25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पोस्ट ऑफिस में कई लोगों से लाखों की ठगी

पोस्टमैन एवं पोस्टमास्टर पर ग्रामीणों ने लगाया आरोप

पोस्टमैन एवं पोस्टमास्टर पर ग्रामीणों ने लगाया आरोप

पुलिस पोस्टमास्टर को ले गयी थाने, लोग ठगा महसूस कर रहे

फोटोकैप्शन- पोस्टमास्टर को पकडे लोग

– पोस्टऑफिस में दस्ताबेज

– दिखाते पासबुक

प्रतिनिधि, मेसकौर

स्थानीय थाना क्षेत्र की मिर्जापुर पंचायत के लोगों की मेहनत की कमाई ठगी कर ली गयी है. यह ठगी मिर्जापुर गांव स्थित पोस्ट ऑफिस में हुई है. लोग जब अपना जमा पैसा पोस्ट ऑफिस में निकालने पहुंचे, तो उन्हें पता चला कि उनके खाते से लाखों रुपये गायब हैं. लोगों ने इस मामले में प्रशासन से मदद की गुहार लगायी है.

मेसकौर प्रखंड के मिर्जापुर पोस्ट ऑफिस में धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. पोस्ट ऑफिस के खाता धारकों से पोस्टमास्टर एवं पोस्टमैन ने लाखों रुपये उड़ा लिये हैं. इसकी जानकारी होने के बाद खाता धारकों के होश उड़ गये हैं. खाता धारक इस मामले में प्रशासन से मदद और दोषियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. मिर्जापुर गांव निवासी सपना कुमारी 37000, इंदु देवी 91000, ज्योति कुमारी 7000, रिया कुमारी 7000, पूजा कुमारी 16000, सुमन कुमारी 16000, राधा कुमारी 15000, रिया कुमारी 14000, शोभा कुमारी 14000, ब्यूटी कुमारी 44000, सीता देवी 10000, गणेश प्रसाद दो लाख, दीपक यादव दो लाख, मिथलेश चौधरी डेढ़ लाख रुपये अपने पोस्ट ऑफिस के अकाउंट में जमा किये थे. लेकिन, जब सोमवार को उन्हें पैसे की आवश्यकता हुई, तो उन्होंने देखा कि उनका पैसा खाता से पोस्ट मास्टर अभिषेक रंजन व पोस्टमैन मिलकर निकाल लिये हैं. खाते में पैसा ही नहीं दिखा रहा है. खाताधारियों का कहना है कि हमलोग एक माह से पैसे निकालने रोज पोस्ट ऑफिस आते थे. हमलोगों को पोस्टमास्टर व पोस्टमैन की ओर से कल आने के लिए कहा जाता था. तब सोमवार को सभी खाताधारियों ने बैठक कर आज ही पोस्ट ऑफिस से अपने-अपने रुपये निकालने के लिए समय तय किये और पोस्टऑफिस से अपना पैसा निकालने गये, तो उन्होंने पाया कि उनके खाते में पैसे नहीं है.

लोग परेशान

ठगी के शिकार लोगों ने बताया कि जब वह पोस्ट ऑफिस में अपना पैसा जमा करने आते थे, तो यहां के पोस्टमास्टर अभिषेक रंजन और पोस्टमैन विजय पासवान के द्वारा पैसा जमा ले लिया जाता था. लेकिन, रिसीविंग नहीं दी जाती थी. खाताधारकों ने बताया कि यह दोनों बताते थे कि अपने खाते का पासबुक एक दो दिन में मिल जायेगा. पासबुक तो मिल जाता था, लेकिन उसमें हस्ताक्षर फर्जी कर लाभुकों को दे दिया जाता था. कहा जाता था कि पोस्ट ऑफिस की नयी योजनाओं का लाभ आपलोग को मिलेगा. लोगों ने इनदोनों के कहने पर हस्ताक्षर भी किया. लोगों को शक है कि उसी हस्ताक्षर का इस्तेमाल कर इनदोनों ने उनके खाते से पैसे की निकासी कर ली है. ऐसे में लाभुक लोग परेशान हैं कि जीवन भर की गाढ़ी कमाई का क्या होगा. क्या पोस्ट ऑफिस की तरफ से कोई कार्रवाई की जायेगी.

थानेदार ने की पहल

जब इस मामले की शिकायत मेसकौर थाने से की गयी, तो थानाध्यक्ष रूपेश कुमार आपने दलबल के साथ पोस्टमास्टर अभिषेक रंजन एवं पोस्टमैन विजय पासवान को थाने उठाकर ले आये और पीड़ित लाभुकों को भी थाने में बुलाया गया. डाक विभाग के इंस्पेक्टर रामाशीष कुमार ने कार्रवाई की बात कही है. उन्होंने ने कहा कि पूरे मामले में संज्ञान लिया गया है. इन दोनों पर कार्रवाई करते हुए सस्पेंड करने के लिए वरीय पदाधिकारी को लिखा जायेगा. डाक विभाग के इंस्पेक्टर के आश्वासन एवं लाभुकों के बातचीत के बाद पोस्ट मास्टर एवं पोस्टमैन को थाने से छोड़ा गया. पीड़ितों ने अपनी परेशानी मेसकौर थानाध्यक्ष रूपेश कुमार से भी साझा की. दइस पर उन्होंने आश्वासन देते हुए कहा है कि पूरे मामले पर डाक विभाग से बात करेंगे और सभी लोगों की गाढ़ी कमाई को वापस दिलाने की कोशिश करेंगे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें