1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. sit formed in dhanbad court judge uttam anand murder case babulal marandi also demanded investigation srn

Dhanbad Judge Accident: धनबाद जज हत्याकांड मामले में एसआइटी गठित, बाबूलाल मरांडी ने भी की थी जांच की मांग

इस मामले में डीजीपी नीरज सिन्हा के निर्देश पर रांची से फोरेंसिक और सीआइडी टीम को जांच में सहयोग के लिए धनबाद भेजा गया है. तकनीकी साक्ष्य के लिए घटनास्थल और आसपास के सीसीटीवी का फुटेज पुलिस एकत्र कर रही है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
धनबाद जज हत्याकांड मामले में एसआइटी गठित
धनबाद जज हत्याकांड मामले में एसआइटी गठित
Twitter

Jharkhand news , Dhanbad judge murder case: धनबाद जज हत्याकांड उत्तम आनंद की हत्या मामले में पुलिस मुख्यालय के प्रवक्ता एवी होमकर ने कहा कि सिटी एसपी राम कुमार के नेतृत्व में एसआइटी गठित कर दी है. वहीं, पूरी टीम को खुद धनबाद एसएसपी संजीव कुमार लीड कर रहे हैं. जबकि बोकारो रेंज डीआइजी कन्हैया मयूर पटेल धनबाद पहुंच घटना को लेकर चल रही जांच की बारीकी से मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

इस मामले में डीजीपी नीरज सिन्हा के निर्देश पर रांची से फोरेंसिक और सीआइडी टीम को जांच में सहयोग के लिए धनबाद भेजा गया है. तकनीकी साक्ष्य के लिए घटनास्थल और आसपास के सीसीटीवी का फुटेज पुलिस एकत्र कर रही है. इसके अलावा अन्य तकनीकी साक्ष्य भी जुटाये जा रहे हैं. पूरे मामले पर वरीय अधिकारी नजर बनाये हुए हैं.

बाबूलाल ने जांच की मांग की :

भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने उत्तम आनंद मौत मामले की जांच झारखंड उच्च न्यायालय के किसी न्यायाधीश के नेतृत्व में एसआइटी से कराने की मांग की है. वहीं धनबाद के विधायक राज सिन्हा ने मामले की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की है. कहा कि पहली बार धनबाद में किसी न्यायाधीश की हत्या हुई है.

हजारीबाग के शिवपुरी मुहल्ले में पसरा मातम

रांची/हजारीबाग. न्यायाधीश उत्तम आनंद की धनबाद में मौत की खबर जैसे ही हजारीबाग के शिवपुरी मुहल्ला पहुंचा, मातम पसर गया. वे इसी मोहल्ले के निवासी थे. धीरे-धीरे पूरे शहर में यह सूचना फैल गयी. उत्तम आनंद को जाननेवाले लोग एक-एक कर उनके घर पहुंचने लगे. भाई सुमन आनंद ने बताया कि घटना की सूचना अब तक धनबाद न्यायालय से माता-पिता को नहीं मिली है.

बाबूलाल ने जांच की मांग की :

भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने उत्तम आनंद मौत मामले की जांच झारखंड उच्च न्यायालय के किसी न्यायाधीश के नेतृत्व में एसआइटी से कराने की मांग की है. वहीं धनबाद के विधायक राज सिन्हा ने मामले की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की है. कहा कि पहली बार धनबाद में किसी न्यायाधीश की हत्या हुई है.

उत्तम आनंद के परिवार में सभी हैं वकील :

न्यायाधीश उत्तम आनंद के पिता अधिवक्ता सदानंद प्रसाद हजारीबाग शिवपुरी मुहल्ले में रहते हैं. उत्तम आनंद के दो भाई और दो बहन हैं. छोटे भाई भी अधिवक्ता सुमन आनंद हैं. बहन ज्योति आनंद रांची में और एक बहन दीप्ति आनंद हैं. उत्तम के दोनों बहनोई भी अधिवक्ता हैं. उत्तम आनंद की पत्नी कीर्ति सिन्हा पटना की रहनेवाली हैं. उन्होंने भी लॉ की पढ़ाई पूरी की है. उत्तम का पूरा परिवार वकालत के पेशा से जुड़ा हुआ है. उत्तम आनंद की पत्नी कीर्ति आनंद हजारीबाग बार एसोसिएशन की सदस्य भी हैं.

माता सरिता प्रसाद और पिता सदानंद प्रसाद हैं सदमे में :

न्यायाधीश उत्तम आनंद की माता सरिता प्रसाद और पिता सदानंद प्रसाद को जब बेटे की मौत की खबर मिली, तो वह अवाक रह गये. छोटे भाई मां पिता को सांत्वना दे रहे थे. माता-पिता हजारीबाग से धनबाद जाने के लिए बेताब थे.

सीबीआइ जांच कराने की मांग :

उत्तम आनंद के छोटे भाई और पिता ने न्यायालय की निगरानी में सीबीआइ जांच की मांग की है.

बचपन हजारीबाग में बीता :

उत्तम आनंद ने संत जेवियर स्कूल हजारीबाग से 10वीं तक की पढ़ाई की थी. 1987 में 10वीं पास कर 12वीं की पढ़ाई गुरुनानक स्कूल रांची से की थी. दिल्ली विवि किरोड़ीमल कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई पूरी की. 2002 में झारखंड न्यायिक सेवा परीक्षा में पास कर न्यायिक दंडाधिकारी बने. बोकारो, चतरा, जमशेदपुर, गुमला, रांची, डालटनगंज, तेनुघाट के बाद धनबाद कोर्ट में न्यायाधीश के पद पर कार्य किया.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें