21.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

बिहटा में रेलवे ट्रैक के बीच लेट गया प्रदर्शनकारी, ऊपर से गुजरी ट्रेन की 10 बोगियां,14 ट्रेनें हुईं प्रभावित

ट्रेन की गति कम नहीं होता देख धरने पर बैठे समर्थक और पुलिस कर्मियों में अफरा-तफरी मच गयी. सभी लोग अपनी जान बचाने के लिए गिरते पड़ते भागने लगे, लेकिन संघर्ष समिति के संयोजक चंदन कुमार वर्मा ट्रैक पर लेट गये और उनके ऊपर से ट्रेन गुजर गयी. हालांकि उनकी जान बच गयी.

पटना-बिहटा. पटना के बिहटा रेलवे स्टेशन ट्रैक पर बुधवार को एक बड़ा हादसा टल गया. गनीमत थी कि प्रदर्शनकारी ट्रैक के बीच में लेट गया वरना जान जा सकती थी. इस दौरान एक प्रदर्शनकारी के ऊपर से नेऊरा की ओर जा रही ट्रेन नंबर 82355 पटना छत्रपति शिवाजी सुविधा स्पेशल के इंजन समेत 10 बोगियां पार हो गयीं. दरअसल बिहटा-औरंगाबाद रेललाइन के बजट में हर साल हो रही उपेक्षा से नाराज लोगों ने बुधवार को पटना डीडीयू रेलखंड को चार घंटे तक ठप कर दिया. इस दौरान पटना डीडीयू रेलखंड की 14 ट्रेनें प्रभावित हुईं. बिहटा औरंगाबाद संघर्ष समिति के बैनर तले आंदोलनकारियों ने बुधवार को दोपहर 12:10 बजे से से शाम 4:47 बजे तक मेन लाइन पर ट्रैक को बाधित रखा.

ऊपर से ट्रेन गुजरती देख उग्र हो गये प्रदर्शनकारी, भगदड़

दरअसल बिहटा रेलवे स्टेशन पर बुधवार को अपनी मांगों को लेकर रेल परियोजना संघर्ष समिति के कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे. कार्यकर्ता स्टेशन के पश्चिम छोर पर बैठकर ट्रैक को बाधित कर दिया था. दोपहर के 1 बजकर 22 मिनट पर पटना-बक्सर पैसेंजर ट्रेन बिहटा स्टेशन पर आकर रुकी. हंगामे के कारण उक्त ट्रेन स्टेशन पर कई घंटे तक खड़ी रही. इसी दौरान करीब एक बज कर 40 मिनट पर सुविधा एक्सप्रेस आ गयी. इस ट्रेन का बिहटा स्टेशन पर स्टाॅपेज नहीं है. ट्रेन को ग्रीन सिग्नल मिल गया. ट्रेन की गति कम नहीं होता देख धरने पर बैठे समर्थक और पुलिस कर्मियों में अफरा-तफरी मच गयी. सभी लोग अपनी जान बचाने के लिए गिरते पड़ते भागने लगे, लेकिन संघर्ष समिति के संयोजक चंदन कुमार वर्मा ट्रैक पर लेट गये और उनके ऊपर से ट्रेन गुजर गयी. हालांकि उनकी जान बच गयी.

Also Read: स्वरोजगार के लिए अब खरीदें बस, बिहार सरकार देगी पांच लाख रुपये का अनुदान, इस तारीख तक करें आवेदन

ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक से रोकी ट्रेन

लोगों के शोर मचाने ने ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगा ट्रेन रोकी, लेकिन तब तक आठ-दस बोगी चंदन के ऊपर से गुजर चुकी थीं. घटना के बाद आक्रोशित लोग ट्रेन चालक को पकड़ने के लिए दौड़ पड़े. चालक ने गेट बंद कर लिया. पुलिस ने मौके पर पहुंच लोगों को शांत कराया और ड्राइवर को सुरक्षित वहां से निकाला. घटना के बाद दानापुर आरपीएफ डीएसपी सैयद नेहाल हसन, इंस्पेक्टर विंकटेश कुमार, दानापुर एसडीओ प्रदीप कुमार, बिहटा थाना प्रभारी केपी सिंह, नेउरा थाना प्रभारी अर्चना कुमारी सहित आसपास कई थानों की पुलिस सहित जीआरपी, आरपीएफ के जवान पहुंचे.

मांग को सरकार के समक्ष पंहुचाने का मिला आश्वासन

मौके पर एडीआरएम व एडीओ ने आंदोलनकारियों को उनकी मांग को सरकार के समक्ष पंहुचाने का आश्वासन देकर शांत कराया. दानापुर रेल मंडल के वरीय मंडल परिचालन पदाधिकारी प्रभास राघव और वरीय मंडल वाणिज्य पदाधिकारी सरस्वती चंद्र ने लोगों को समझाया कि परियोजना से जुड़ा फाइनल लोकेशन सर्वे का काम चल रहा है और जनवरी में यह पूरा हो जायेगा. इसके बाद डीपीआर बनाकर रेलवे को भेजी जायेगी. काफी मशक्कत के बाद रेल पटरियों को खाली कराया गया, जबकि शाम चार बजकर 45 मिनट पर पहली ट्रेन बिहटा से गुजरी.

ये ट्रेनें हुईं प्रभावित

ट्रेन नंबर 15658 ब्रह्मपुत्र मेल नेऊरा में तीन घंटे रुकी रही. ट्रेन 82355 पटना सीएसटी सुविधा एक्सप्रेस तीन घंटे 6 मिनट तक रुकी रही. 03203 पटना-डीडीयू मेमू पैसेंजर बिहटा में तीन घंटे, 15648 दानापुर में ढाई घंटे रुकी रही. 03375 पटना-बक्सर मेमू पैसेंजर दोपहर ढाई बजे से रुकी रही. ट्रेन नंबर 12367 विक्रमशिला एक्सप्रेस भी डेढ़ घंटे तक बाधित हुई. वहीं डाउन लाइन 15657 ब्रह्मपुत्र मेल बिहटा के आसपास के स्टेशन पर एक बज कर 47 मिनट से खड़ी रही. 03436 कुल्हड़िया में दो घंटे, 13250 भभुआ पटना इंटरसिटी आरा में ढाई घंटे, ट्रेन नंबर 05272 मुजफ्फरपुर स्पेशल डेढ़ घंटे तक आरा में, ट्रेन नंबर 03204 डीडीयू पटना मेमू कारीसाथ में ढाई घंटे, 82355 सुविधा स्पेशल तीन घंटे बिहटा में, देहरादून हावडा एक्सप्रेस दरौली में डेढ़ घंटे तक रुकी रहीं. इसके अलावा ट्रेन नंबर 03203 पटना डीडीयू पैसेंजर स्पेशल समेत 14 ट्रेनें पटना से बक्सर के बीच रुकी रहीं.

टीआरपी बनाने के लिए रेलवे ट्रैक पर लेट गया प्रदर्शनकारी

इस प्रदर्शन की रेलवे घोर निंदा करता है. ट्रेन को आता देख वह व्यक्ति अपनी टीआरपी बनाने के लिए रेलवे ट्रैक पर लेट गया. यह कृत्य उसके खुद की व ट्रेन में यात्रा कर रहे हजारों यात्रियों की जान को खतरे में डालने वाला है. प्रदर्शन का यह तरीका बिल्कुल गलत है.

  • वीरेंद्र कुमार, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पूमरे

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें