26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

सीतामढ़ी के रेड लाइट एरिया से पुलिस ने 6 नाबालिगों को कराया मुक्त, सात महिलाओं को गिरफ्तार कर उनका घर किया सील

एसपी मनोज कुमार तिवारी के निर्देश पर हेड क्वार्टर डीएसपी-2 राकेश कुमार रंजन व सदर एसडीओ प्रशांत कुमार के नेतृत्व में मंगलवार की रात पुलिस ने नगर थाना क्षेत्र के रेड लाइट एरिया (बोहा टोला) में छापेमारी कर छह नाबालिग समेत सात अपहृत लड़की का रेस्क्यू किया.

सीतामढ़ी नगर थाना क्षेत्र के रेड लाइट एरिया (बोहा टोला) में मंगलवार की रात पुलिस ने छापेमारी कर छह नाबालिग समेत सात अपहृत लड़की का रेस्क्यू किया. इस दौरान पुलिस ने सीधी कार्रवाई करते हुए देह व्यापार में संलिप्त सात महिला सहित आठ बिचौलियों को गिरफ्तार कर लिया. छापेमारी में पुलिस ने कार्टन में बंद कंडोम व रुपया बरामद किया. छापेमारी की यह कार्रवाई सीतामढ़ी एसपी मनोज कुमार तिवारी के निर्देश पर हेड क्वार्टर डीएसपी-2 राकेश कुमार रंजन व सदर एसडीओ प्रशांत कुमार के नेतृत्व में की गई.

इन लोगों को किया गया गिरफ्तार

छापेमारी में गिरफ्तार बिचौलियों में स्थानीय निवासी मो साहेेब की पत्नी गुड़िया खातून, भोला मियां की पत्नी पायल खातून, राकेश खलीफा की पत्नी पायल, स्व अनवर की पत्नी रेखा खातून, मो ईशाद की पत्नी अनीशा खातून उर्फ बेला खातून, खलीफा मरहून की पत्नी रूबि खातून व साहेब खान की पत्नी रूपा खातून व मो अफताब व ग्राहक के रूप में मुजफ्फरपुुर जिले के कांटी निवासी चंदन कुमार शामिल है.

एसपी को बचपन बचाओ की टीम ने दी सूचना

बताया गया कि बचपन बचाओ आंदोलन सीतामढ़ी के सदस्यों द्वारा एसपी मनोज कुमार तिवारी को सूचना दी गयी कि रेड लाइट बोहा टोला में कई नाबालिग लड़की से जबरन देह व्यापार कराया जा रहा है. इसके बाद सदर एसडीओ व हेड क्वार्टर डीएसपी-2 के नेतृत्व में इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष अरुण कुमार, एसआई रश्मि कुमारी व सेन्टू कुमार के साथ सशस्त्र बल की एक टीम ने रात्रि 10 बजे के करीब रेड लाइट एरिया में जांच के लिए तीन लोगों को ग्राहक बनाकर भेजा.

Also Read: राजद कार्यालय के बाहर भिड़े कानून मंत्री के दो बॉडीगार्ड, लगे धक्का-मुक्की करने, पिस्तौल तक निकाल ली
रेड लाइट एरिया को चारों तरफ से घेर कर ली तलाशी

इसके बाद महिला दरोगा व पुलिस कर्मी ने सादी ड्रेस में अंदर जाकर जांच किया. मामले की पुष्टि होने पर पुलिस ने रेड लाइट एरिया को चारों तरफ से घेर कर तलाशी लेना शुरू कर दिया. तलाशी में पुलिस ने सात महिला व दो पुरुष दलालों को दबोच लिया. वही सात घरों में कैद छह नाबालिग समेत सात लड़की को मुक्त कर अपनी अभिरक्षा में ले लिया.

सातों आरोपित महिला का घर सील

रेड लाइट एरिया से नाबालिग लड़कियों को मुक्त कराने के बाद पुलिस ने सातों आरोपित महिला के घर को सील कर दिया है. पुलिस की यह एक बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है. ताकि देह व्यापार का कारोबार कराने वालों में खौफ का माहौल बने. इधर मुक्त एक नाबालिग लड़की ने पुलिस को बताया कि आंख से न के बराबर दिखायी देता है जिसके कारण शादी तक नहीं हो पा रही है. जिसका फायदा उठाकर एक व्यक्ति बहला फुसलाकर विश्वास में लेकर बोहा टोला में रुपा खातून के पास बेच दिया.

घर से भागकर पहुंची थी पटना 

रेड लाइट एरिया में छापेमारी के बाद पुलिस के द्वारा रेस्क्यू किये गये लड़कियों ने जब महिला पुलिस पदाधिकारी को अपनी बयान दर्ज कराया तो पुलिस वालों का मन भी करूणा से भर गया. नाबालिग एक लड़की ने पुलिस को बताया कि गत 9 जून 23 को नालंदा से छोटी मोटी बात पर घर से भाग कर पटना पहुंची. पटना जंक्शन से बहला फुसलाकर एक महिला व पुरुष सीतामढ़ी लाकर बोहा टोला में अनिशा खातून उर्फ बेला खातून को बेच दिया गया.

परिजन के डांटने पर घर से भागी थी पीड़िता 

पीडित ने पुलिस को बताया कि घर में परिजन के डांटने पर भागकर पटना पहुंची. वहां एक महिला व पुरुष अच्छी अच्छी बातें कहकर अपने साथ सीतामढ़ी लेकर आ गये. बाद में बोहा टोला में छोड़ दिया. यहां देह व्यापार का धंधा करने को कहा गया. मना करने पर मारपीट किया जाता था. छापेमारी में इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष अरुण कुमार, पुनौरा थानाध्यक्ष इंतेयाज खां, मेहसौल ओपी प्रभारी गौरीशंकर बैठा, पुअनि सोनल कुमारी, रश्मि कुमारी, सेन्टू कुमार व सशस्त्र बलों शामिल थे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें