26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

KK Pathak के समर्थन में आये शिक्षा मंत्री सुनील कुमार, होली में छुट्टी रद्द होने पर कही ये बात

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक (KK Pathak) के समर्थन में शिक्षा मंत्री सुनील कुमार ने उतर गए हैं. उन्होंने कहा है कि होली के मौके पर शिक्षकों की छ्ट्टी रद्द करने का फैसला अधिकारों का हनन नहीं है.

शिवहर. होली के दिन शिक्षकों की छुट्टी रद्द होने पर बिहार की सियासत एक बार फिर से गर्म है. सरकार के सहयोगी दल केके पाठक की कार्यशैली पर आपत्ति जता रहे हैं, वहीं जेडीयू कोटे से शिक्षा मंत्री बने पूर्व आईपीएस सुनील कुमार ने शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक (KK Pathak) के समर्थन में उतर गए हैं. उन्होंने कहा है कि सरकार शिक्षकों की रेसिडेंसियल ट्रेनिंग कराती है. पुलिस महकमें में भी ट्रेनिंग जारी थी, बिपार्ड में भी ट्रेनिंग जारी थी और एससीआऱटी की ट्रेनिंग भी जारी थी.

शिक्षकों के अधिकारों का नहीं हुआ हनन

होली के दिन शिक्षकों की छुट्टी रद्द होने पर शिक्षा मंत्री सुनील कुमार ने कहा है कि ये कहना कि शिक्षकों के अधिकारों का हनन किया गया है पूरी तरह से गलत है. बिहार में कुल मिलाकर लगभग 6 लाख शिक्षक हैं और हमलोगों की जो ट्रेनिंग की व्यवस्था है वह 15 हजार के करीब सभी जिलों को मिलाकर के है. उन्होंने कहा कि राज्य में 6 लाख में से मात्र 12-13 हजार शिक्षकों की ट्रेनिंग चल रही थी. अगर 6 लाख टीचर्स की ट्रेनिंग करनी है, तो एक-एक सप्ताह की ट्रेनिंग सभी को करानी होगी. तभी जाकर सभी शिक्षकों की ट्रेनिंग पूरी हो सकेगी.

Also Read: KK Pathak ने बुलाई बैठक, भाग लेंगे सभी कुलपति, राजभवन के हस्तक्षेप से खत्म हुआ गतिरोध

शिक्षा की बेहतरी सबकी जिम्मेदारी

शिक्षा मंत्री ने कहा कि त्योहारों के दिन ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट में ट्रेनिंग नहीं होती है, लेकिन शिक्षकों की ट्रेनिंग के लिए जो समय निर्धारित है, हम लोग भी पुलिस बैकग्राउंड से आते हैं. यह किसी के अधिकारों के हनन की चीज नहीं है. कैसे शिक्षा की गुणवत्ता के बढ़ाया जाए, इसपर सभी को एकमत होकर काम करने की जरुरत है. शिक्षा विभाग सिर्फ शिक्षकों के लिए ही नहीं है, बल्कि छात्र-छात्राओं के लिए भी है. हमें सबको देखना होगा. छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले, इसके लिए शिक्षा विभाग हर संभव प्रयास कर रहा है. किसी के पास कोई विशेषाधिकार नहीं है. सबकुछ कानून और नियम के तहत हो रहा है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें