29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

फार्मासिस्ट अपहरण मामले में छह अपराधी गिरफ्तार

एक लोडेड पिस्टल, तीन कारतूस, अपहृत की बाइक के अलावा तीन अन्य बाइक, एक वैन व छह मोबाइल जब्त

प्रतिनिधि, गिरिडीह.

देवरी थाना क्षेत्र के चतरो गांव निवासी फार्मासिस्ट पवन दास के अपहरण मामले में गिरिडीह पुलिस ने छह अपराधियों को गिरफ्तार किया है. इनमें गिरोह का मास्टरमाइंड देवरी थाना क्षेत्र के कोसोंगोदोदिघी निवासी संजय पासवान, संजय राम, जमुआ थाना क्षेत्र के चचघरा का महेश कुमार वर्मा, पचंबा थाना क्षेत्र के जगपतारी का सद्दाम अंसारी, नवडीहा ओपी क्षेत्र के बेरहाडीह का राजकुमार वर्मा और गावां थाना क्षेत्र के पिहरा (वर्तमान पता-देवरी थाना क्षेत्र के चतरो) निवासी मो. मुजफ्फर शामिल हैं. अपराधियों के पास से पुलिस ने एक लोडेड देशी पिस्टल, तीन जिंदा कारतूस, अपहरण में इस्तेमाल की गयी वैन, अपहृत युवक की बाइक के अलावा रेकी में इस्तेमाल की गयी तीन बाइक, छह मोबाइल जब्त किये गये हैं. आरक्षी अधीक्षक दीपक कुमार शर्मा ने गुरुवार को अपने कार्यालय में पत्रकारों को बताया कि ग्रामीण चिकित्सक लक्ष्मण दास के पुत्र पवन का अपहरण करने के बाद अपराधियों ने उसे मुफ्फसिल थाना इलाके के कुरुमडीहा के जंगल में रखा था.

बिहार के सरौन से लौट रहा था पवन, बाइक समेत हो गया अपहरण :

देवरी थाना क्षेत्र के मनकडीहा गांव निवासी पवन मेडिकल के संचालक लक्ष्मण दास के फार्मासिस्ट पुत्र पवन कुमार दास 13 जून को बिहार के सरौन गया था, जहां से वह अपनी बाइक से वापस घर लौट रहा था. इसी दौरान सरौन से चतरो के बीच रात करीब नौ बजे अज्ञात अपहरणकर्ताओं ने फार्मासिस्ट पवन का अपहरण कर लिया. घटना के बाद पवन के पिता लक्ष्मण दास ने गिरिडीह के एसपी दीपक कुमार शर्मा को फोन कर बताया कि वे एक ग्रामीण चिकित्सक हैं और उसका दुकान चतरो बाजार में है. रात लगभग नौ बजे उसका पुत्र पवन दास दुकान बंद कर बाइक से घर आ रहा था. इसी बीच उसके पुत्र का बाइक समेत अपहरण कर लिया गया है और फिरौती की मांग की जा रही है. सूचना मिलते ही एसपी श्री शर्मा ने तुरंत ही युवक को सकुशल बरामद के लिए टीम का गठन कर दिया. इस टीम में मुफ्फसिल थाना प्रभारी सह पुलिस निरीक्षक श्याम किशोर महतो, जमुआ सर्किल के इंस्पेक्टर प्रमोद सिंह, देवरी थाना प्रभारी सोनू साहू, जमुआ थाना प्रभारी मणिकांत, धनवार थाना प्रभारी नंदु पाल, हिरोडीह थाना प्रभारी धर्मेंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में अलग-अलग टीम बनायी गई और फिर पूरी टीम पुलिस जवानों के साथ युवक को सकुशल बरामद करने और अपहरणकर्ताओं को पकड़ने के लिए निकल पड़े. एक तरफ पुलिस की टीम छापामारी कर रही थी तो दूसरी तरह गिरिडीह के एसपी दीपक शर्मा खुद पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहे थे और टेक्निकल टीम को भी एक्टिव कर दिये थे.

नाकेबंदी कर वाहनों की सघन तलाशी हुई शुरू :

पुलिस ने सूचना मिलने के बाद लोकायनयनपुर, बेंगाबाद, बिरनी, बगोदर, ताराटांड़, डुमरी, भरकट्ठा, नवडीहा, बेलाटांड़- अहिल्यापुर के पास नाकेबंदी कर वाहनों की सघन तलाशी शुरू कर दी. हर एक वाहनों को रुकवा कर पुलिस के जवान तलाशी ले रहे थे. बाइक की भी तलाशी की जा रही थी. एक तरफ जहां पुलिस की टीम अलग-अलग इलाकों में छापामारी कर रही थी तो दूसरी तरफ टेक्निकल टीम भी लगातार अपना काम कर रही थी. इसी बीच फिरौती के लिए फोन करने वाले अपहरणकर्ता का मोबाइल लोकेशन का पता चला कि अपहरण करने के बाद युवक को मुफ्फसिल थाना इलाके के कुरुमडीहा के जंगल में रखा गया है. इसके बाद पुलिस की पूरी टीम कुरूमडीहा के जंगल में रात में ही पहुंच गयी और पूरे जंगल में घेराबंदी कर छापामारी शुरू कर दी. इसी बीच देवरी थाना प्रभारी सोनू और जमुआ थाना प्रभारी मणिकांत की नजर एक बाइक पर सवार दो संदिग्धों पर पड़ी. दोनों जिस बाइक पर सवार थे, वह बाइक अपहृत का प्रतीत हुआ. ऐसे में दोनों थाना प्रभारी बाइक की तरफ दौड़ पड़े. इसी बीच दोनों संदिग्ध बाइक समेत भगाने लगे. पुलिस को अपने पीछे आते देख दोनों संदिग्ध बाइक छोड़ कर भाग गये. पुलिस ने बाइक को जब्त कर लिया. जब बाइक की जांच की गयी तो पता चला की बाइक अपहृत पवन कुमार की ही थी.

बिरनी के पेशम जंगल से पुलिस ने पवन को किया था सकुशल बरामद :

पुलिस की बढती दबिश को देख अपहरणकर्ता पवन को लेकर बिरनी थाना क्षेत्र के पेशम जंगल पहुंच गये और यहीं पर पवन को छोड़ कर भाग निकले. सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम पेशम पहुंची और पवन को सकुशल बरामद कर लिया, लेकिन अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी को लेकर फिर से पुलिस की छापामारी जारी रही. पुलिस की अलग-अलग टीम न सिर्फ गिरिडीह, बल्कि आस-पास के कई जिलों में भी छापामारी करने लगी और फिर एक-एक कर गिरोह के मास्टरमाइंड से लेकर सभी सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया.

चोरी की वैन से किया गया था पवन का अपहरण

: मिली जानकारी के अनुसार पवन का अपहरण जिस मारुति ओमनी वैन से की गयी थी, वह गाड़ी जेएच 10 ऐसी 3385 बीते 4 जून 24 को पचम्बा थाना क्षेत्र के सुगासार से इन्हीं अपराधियों ने लुटी थी. लूट की घटना का भी मास्टरमाइंड संजय राम ही था.

छापेमारी दल में ये थे शामिल :

छापेमारी दल में खोरीमहुआ एसडीपीओ नीरज कुमार सिंह, पुनि प्रमोद कुमार सिंह, निरीक्षक जमुआं अंचल, पुनि पास्कल टोप्पो, निरीक्षक गांवा अंचल, पुनि श्याम किशोर महतो, पुनि-सह-थाना प्रभारी, मुफ्फसिल थाना, पुनि शैलेश प्रसाद, पुनि-सह-थाना प्रभारी, टाउन थाना, गिरिडीह, पुनि मंटू कुमार,पुनि-सह-थाना प्रभारी पचम्बा थाना, पुअनि सत्येंद्र कुमार पाल, मुफ्फसिल थाना, पुअनि सोनु कुमार साहु, थाना प्रभारी, देवरी थाना, पुअनि मणिकांत कुमार, थाना प्रभारी, जमुआ थाना, पुअनि दीपक कुमार, प्रभारी, नवडीहा ओपी, पुअनि धर्मेंद्र कुमार अग्रवाल, थाना प्रभारी, हीरोडीह थाना, पुअनि नीरज कुमार, थाना प्रभारी, लोकायनयनपुर थाना, पुअनि नंदु कुमार पाल, थाना प्रभारी, धनवार थाना, पुअनि गणेश कुमार यादव, देवरी थाना, तकनीकी शाखा की टीम, सहायक आरक्षी विनय कुमार एवं सशस्त्र बल के जवान शामिल थे.

किसी भी सूरत में अपराधियों को जिले में पनपने की इजाजत नहीं : एसपी

– गिरिडीह के एसपी श्री शर्मा ने बताया कि गिरिडीह में किसी भी तरह के अपराधियों को पनपने की इजाजत नहीं दी जायेगी. अपराधियों को पुलिस किसी भी हाल में गिरफ्तार कर जेल भेजने का काम करेगी और कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का काम करेगी. कहा कि पवन अपहरणकांड में पुलिस अभी भी जांच कर रही है और यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि इस गिरोह में कोई और सदस्य तो शामिल नहीं है. कहा कि पवन का अपहरण रुपयों के लालच में किया गया था, लेकिन पुलिस ने अपराधियों के मंसूबे पर पानी फेर दिया. उन्होंने कहा कि पूरी टीम ने इस अपहरणकांड की गुत्थी सुलझाने में काफी बेहतर कार्य किया है और इसके लिए पूरी टीम को पुरस्कृत किया जायेगा.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें