भाजपा का वार, नीतीश सरकार के दावे की खुली पोल, राज्य में बेखौफ हुए अपराधी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : भाजपा ने मंगलवार को नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य में आज नीतीश सरकार के शासन में लोगों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. विधानसभा में विपक्ष के नेता नंद किशोर यादव ने आरोप लगाया कि राज्य में विधि व्यवस्था लचर हो गयी है. अपराधियों के मन से खौफ समाप्त हो चुका है. पुलिस की गोली से अपराधी नहीं बल्कि अपराधी की गोली से पुलिस इंस्पेक्टर मारा जा रहा है. उन्होंने कहा कि राज्य में कोई व्यक्ति सुरक्षित इसलिए नहीं है कि यहां की विधि-व्यवस्था ठीक है. वह इसलिए बच रहा है कि किसी अपराधी ने उसे मारने का निर्णय नहीं किया है.

लूट की घटनाओं में इजाफा


नंदकिशोर यादव ने आज विधानसभा स्थित अपने कक्ष में कहा कि कुछ जिलों में लूट की घटनाओं में सौ फीसदी वृद्धि हुई है जिसमें शेखपुरा, जहानाबाद, नवादा, नालंदा व कटिहार शामिल हैं. डकैती की घटनाओं में जिन जिलों में सौ फीसदी वृद्धि दर्ज हुई है उसमें समस्तीपुर, लखीसरा, किशनगंज, मुंगेर व मधुबनी शामिल है. रोड डकैती में समस्तीपुर, कैमूर, औरंगाबाद, बांका व अररिया शामिल हैं. सबसे बड़ी बात है कि इस साल रोहतास, भोजपुर, नालंदा, खगड़िया में सामूहिक दुष्कर्म की घटनाएं हुई हैं.

अपहरण की घटनाओं के लिए सीएम जिम्मेदार


अपहरण के मामले में 2005 में जहां 2226 घटनाएं दर्ज की गयी थी वहीं 2013 में 5506, 2014 में 6570 और मई 2015 तक 3058 घटनाएं हुई है. उन्होंने कहा कि इन सभी घटनाओं के लिए अकेले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेवार है. इसी मुद्दे को लेकर भाजपा की ओर से सदन में कार्यस्थगन लाया गया था. कार्यस्थगन को लेकर जवाहर प्रसाद, संजय सिंह टाइगर, सुरेंद्र मेहता व उषा विद्यार्थी ने सूचना दी थी.

प्रदर्शनकारियों के साथदुर्व्यवहार


उन्होंने बताया कि कई कर्मचारी संगठन आंदोलन कर रहे हैं. इसमें सांख्यिकी सहायकों पर लाठी चार्ज किया गया है, वित्त रहित शिक्षकों के साथ दुर्व्यवहार किया गया. डाटा इंट्री ऑपरेटर, रोजगार सेवक, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका, दलपतियों की स्थिति संस्कृत शिक्षक, टीइटी व एसटीटइसई सभी कर्मचारी आंदोलन पर है. सरकार इनके साथ न वार्ता कर रही है और नहीं उनकी समस्याओं का समाधान कर रही है. सदन में गतिरोध है तो कार्यमंत्रणा की बैठक करनी चाहिए जिससे कि कम समय में अधिक परिमाण निकल सके.

राजद के दबाव में काम कर रही है सरकार


उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने राजद के दबाव में अपराधियों पर अंकुश लगाना छोड़ दिया है. बिहार के मुख्यमंत्री की प्राथमिकता अब कानून का राज कायम करना नहीं, बल्कि राजद और कांग्रेस से गठबंधन है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें