1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. chatra
  5. jharkhand news ntpc power plant construction work closed for second day laborers returning home loss of crores of rupees srn

दूसरे दिन भी बंद रहा एनटीपीसी पावर प्लांट का निर्माण कार्य, घर लौट रहे हैं मजदूर, करोड़ों रुपये का हो रहा नुकसान

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
दूसरे दिन भी बंद रहा एनटीपीसी पावर प्लांट का निर्माण कार्य
दूसरे दिन भी बंद रहा एनटीपीसी पावर प्लांट का निर्माण कार्य
प्रतीकात्मक तस्वीर

रैयतों के विरोध के कारण बुधवार को दूसरे दिन एनटीपीसी परियोजना का कार्य बंद रहा. रैयतों ने प्लांट में अधिकारियों को जाने दिया गया, लेकिन मजदूरों को रोक दिया. मजदूरों के नहीं पहुंचने से प्लांट निर्माण, रिजर्व वायर निर्माण समेत सभी कार्य ठप रहे. रैयतों का कहना है कि जबतक मांग पूरी नहीं होती, आंदोलन जारी रहेगा. रैयत सह अनशनकारी तिलेश्वर साहू ने कहा कि इस बार आश्वासन से नहीं मानेंगे. जब तक 25 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा नहीं होगी, कोई बात नहीं मानी जायेगी.

इधर, सीओ अनूप कच्छप, बीडीओ प्रताप टोप्पो व थाना प्रभारी प्रमोद पांडेय रैयतों से वार्ता करने पहुंचे. पदाधिकारियों ने रैयतों से कहा कि 26 फरवरी को प्रशासन की उपस्थिति में ग्राम विकास सलाहकार समिति व एनटीपीसी प्रबंधन की बैठक करायी जायेगी. तबतक उन्होंने एनटीपीसी में बंद वापस लेने व अनशन समाप्त करने की अपील की, लेकिन रैयत नहीं माने. एनटीपीसी से मुआवजा बढ़ोतरी समेत तीन सूत्री मांगों को लेकर रैयत 45 दिन से धरना तथा ग्यारह रैयत चार दिन से आमरण अनशन कर रहे हैं.

इस अवसर पर मनोज चंद्रा, कृष्णा साहू, धनंजय सोनी, जगेश्वर दास, अरविंद पांडेय, सुभाष दास अर्जुन दास, अशोक महतो, जसमुद्दीन अंसारी, आसमा खातून, उर्मिला देवी, सजदा जुबैदा समेत कई उपस्थित थे.

पावर प्लांट बंद होने से लौट रहे हैं मजदूर :

एनटीपीसी पावर प्लांट निर्माण कार्य बंद होने से मजदूर अपने घर वापस लौट रहे हैं. काम बंद होने के बाद मजदूरों का भुगतान नहीं हो रहा है, ऐसे में यहां कार्यरत पांच हजार मजदूरों के समक्ष संकट उत्पन्न हो गया है. काम बंद होने से यूपी, बिहार, बंगाल, हरियाणा समेत अन्य प्रदेश के तीन हजार से ज्यादा लोग घर लौट चुके हैं.

आंदोलन से कर्मियों में भय : एनटीपीसी प्रबंधन :

एनटीपीसी प्रबंधन ने मंगलवार की शाम प्रेस बयान जारी कर कहा कि मंगलवार को कार्य के लिए पहुंचे कर्मियों को जबरन प्लांट परिसर में प्रवेश करने से रोक दिया गया. कई कर्मियों के साथ हाथापाई व दुर्व्यवहार किया गया, जिसके चलते परियोजना का कार्य पूरी तरह से ठप रहा. काम बाधित होने से एनटीपीसी परियोजना को करोड़ों रुपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है.

आज मुख्य सचिव से मिलेंगे कार्यकारी निदेशक : रैयतों के आंदोलन समेत कई अन्य मुद्दों को लेकर एनटीपीसी कार्यकारी निदेशक गुरुवार को मुख्य सचिव से मिलेंगे. इस दौरान रैयतों के आंदोलन, नईपारम में जमीन की जमाबंदी रद्द किये जाने से उत्पन्न समस्या, जमीन हस्तांतरण समेत कई बिंदुओं पर चर्चा करेंगे. उक्त बैठक में राजस्व निबंधन व भूमि सुधार विभाग सचिव उपस्थित रहेंगे. एनटीपीसी पावर प्लांट निर्माण कार्य बंद होने तथा Breaking News in Hindi से अपडेट के लिए बने रहें हमारे साथ.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें