40) घायल हैं. तीनों घायलों को गुमला सदर अस्पताल में भरती कराया गया.

इस घटना के बाद जैरागी व जुरमू गांव में तनाव है. तनाव से निपटने के लिए गांव में पुलिस बल तैनात है. घटना की सूचना मिलने पर गुरुवार को एसपी अंजनी कुमार झा गांव पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी ली. एसडीओ सत्यप्रकाश, डुमरी बीडीओ युनिका शर्मा, चैनपुर बीडीओ डॉ शिशिर कुमार सिंह, जारी प्रखंड के बीडीओ प्रवीण केरकेट्टा सहित तीनों थाना की पुलिस गांव में कैंप कर रही है.

घटना के बाद जुरमू गांव की दर्जनों महिलाएं घायलों को देखने के लिए डुमरी प्रखंड आ रही थी. लेकिन तनाव की स्थिति को देखते हुए ग्रामीणों को पुलिस ने गांव में ही रोक दिया है.

पशु काटते देखकर एक समुदाय ने हमला किया

मृतक प्रकाश लकड़ा की पत्नी जेरमेना लकड़ा ने बताया कि जुरमू गांव के लोग पशु का मांस खाते हैं. गांव के जखरियस कुजूर का एक बूढ़ा बैल नदी के किनारे गिर गया था. इसकी सूचना मिलने के बाद गांव के कुछ उसे देखने के लिए गये थे. पशु को खाने के लिए काटा जा रहा था.

तभी जैरागी गांव के एक समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया. जिसमें कुछ लोग जान बचाकर भाग गये. इस हमले में मेरे पति की मौत हो गयी. जबकि तीन लोग घायल हो गये. जेरमेना ने कहा कि जैरागी गांव वालों को इतना नहीं मारना चाहिए था. दो, चार हाथ लाठी डंडा मारकर पुलिस के हवाले कर देते. जान से मार दिया.

डीआईजी पहुंचे गांव, एसपी कर रहे कैंप

जैरागी व जुरमू गांव में घटित घटना के बाद प्रशासन की नजर गांव पर है. गुरुवार को रांची जोन के डीआईजी एबी होमकर ने घटना स्थल का दौरा किया. घायलों की समुचित इलाज की व्यवस्था करने का निर्देश देते हुए घटना की हर पहलू की जांच कर दोषियों को चिन्हित करते हुए अविलंब गिरफ्तार करने का आदेश दिया.

पत्रकारों से बातचीत में डीआईजी ने कहा कि इस मामले के उद्भेदन हेतु एसपी गुमला के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है. एसआईटी का नेतृत्व एसपी गुमला करेंगे. जबकि इसमें एसडीपीओ चैनपुर, पुलिस निरीक्षक चैनपुर अंचल और थाना प्रभारी चैनपुर, डुमरी व जारी को शामिल किया गया है. यह टीम जल्द ही मामले का उद्भेदन कर दोषियों को गिरफ्तार करने में सफल होगी.

पुलिस कप्तान अंजनी कुमार झा अहले सुबह से घटना स्थल पर मौजूद हैं और उन्होंने पीड़ित पक्ष से मिलकर कहा कि कानून को अपने हाथ मे लेने का हक किसी को नहीं है. आप शांति व सैन्यम बरतें. घटना के सभी पहलुओं की जांच की जा रही है और इस घटना के लिए जिम्मेवार व्यक्तियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा.

गुमला के एसपी घटना स्थल से मांस के कुछ टुकड़े मिले हैं. उसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है. मांस के टुकड़े को जांच के लिए भेजा जायेगा. पूरे मामले की जांच चल रही है. अभी तत्काल कुछ नहीं कहा जा सकता है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें