शीतकालीन सत्र : विपक्ष के हंगामे के बीच जीएसटी संशोधन विधेयक 2019 पास, ...पढ़ें क्या है बिल में?

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन विपक्षी दलों के सदस्यों के भारी हंगामे के बीच उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने माल एवं सेवाकर संशोधन विधेयक पेश किया. डिप्टी सीएम सुशील मोदी के भाषण के बाद जीएसटी संशोधन विधेयक 2019 सदन में बहुमत से पास होने के बाद विपक्ष दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही बुधवार पूर्वाह्न 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गयी.

मालूम हो कि इससे पहले सदन की कार्यवाही के तीसरे दिनविपक्षी दलों के सदस्यों ने सदन के बाहर और अंदर हंगामा किया.भाकपा-माले और आरजेडी के सदस्यों ने एनआरसी का विरोध करते हुए वेल तक पहुंच गये. विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी द्वारा सदस्यों को अपनी सीट पर जाने का आग्रह किये जाने के बावजूद विपक्षी दलों के सदस्य हंगामा करते रहे. इस पर संसदीय कार्यमंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि विपक्षी दलों के सदस्य सदन का समय बर्बाद कर रहे हैं. सदन में आरजेडी नेता भाई वीरेंद्र ने कहा कि एनआरसी पर सरकार अपना स्टैंड क्लियर करे. साथ ही भाई वीरेंद्र ने सदन में जेडीयू को नसीहत देते हुए कहा कि संविधान को बचाना है तो एनडीए से हटे. भारी हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गयी.

वहीं, विधान परिषद में भी तीसरे दिन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी दलों के सदस्य हंगामा करने लगे. आरजेडी और कांग्रेस ने डेंगू और स्मार्ट सिटी के मुद्दे पर बिहार विधान परिषद में कार्य स्थगन प्रस्ताव लाया. आरजेडी नेता रामचंद्र पूर्वे ने पटना में जलजमाव को लेकर सदन में कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया. उन्होंने उपमुख्यमंत्री को निशाने पर लेते हुए कहा कि पटना में भारी जलजमाव के दौरान उन्हें रेस्क्यू करना पड़ा. सरकार को इस पर जवाब देना चाहिए. साथ ही उन्होंने जलजमाव के दिनों में जवाबदेह अफसर के विदेश में घुमने का मामला भी सदन में उठाया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें