बिहार से होकर गुजरती है देश की टॉप 10 लंबी दूरी की ट्रेनों में से चार ट्रेनें, ...जानें तय करती है कितनी दूरी?

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : भारतीय रेल देश की लाइफ लाइन है. ट्रेनों में प्रतिदिन लाखों लोग सफर करते हैं. ट्रेन देश के विभिन्न राज्यों को एक दूसरे से जोड़ने और लोगों को दूसरे राज्यों में आने-जाने का सबसे सुलभ साधन भी है. पूर्व से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण के राज्यों तक फैले रेलवे का नेटवर्क सबसे बड़ा है. देश के पूर्व से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण के राज्यों को जोड़ने के लिए भारतीय रेल लंबी दूरी की ट्रेनों का परिचालन करती है. देश की टॉप टेन ट्रेनों में चार ट्रेनें बिहार से होकर गुजरती हैं. इनमें देश की सबसे लंबी दूरी की ट्रेन विवेक एक्सप्रेस भी शामिल है. इसके अलावा गुवाहाटी एक्सप्रेस, डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस और राप्तीसागर एक्सप्रेस भी बिहार से होकर गुजरती है.

विवेक एक्सप्रेस

विवेक एक्सप्रेस भारत के सबसे लंबे मार्ग की यात्रा करती है. यह ट्रेन डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी तक का सफर तय करती है. डिब्रूगढ़ से यह ट्रेन शनिवार की रात 11.05 पर खुलती है और बुधवार सुबह 9.55 पर कन्याकुमारी पहुंचती है. डिब्रूगढ़ से चल कर गंतव्य स्थान कन्याकुमारी पहुंचने से पहले यह ट्रेन 56 स्टेशनों पर रुकती है. विवेक एक्सप्रेस 4230 किलोमीटर का लंबा सफर पांच दिनों में तय करती है. यह ट्रेन डिब्रूगढ़ से चल कर बिहार के किशनगंज होते हुए करीब नौ राज्यों से होकर कन्याकुमारी पहुंचती है. स्वामी विवेकानंद की 150वीं जयंती पर साल 2013 में इस ट्रेन का परिचालन शुरू किया गया था.

सिलचर त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस

गुवाहाटी एक्सप्रेस असम के सिलचर से चल कर केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम तक जाती है. यह ट्रेन 3936 किमी की दूरी तय करती है. असम के सिलचर से चलने के बाद गंतव्य स्थान तिरुवनंतपुरम जाने के पहले यह ट्रेन 54 स्ट्रशनों पर रुकती है. सिलचर से त्रिवेंद्रम तक जाने के लिए दो ट्रेनें 12508 और 12516 है. ट्रेन नंबर 12508 गुरुवार की रात 20:05 पर खुल कर रविवार की रात 22:40 बजे त्रिवेंद्रम पहुंचती है. यह ट्रेन भी बिहार के किशनगंज से होते हुए गुजरती है.

डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस

डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस असम के न्यू तिनसुकिया स्टेशन से चल कर अपने गंतव्य स्थान बेंगलुरु तक जाती है. न्यू तिनसुकिया से चलने के बाद गंतव्य स्थान बेंगलुरु पहुंचने के लिए सात राज्यों से होकर 3597 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए यह ट्रेन 38 स्टेशनों पर रुकती है. यह ट्रेन शुक्रवार को शाम 17:55 में खुल कर सोमवार को दिन में 11:30 में बेंगलुरु पहुंचती है. यह ट्रेन भी बिहार के किशनगंज से होकर गुजरती है.

राप्तीसागर एक्सप्रेस

राप्तीसागर एक्सप्रेस बिहार के बेगूसराय से चलकर केरल में एर्नाकुलम जंक्शन तक जाती है. यह ट्रेन देश की आठ राज्यों से होकर 3434 किमी की दूरी तय करते हुए अपने गंतव्य स्थल बेंगलुरु पहुंचती है. इस दौरान राप्तीसागर एक्सप्रेस 60 स्टेशनों पर रुकते हुए बेंगलुरु पहुंचती है.

देश की टॉप 10 लंबी दूरी की ट्रेन

विवेक एक्सप्रेस - डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी तक 4230 किमी

गुवाहाटी एक्सप्रेस - सिलचर से तिरुवनंतपुरम 3936 किमी

हिमसागर एक्सप्रेस - जम्मूतवी से कन्याकुमारी तक 3785 किमी

जम्मू एक्सप्रेस - जम्मू तिरुनेलवेली 3785 किमी

नवयुग एक्सप्रेस - मंगलौर से जम्मू 3679 किमी

डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस - न्यू तिनसुकियासे बेंगलुरु 3597 किमी

अमृतसर कोचुवेली एक्सप्रेस - अमृतसर से कोचुवेली तक 3471 किमी

राप्तीसागर एक्सप्रेस - बरौनी से एर्नाकुलम 3434 किमी

देहरादून कोचुवेली सुपरफास्ट एक्सप्रेस - देहरादून से कोचुवेली 3338

केरल संपर्क क्रांति एक्सप्रेस - चंडीगढ़ से कोचुवेली तक 3290 किमी

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें