27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

जल-जीवन-हरियाली के कार्यों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं : डीएम

डीएम रिची पांडेय ने मंगलवार को जल-जीवन-हरियाली अभियान से जुड़े कार्यों की समीक्षा की. इस दौरान कहा कि

सीतामढ़ी. डीएम रिची पांडेय ने मंगलवार को जल-जीवन-हरियाली अभियान से जुड़े कार्यों की समीक्षा की. इस दौरान कहा कि इस अभियान को सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर किया जाना है. डीएम ने सघन पौधारोपण पर विशेष बल दिया. सभी पीओ को अपने-अपने प्रखंडों की जीविका दीदियों के नर्सरी से पौधा प्राप्त करने में प्राथमिकता देने की बात कही. वन विभाग से भी समन्वय स्थापित करेंगे. किये गये कार्यों का इंट्री संबंधित पोर्टल पर कराना को कहा. डीडीसी एवं मनरेगा डीपीओ को जल-जीवन-हरियाली से संबंधित कार्यों का दैनिक प्रतिवेदन उपलब्ध कराने को कहा गया. मिशन मोड में कार्य करें ताकि जिले की रैंकिंग में अपेक्षित सुधार हो सके.

— जल संचयन की कितनी संरचनाएं कारगर

डीएम पांडेय ने डीडीसी को निर्देशित किया कि वर्षा जल संचयन को लेकर जो संरचनाएं बनी है, उसमें से कितनी कार्यरत हैं, की भी रिपोर्ट देना सुनिश्चित करेंगे. बैठक में सार्वजनिक जल संरचनाओं को अतिक्रमण मुक्त करने एवं जल संचयन संरचनाओं का जीणोद्धार, सार्वजनिक कुंआ को चिन्हित कर उनका जीणोद्धार, सार्वजनिक कुओं, चापाकलों पर सोख्ता रिचार्ज, वर्षा जल संचयन संरचनाओं का निर्माण, नए जल स्रोतों का सृजन, भवनों में छत वर्षा जल संचयन, पौधशाला सृजन व सघन वृक्षा रोपण आदि की समीक्षा की गई. डीएम ने डीडीसी को सभी पीओ के कार्यों की भी साप्ताहिक समीक्षा करने को कहा गया. उन्होंने स्पष्ट कहा कि कार्य में लापरवाही व सुस्ती बरतने वालों पर कड़ी अनुशासनिक कार्रवाई की जाएगी. मौके पर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार पांडे, डीपीआरओ कमल सिंह, डीएओ समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे.

बॉक्स में:

डीएम रिची पांडेय के द्वारा अपने कार्यालय कक्ष में सतत जीविकोपार्जन योजना की समीक्षा की. समीक्षा के क्रम में उक्त योजना की अद्यतन स्थिति और उससे लाभांवित लाभुकों के बारे में जानकारी प्राप्त की गई. बैठक में नीरा उत्पादन के टारगेट/बिक्री की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त की गई. डीपीएम, जीविका के द्वारा बताया गया कि जिला में नीरा उत्पादन का लक्ष्य 222000 लीटर है, जिसके विरुद्ध कुल 186000 लीटर के आसपास बिक्री की जा रही है. बताया कि नीरा बिक्री का सात स्थाई केंद्र के साथ 30 अस्थाई केंद्र चल रहे हैं. डीएम ने सतत जीविकोपार्जन योजना का सघन प्रचार-प्रसार सुनिश्चित कराने को कहा.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें