25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

जमशेदपुर पूर्वी से विधायक सरयू राय बोले, ढुलू महतो ने पुत्र को बनाया करोड़ों की बेनामी संपत्ति का मालिक, ईडी को सौंपेंगे दस्तावेज

जमशेदपुर पूर्वी से विधायक सरयू राय ने बयान जारी कर कहा है कि धनबाद से बीजेपी के लोकसभा प्रत्याशी ढुलू महतो ने पुत्र को करोड़ों की बेनामी संपत्ति का मालिक बनाया है. वे ईडी को इस बाबत दस्तावेज सौंपेंगे.

जमशेदपुर: विधायक सरयू राय ने धनबाद लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के घोषित उम्मीदवार ढुलू महतो के खिलाफ नया खुलासा करते हुए बताया है कि बाघमारा के विधायक ढुलू महतो ने अपने बेटे के नाम पर काफी संपत्ति खरीदी है. इसकी जानकारी उन्होंने (सरयू राय) भाजपा नेताओं को दी है. उन्होंने कहा कि वे ईडी को भी इससे संबंधित दस्तावेज सौंपेंगे. श्री राय ने एक बयान जारी कर कहा कि ढुलू महतो के पुत्र प्रशांत कुमार द्वारा खरीदी गयी करीब 2.06 करोड़ रुपये की जमीन का ब्योरा उन्होंने 10 अप्रैल को सार्वजनिक किया था. अब नयी जानकारी दे रहे हैं, जिसके तहत प्रशांत कुमार द्वारा इसके अतिरिक्त गोविंदपुर अंचल के तुमादाहा मौजा में खाता संख्या 83, 97 और 110 के करीब 11 प्लॉट खरीदने का प्रमाण सामने आया है, जिसका कुल क्षेत्रफल 01 एकड़ 49 डिसमिल है.

इन भूखंडों की कीमत 50 लाख रुपये से अधिक
सरयू राय ने बताया कि गोविंदपुर अंचल में जमीन खरीदने का सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम दर के अनुसार इन भूखंडों की कीमत 50 लाख रुपये से अधिक आंकी जा रही है. श्री राय ने जमीन खरीद एवं म्यूटेशन तथा अंचल कार्यालय में दायर नामांतरण मुकदमा संख्या 18905/2021-2022 तथा इस जमाबंदी में दिये गये लगान की रसीद भी जारी की है.

बेनामी अचल संपत्तियों और कंपनियों के नाम का विस्तृत ब्योरा
विधायक ने बताया कि उनके पास ढुलू महतो और उनके परिजनों द्वारा खरीदी गयी बड़ी संख्या में बेनामी अचल संपत्तियों और कंपनियों के नाम का विस्तृत ब्योरा भी है. ये कंपनियां दो साल पूर्व दिवालिया होने के कगार पर पहुंच चुकी थीं. इन कंपनियों में विगत 04 वर्षों में अकूत अचल संपत्ति खरीदी गयी है, जिसमें हार्ड कोक उद्योग, फ्लावर मिल आदि के भूखंड, निर्मित ढांचा एवं मशीनरी शामिल है. इनमें से कई भूखंड गोविंदपुर अंचल के तुमादाहा मौजा में ही स्थित है. ये कंपनियां अभी भी ‘रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज’ के दस्तावेज में सक्रिय हैं और जीएसटी एवं आयकर का भुगतान भी कर रही हैं. इन अचल परिसंपत्तियों की कीमत उनके द्वारा कर देने योग्य कुल परिसंपत्तियों के मूल्य की तुलना में काफी अधिक है. ऐसे व्यक्तियों और कंपनियों के बारे में प्राप्त सूचनाओं की मिलान अधिकारिक दस्तावेजों से करने के उपरांत श्री राय ने कहा है कि वे शीघ्र ही इसे भाजपा नेताओं की जानकारी के लिए सार्वजनिक करेंगे. श्री राय ने कहा है कि यह मामला आय से अधिक संपत्ति का ठोस उदाहरण है.

ALSO READ: Jharkhand Politics: ‘मजदूरों का पैसा भी रंगदारी के तौर पर रख लेते हैं’ बोकारो में सरयू राय ने ढुलू महतो पर साधा निशाना

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें