27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

नवादा से पार नवादा को जोड़ने वाले पुलों पर लाइट की व्यवस्था नहीं

अंधेरे के कारण अनहोनी की बनी रहती है आशंका

पुलों पर पसरी है गंदगी, आवागमन में हो रही परेशानी फोटो कैप्शन -बिना लाइट के नये पुल पर पसरा कचरा. प्रतिनिधि, नवादा नगर पार नवादा से जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली खुरी नदी पर दो पुल बने हैं. एक पुराना पुल, जो मेन रोड, लाल चौक होते हुए पार नवादा को जोड़ता है. दूसरा नया पुल पुरानी कचहरी रोड, फूल मंडी से होते हुए गया रोड-पार नवादा को जोड़ती है. पुराना पुल अतिव्यस्त है. यह पुल शुरुआत में बनने पर इसके दोनों तरफ लाइटें लगायी गयी थीं. जब यह लाइट खराब हुई, तब से पुल पर अंधेरा रहता है. यही हाल नये पुल का भी है. शाम होते ही दोनों पुलों पर अंधेरा हो छा जाता है. इस कारण दुघर्टनाओं की आशंका बनी रहती है. लाइट नहीं रहने के कारण सबसे ज्यादा परेशानी पैदल आवागमन करने वाले राहगीरों को होती है. क्योंकि, इन पुलों पर वाहनों की तेज लाइट आंखों पर पड़ती है. इससे वाहन अनियंत्रित होने की आशंका बनी रहती है. लाइट की व्यवस्था रहने से खतरे से बचा जा सकता है. ऐसे में स्थानीय लोगों ने पुलों पर स्ट्रीट लाइट लगाने की मांग कई बार प्रशासन से की है. स्थानीय निवासी संतोष कुमार, दवा बिक्रेता संघ के अध्यक्ष व समाज सेवी बीके राय ने बताया कि अगर पुलों पर स्ट्रीट लाइटें होंगी, तो राहगीरों को आवाजाही में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. लाइट की व्यवस्था नहीं रहने से रात में पूरा अंधेरा ही रहता. इससे भी ज्यादा समस्या नये पुल पर है. यह पुल बड़ी दरगाह के पास बना है. उस पुल पर न तो कभी नगर पर्षद द्वारा झाड़ू लगायी जाती है. इस पुल की न ही देखरेख की जाती है और न ही लाइट नहीं लगायी गयी है. शाम होते ही नये पुल से महिलाओं व बुजुर्गों को गुजरना बड़ा मुश्किल है. एक तो अंधेरा ऊपर से सन्नाटा भी. ऐसे में अंधेरा होने के कारण चोरी सहित अन्य अनहोनी का खतरा बना हुआ है. कई बरसों से इन पुलों पर लाइट नहीं लग पायी है. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन को दोनों खुरी नदी के पुलों पर स्ट्रीट लाइट जल्द से जल्द लगवाएं, ताकि शहर सुरक्षित के साथ सुंदर भी दिखे. चेयरमैन पिंकी कुमारी ने कहा कि जल्द ही लाइट लगाने का प्रयास किया जायेगा.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें