25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

महायज्ञ से गांव में बह रही राम भक्ति की बयार

कालीन सत्र में रामचरितमानस के जिन प्रसंगों का पाठ होता है, सायंकालीन सत्र में कथा व्यास द्वारा उन्हीं प्रसंगों की विस्तार पूर्वक कथा कही जाती है.मंगलवार को कथा व्यास ने अयोध्या कांड की कथाओं का वर्णन किया

रामगढ़. रामगढ़ तथा सरैयाहाट प्रखंड की सीमा पर अवस्थित दीनानाथ महादेव मंदिर के प्रांगण में चल रहे नवाह्न पारायण महायज्ञ से आसपास के क्षेत्र का माहौल भक्ति में हो गया है. प्रखंड के सरसा तथा सरैयाहाट प्रखंड के ठाडी एवं धाबाटांड के ग्रामीणों द्वारा सामूहिक रूप से नवाह्न पारायण महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है. यज्ञ के आचार्य बम शंकर मिश्र के निर्देशन में मुख्य यजमान द्वारा पूजन तथा रामचरितमानस के व्यास उत्तम कुमार पाण्डेय के निर्देशन में पुरोहितों द्वारा प्रातःकालीन सत्र में रामचरितमानस का पाठ किया जा रहा है. रामचरितमानस का पाठ करने वाले पुरोहितों में पंडित जीतेंद्र झा, एमसी मिश्रा, सुभाष चंद्र झा, सुनील मिश्रा, मिथिलेश मिश्रा, गजेंद्र मिश्रा, भोला झा, सुनील कुमार मिश्रा तथा राघवेंद्र मिश्रा शामिल हैं. जबकि ओमप्रकाश जी महाराज द्वारा सायंकालीन सत्र में राम कथा का वर्णन किया जा रहा है. प्रातः कालीन सत्र में रामचरितमानस के जिन प्रसंगों का पाठ होता है, सायंकालीन सत्र में कथा व्यास द्वारा उन्हीं प्रसंगों की विस्तार पूर्वक कथा कही जाती है. मंगलवार को कथा व्यास ने अयोध्या कांड की कथाओं का वर्णन किया. इस क्रम में भगवान राम का सीता और लक्ष्मण सहित वन गमन,तमसा तीर पर रात्रि विश्राम, श्रिंगवेरपुर में बाल सखा निषाद राज गुह से भेंट, गंगा को पार कर भारद्वाज मुनि के आश्रम में प्रवेश तथा वन में प्रवेश का वर्णन करने के साथ राम, सीता एवं लक्ष्मण को वन में छोड़कर मंत्री सुमंत की अयोध्या वापसी, राम के वियोग में राजा दशरथ की मृत्यु तथा राम को वन से वापस लाने के लिए भरत एवं शत्रुघ्न का अपनी माताओं एवं गुरु वशिष्ठ के साथ वन के लिए प्रस्थान करने की कथाओं का अत्यंत सरस वर्णन किया. आयोजन समिति द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार दीनानाथ महादेव मंदिर के प्रांगण में विगत 15 वर्षों से लगातार नवाह पारायण महायज्ञ का सार्वजनिक आयोजन हो रहा है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें