गंगा खतरे के निशान से पार, कोसी, गंडक, बागमती और महानंदा में बढ़ रहा जलस्तर, ...जानें कहां कितना बढ़ा जलस्तर?

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : बिहार में गंगा, कोसी और उसकी सहायक नदियों में एक बार फिर बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया है. राजधानी के आसपास सोन और पुनपुन नदी का जलस्तर भी चढ़ने लगा है. गंगा नदी पटना, कटिहार और मुंगेर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. वहीं, कोसी, गंडक, बूढ़ी गंडक, सोन, पुनपुन, घाघरा, बागमती, महानंदा और परमान नदियों का जलस्तर बढ़ रहा है. जलस्तर बढ़ने से निचले इलाकों में पानी फैल गया है. बचाव और राहत कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को तैनात कर दिया गया है. वहीं, जल संसाधन विभाग ने अपने सभी तटबंधों के सुरक्षित होने का दावा किया है.

जल संसाधन विभाग के मुताबिक, आज दिन में दो बजे गंगा नदी के जलस्तर में बक्सर, गांधीघाट, हाथीदह, मुंगेर, भागलपुर एवं कहलगांव में लगातार वृद्धि की प्रवृत्ति दर्ज की गयी है. हालांकि, गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से बक्सर में 33 सेमी गांधीघाट में 81 सेमी तथा हाथीदह में 49 सेमी खतरे के निशान से ऊपर है. संबंधित अभियंता अपने-अपने परिक्षेत्राधीन तटबंधों की सुरक्षा हेतु निगरानी एवं चौकसी बरत रहे हैं.

केंद्रीय जल आयोग की जानकारी के अनुसार, बुधवार को गंगा नदी बक्सर, दीघाघाट, गांधीघाट, हाथीदह और कहलगांव में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. वहीं, मुंगेर, भागलपुर और साहेबगंज में इसमें बढ़ोतरी हो रही है. सोन नद मनेर, गंडक नदी डुमरियाघाट, बूढ़ी गंडक नदी खगड़िया, बागमती नदी रुन्नीसैदपुर, कमला बलान नदी झंझारपुर, कोसी नदी बलतारा और कुरसेला और महानंदा नदी तैयबपुर में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. नेपाल और पड़ोसी राज्यों सहित बिहार में बारिश होने से राज्य की नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी हुई है. इन नदियों के जलस्तर में गुरुवार को भी बढ़ोतरी जारी रहने की संभावना जतायी गयी है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें