1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. cyber criminal created email id in the name of deoghar dc mailed to dso for purchase smj

साइबर क्रिमिनल ने देवघर DC के नाम से बनाया ई-मेल आईडी, DSO को खरीदारी के लिए किया मेल

देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री के नाम से साइबर क्रिमिनल ने फर्जी ई-मेल आईडी बनाकर DSO को खरीदारी के लिए भेजा गया ई-मेल करने का मामला प्रकाश में आया है. मामला सामने आते ही जहां डीसी श्री भजंत्री ने इसे फर्जी मेल बताते हुए सतर्क रहने की अपील की, वहीं पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: साइबर क्रिमिनल ने देवघर डीसी के नाम फर्जी ई-मेल भेजकर DSO से खरीदारी की मांग की.
Jharkhand news: साइबर क्रिमिनल ने देवघर डीसी के नाम फर्जी ई-मेल भेजकर DSO से खरीदारी की मांग की.
प्रभात खबर ग्राफिक्स.

Jharkhand News: साइबर क्रिमिनल्स ने IAS मंजूनाथ भजंत्री के नाम से E-mail ID बनाकर अधिकारियों को मैसेज भेजने का मामला प्रकाश में आया है. यह मामला तब प्रकाश में आया जब किसी ने मंजूनाथ भजंत्री IAS के नाम देवघर डीएसओ को मेल भेजा और अॉमेजन ई-उपहार खरीदने के लिए कहा. ई-मेल में कहा गया कि मैं चाहता हूं कि आप कृपया मेरी ओर से कुछ अमेजन ई-उपहार खरीदें. जिन्हें मुझे कहीं भेजने की आवश्यकता है. लेकिन, मैं बैठक में व्यस्त हूं और मैं उन्हें स्वयं प्राप्त नहीं कर पाया हूं. मुझे बताएं कि क्या आप अभी मेरे लिए ऐसा कर सकते हैं, ताकि मैं और विवरण दे सकूं. इसके एवज में बाद में आपको पैसे पे कर दूंगा. इस मामले में डीएसओ ने जवाब भी दे दिया 'येस सर'.

देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने किया सतर्क

मिली जानकारी के अनुसार, जब इस संदर्भ में डीएसओ की डीसी से बात हुई तब पता चला कि उन्होंने तो कोई ई-मेल डीएसओ को भेजा ही नहीं है. तब डीसी सतर्क हुए और उन्होंने इस तरह के फ्रॉड से लोगों को अवगत कराया. डीसी ने कहा कि डीसी देवघर, डीसी कार्यालय, मंजूनाथ भजंत्री, आइएएस मंजूनाथ भजंत्री जैसे अन्य नाम से किसी भी तरह का कोई मैसेज, ई-मेल, फ्रेंड रिक्वेस्ट आदि आने पर सावधान रहें और तुरंत इसकी सूचना साइबर थाना या निकटतम थाने को दें, ताकि साइबर सेल की ओर से त्वरित कार्रवाई की जा सके.

क्लोन बनाकर लोगों को दूसरों के नाम से फंसाते हैं ठग, रहें सावधान

डीसी ने कहा कि वर्तमान में साइबर अपराधियों ने ठगी का नया तरीका इजाद किया है. हर रोज किसी न किसी का फर्जी ई-मेल, फेसबुक, ट्विटर अकाउंट का क्लोन बनाकर या फेसबुक हैक कर रिश्तेदार और जान-पहचान वालों को मैसेंजर, ई-मेल के जरिए मैसेज भेजकर अपने खाते में ऑनलाइन रुपये मांगते हैं. ऐसे में यदि आपका कोई दोस्त फोन करने की बजाए सोशल मीडिया के माध्यम से रुपये मांगता है, तो समझ लिजिए उसका फर्जी अकाउंट बना लिया गया है. रुपये ट्रांसफर करने से पहले फोन पर उससे बात जरूर कर जांच लें. उन्होंने जिला प्रशासन की ओर से लोगों को जागरूक किया है और सभी को अलर्ट रहने को कहा है.

सोशल नेटवर्किंग साइट का सतर्कता से करें इस्तेमाल

डीसी ने साइबर अपराध के प्रति जिलावासियों को जागरूक और सतर्क रहने को कहा है. उन्होंने कहा कि आज के समय में अधिकांश लोग सोशल मीडिया के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े हैं. सभी किसी न किसी सोशल नेटवर्किंग साइट से हर व्यक्ति जुड़ा है. सोशल मीडिया ने जिस तेजी लोगों के जीवन में अपनी जगह बनायी है, उसके दुष्परिणाम भी सामने आने लगे हैं, लेकिन अब इसका गलत इस्तेमाल होने लगा है. इसलिए सावधानी पूर्वक नेटवर्किंग साइट का इस्तेमाल करें.

पुलिस ने जांच पड़ताल की शुरू

इस मामले में साइबर डीएसपी सुमित प्रसाद ने कहा कि डीसी मंजूनाथ भजंत्री के नाम से फर्जी अकाउंट बनाने की मौखिक शिकायत मिली है. शिकायत पर तकनीकी रूप से पड़ताल शुरू कर दी गयी है. जांच के बाद ही फर्जीवाड़ा करने वालों का पता चल पायेगा.

डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने किया अलर्ट

वहीं, देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि उपायुक्त देवघर, उपायुक्त कार्यालय, मंजूनाथ भजंत्री, आई.ए.एस मंजूनाथ भजंत्री जैसे अन्य नाम से किसी भी तरह का कोई मैसेज, ई-मेल, फ्रेंड रिक्वेस्ट आदि आये, तो सावधान रहें और तुरंत साइबर थाना या निकटतम थाने को सूचना दें.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें