1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. siwan
  5. bihar loco pilot stopped train for the tea in siwan people kept waiting

Bihar News: सिवान में चाय पीने की लिए ड्राइवर ने रोक दी ट्रेन, लोग करते रहे इंतज़ार

ट्रेन नंबर 11123 डाउन झांसी एक्सप्रेस के ड्राइवर ने 91 ए सिसवन ढाला पर चाय पीने के लिए ट्रेन रोक दी. ट्रेन का गार्ड ढाला के पास स्थित दुकान से चाय लेकर आया और फिर इंजन में सवार हुआ.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सिवान के सिसवन ढाला की तस्वीर
सिवान के सिसवन ढाला की तस्वीर
internet

अक्सर चाय के शौकीनों को चाय की तलब लगने पर अजीबोगरीब हरकत करते देखा गया है. ऐसी ही एक तस्वीर सिवान के सिसवन ढाला से आयी है. जिसको लेकर कहा जा रहा है कि चाय पीने के लिए उसने ट्रेन रोक दी और चाय लेने लगा. रेलवे अधिकारी का कहना है कि ट्रेन रुकी थी या नहीं इसकी जांच कराई जाएगी.

लोग इंतजार करते रहे

बताया जा रहा है कि तस्वीर शुक्रवार सुबह की है. ट्रेन नंबर 11123 डाउन झांसी एक्सप्रेस के ड्राइवर ने 91 ए सिसवन ढाला पर चाय पीने के लिए ट्रेन रोक दी. ट्रेन का गार्ड ढाला के पास स्थित दुकान से चाय लेकर आया और फिर इंजन में सवार हुआ. तब ट्रेन आगे बढ़ाई गई. यह देख लोग भी आश्चर्यचकित हो गए. ढाला बंद था और लोग इंतजार करते रहे.

ग्वालियर मेल एक्सप्रेस की है घटना 

झांसी यानी ग्वालियर मेल एक्सप्रेस सुबह 5:27 पर सिवान स्टेशन पहुंची. इसी दौरान ट्रेन का सहायक लोको पायलट चाय के लिए ट्रेन से उतर कर सिसवन ढाला स्थित चाय की दुकान पर आ गया. तब तक ट्रेन खुलने का समय हो गया. सुबह 5:30 बजने पर सिवान स्टेशन से ट्रेन खुल गई. ड्राइवर को यह पहले से पता था कि सहायक लोको पायलट ढाला पर है इसलिए वह धीमी गति में ट्रेन ढाला पर लाया और फिर ट्रेन को रोक दी.

फोटो को अधिकारियों को भेजा गया है

सहायक लोको पायलट दोनों हाथ में चाय का कप लिए हुए ट्रेन की इंजन पर गया पहले ड्राइवर को चाय दी. इसके बाद खुद इंजन में सवार हुआ. मामले में स्टेशन अधीक्षक अनंत कुमार का कहना है कि इस तरह का फोटो संज्ञान में आया है. फोटो को अधिकारियों को भेजा गया है. और इसकी जांच की जा रही है.

एंबुलेंस जाम में फंस गयी

ट्रेन पास कराए जाने के दौरान सिसवन ढाला पर जाम भी लग गया था. दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी लाइन लगी थी. यहां तक कि सिसवन की तरफ से एक मरीज को इलाज कराने के लिए परिजन एंबुलेंस से ला रहे थे, लेकिन ढाला बंद होने की वजह से एंबुलेंस जाम में फंस गयी. अगर, ढाला को जल्दी खोला जाता तो एंबुलेंस निकल जाती और मरीज को जल्द अस्पताल में भर्ती कराया जाता.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें