25.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

ट्रक ने बाइक सवार को रौंदा, सड़क जाम

पटना सिटी. आलमगंज थाना क्षेत्र के सुदर्शन पथ में तुलसी मंडी के समीप रिश्तेदार के यहां निमंत्रण में शामिल होकर बाइक से घर लौट रहे 39 वर्षीय युवक सुखदेव कुमार को तेज रफ्तार ट्रक ने कुचल दिया.

पटना सिटी. आलमगंज थाना क्षेत्र के सुदर्शन पथ में तुलसी मंडी के समीप रिश्तेदार के यहां निमंत्रण में शामिल होकर बाइक से घर लौट रहे 39 वर्षीय युवक सुखदेव कुमार को तेज रफ्तार ट्रक ने कुचल दिया. घटनास्थल पर ही सुखदेव की मौत हो गयी. शनिवार की देर रात हुई घटना से नाराज लोगों ने आगजनी करते हुए तुलसी मंडी के समीप सड़क जाम कर दिया. सड़क जाम किये लोगों का पुलिस के प्रति आक्रोश था. नागरिकों का आरोप है कि पुलिस वसूली करके मालवाहक वाहनों को आने की अनुमति देती है. आक्रोशित लोगों ने खड़े ट्रक पर भी रोड़ेबाजी की. नागरिकों के उग्र तेवर को देख मौके पर आलमगंज थाना के साथ खाजेकलां, बहादुरपुर और बाइपास समेत अन्य थानों की पुलिस और एएसपी शरथ आरएस पहुंचे. आक्रोशित लोगों को समझा बुझा कर मामले को शांत कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए नालंदा मेडिकल कॉलेज भेजा. आलमगंज थानाध्यक्ष राजीव कुमार ने बताया कि यातायात पुलिस कार्रवाई कर रही है. सिर पर चढ़ा था चक्का, फूटा गुस्सा घटना के संबंध में परिजनों ने बताया कि मालसलामी थाना के मथनीतल मंगल अखाड़ा मुहल्ले में रहने वाले रंजीत ठाकुर का सुखदेव कुमार गायघाट में रहने वाले रिश्तेदार के यहां निमंत्रण में शामिल होकर घर लौट रहा था. अगमकुआं उपरि सेतु से नीचे सुदर्शन पथ में उतरते ही सामने से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक में टक्कर मार दिया. संतुलन खोने की स्थिति में सुखदेव नीचे गिर पड़ा. जिससे सिर पर ट्रक चक्का चढ़ गया. स्थानीय लोगों ने बताया कि हादसे के बाद घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गयी. हंगामा कर रहे लोग पीड़ित परिवार को मुआवजा देने और सुदर्शन पथ में बड़े वाहनों के परिचालन पर रोक लगाने की मांग कर रहे थे. हादसा व हंगामा की खबर सुन कर मौके पर आलमगंज थाना पुलिस पहुंची, तो लोगों का गुस्सा भड़क गया. पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. हंगामा बढ़ता देख मौके दूसरे थानों की पुलिस, एएसपी शरथ आरएस व मृतक के वार्ड के पार्षद मनोज मेहता पहुंचे. इन लोगों ने समझा बुझा कर मामले को शांत कराया. बेटा का शव देख मर्माहत हुए पितापार्षद मनोज मेहता ने बताया कि कार्यालय में कार्य करने वाले रंजीत ठाकुर का पुत्र सुखदेव का शव देखकर वो मर्माहत हो गये. परिजनों व पार्षद ने बताया कि सुखदेव मजदूरी करने के परिवार का लालन पालन करना था. परिवार किराये के मकान में रहता था. घटना स्थल पर मृतक की पहुंची पत्नी पूनम देवी और बेटी का रो रो कर हाल बेहाल था. दो भाई में सुखदेव बड़ा और छोटा भाई अजीत है. परिवार के लोगों का कहना है कि हादसा में शिकार हुए सुखदेव के आश्रितों को मुआवजा दिया जाये. ताकि बेटी व पत्नी का जीवनयापन हो सके.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें