1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. prabhat khabar impact jharkhand health minister banna gupta took cognizance in just two hours gulab devi of kasamar of bokaro got old age pension grj

प्रभात खबर इंपैक्ट : झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने लिया संज्ञान, महज दो घंटे में बोकारो के कसमार की गुलाब देवी की वृद्धा पेंशन हुई स्वीकृत

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बुजुर्ग गुलाब देवी
बुजुर्ग गुलाब देवी
प्रभात खबर

Jharkhand News, बोकारो न्यूज (दीपक सवाल) : झारखंड के बोकारो जिले के कसमार प्रखंड के मधुकरपुर नीचे टोला निवासी गुलाब देवी (उम्र 80 वर्ष) की वृद्धावस्था पेंशन शुक्रवार को स्वीकृत हो गई. एक जून से यह पेंशन लागू होगी. शुक्रवार को 'प्रभात खबर' में इस संबंध में 'पेंशन के लिए भटक रही मधुकरपुर की गुलाब देवी' शीर्षक से खबर प्रकाशित होने के बाद शासन-प्रशासन हरकत में आया और गुलाब देवी की पेंशन को स्वीकृति दी गई. आपको बता दें कि इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने संज्ञान लिया था. इसके बाद प्रशासन की ओर से वृद्धा पेंशन स्वीकृत की गयी.

जरीडीह बाजार निवासी युवा सामाजसेवी विकास कुमार गुप्ता एवं रोहित कुमार ने 'प्रभात खबर' के कतरन के साथ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को ट्वीट कर वृद्ध महिला के बारे में अवगत कराया था. स्वास्थ्य मंत्री श्री गुप्ता ने बोकारो उपायुक्त को ट्वीट कर महिला की मदद सुनिश्चित करने का निर्देश दिया था. स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश पर डीसी बोकारो ने त्वरित कार्यवाही करते हुए महज 2 घंटे में बुजुर्ग महिला की पेंशन को स्वीकृति प्रदान करते हुए पेंशन चालू करवाया.

बोकारो डीसी के आदेश पर कसमार बीडीओ राजीव कुमार ने मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत गुलाब देवी के अलावा मधुकरपुर गांव की दो अन्य महिलाओं शांति देवी (लोबिन महतो) एवं सारो देवी (विनोदी महतो) की पेंशन भी स्वीकृति दी है. मंत्री श्री गुप्ता की इस संवेदनशील कार्रवाई को लेकर क्षेत्र में चर्चा है और महिला गुलाब देवी ने भी मंत्री को आशीर्वाद दिया है.

15 वर्ष पहले गुलाब देवी के पति जगदीश साव की मृत्यु हुई थी. तीन पुत्रों में से दो पुत्रों की भी मृत्यु हो गई है. एकमात्र जीवित पुत्र अपने बीबी-बच्चों संग बाहर रहता है. उम्र के इस पड़ाव में भी गुलाब की पेंशन चालू नहीं होने से उन्हें कठिनाई उठानी पड़ रही थी. एक साल पहले गुलाब देवी ने पेंशन के लिए ब्लॉक में आवेदन दिया था, बावजूद पेंशन चालू नहीं हुई थी. इधर इस मामले में स्थानीय निवर्तमान पंसस गंगाधर बैठा ने आंदोलन की चेतावनी दी थी. प्रभात खबर में ये खबर छपी थी. इसके बाद पेंशन को स्वीकृति दी गयी.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें