28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

हंसडीहा में एलपीजी की अवैध ढंग से रीफिलिंग बन सकती है बड़े हादसे की वजह

हंसडीहा में खुलेआम ज्वलनशील घरेलू गैस का अवैध कारोबार किया जा रहा है. अवैध तरीके से घरेलू कनेक्शन वाले सिलिंडर से छोटे सिलिंडरों में रीफिलिंग कई लोग कर रहे हैं.

हंसडीहा. हंसडीहा में खुलेआम ज्वलनशील घरेलू गैस का अवैध कारोबार किया जा रहा है. आबादी वाले इलाके में एलपीजी की अवैध रीफिलिंग किसी भी दिन बड़े हादसे का कारण बन सकती है. अवैध तरीके से घरेलू कनेक्शन वाले सिलिंडर से छोटे सिलिंडरों में रीफिलिंग कई लोग कर रहे हैं. वे अवैध तरीके से आवासीय परिसर व दुकानों में काफी संख्या में गैस सिलेंडर जमा रखते हैं. इसके बाद बड़े सिलेंडरों से निकाल कर छोटे सिलेंडरों में भरने और बिक्री करने का काम करते हैं. छोटे गैस सिलिंंडर सुरक्षित नहीं होते, न ही उनका कोई मानक होता है. यही वजह है कि ऐसे छोटे सिलिंडर अगलगी के कारण अक्सर बनते रहते हैं. इस भीषण गर्मी में कभी भी छोटी चूक बहुत बड़ी घटना का कारण बन सकती है. दुमका से हंसडीहा की दूरी भी 45 किमी के करीब है. ऐसे में किसी हादसे की सूचना पर भी दमकल को पहुंचने में घंटे भर का वक्त लगता है. ऐसे में किसी भी अनहोनी की भयावहता का आकलन सहज ही किया जा सकता है. इतना ही नहीं पुलिस प्रशासन की आंखों के सामने ये अवैध कारोबार फल-फूल रहा है. स्थानीय वितरक मनोज गैस एजेंसी के संचालक मनोज कुमार ने बताया कि उन्होंने स्वयं भी एलपीजी गैस के हो रहे अवैध कारोबार को लेकर कई बार मौखिक रूप से कंपनी सेल्स ऑफिसर को जानकारी दी है. इस क्षेत्र में लाइन होटल में बड़े टैंकरों से अवैध बिक्री के लिए भी गैस निकाल कर सिलेंडरों में भर कर बाजार के दुकानदारों तक पहुंचता है. जबकि एजेंसी द्वारा उपभोक्ताओं की मांग के साथ तुरंत गैस सिलेंडर उपलब्ध हो जाता है. कोई भी व्यक्ति तीन चार सिलेंडर से अधिक गैस सिलेंडर नहीं रख सकते हैं. उन्होंने ने कहा गोड्डा रोड में, दुमका रोड में, भागलपुर रोड में व देवघर रोड हंसडीहा में कई दुकानदारों द्वारा एलपीजी रीफिंलिंग का अवैध कारोबार किया जा रहा है.

क्या कहते हैं पदाधिकारी :

अगर घनी आबादी में कोई गैस सिलेंडर का अवैध रूप से कारोबार कर रहा है तो जांच करते हुए कार्रवाई की जाएगी. साथ ही स्थानीय पुलिस को कार्रवाई को लेकर निर्देश दिया जाएगा.

– महेश्वरी प्रसाद यादव, बीडीओB

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें