25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

भीषण गर्मी के बीच बीएड नामांकन की प्रवेश परीक्षा में 91 फीसदी अभ्यर्थी शामिल, कई केंद्रों पर अफरातफरी

भीषण गर्मी के बीच बीएड नामांकन की प्रवेश परीक्षा में 91 फीसदी अभ्यर्थी शामिल, कई केंद्रों पर अफरातफरी

– विशेष पर्यवेक्षक के तौर पर राजभवन से भेजे गये थे दिवाकर चटर्जी मुजफ्फरपुर. बिहार राज्य स्तरीय दो वर्षीय बीएड व शिक्षा शास्त्री में प्रवेश के लिए आयोजित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (सीईटी-बीएड-2024) के लिये शहर के केंद्रों पर 25 हजार 91 हजार 6 91अभ्यर्थियों ने आवेदन दिया था, जिसमें 91.10 फीसदी परीक्षार्थी शामिल हुए. नोडल विश्वविद्यालय के रूप में ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय ने इस परीक्षा को संपन्न कराया. कुलपति प्रो. संजय कुमार चौधरी ने कहा कि बिहार में शांतिपूर्ण व कदाचारमुक्त परीक्षा का आयोजन कुलाधिपति महोदय के निर्देश के पालन का परिणाम है. शिक्षा शास्त्री के 386 अभ्यर्थियों के लिए एक परीक्षा केंद्र दरभंगा शहर में बनाया गया था. इनमें से 284 (73.58) अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हुये. कुलसचिव डॉ. अजय कुमार पंडित ने कहा कि सीइटी-बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा का सफल आयोजन पांचवीं बार संपन्न कराकर ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय ने अपनी जिम्मेदारी का सफलतापूर्वक निर्वहन किया है. सीइटी-बीएड की परीक्षा को लेकर राजभवन से आये विशेष पर्यवेक्षक दिवाकर चटर्जी मुजफ्फरपुर पहुंचे थे. वही परीक्षा के बाद शहर में जाम की स्थिति हो गयी. रामेश्वर कालेज में मची अफरातफरी : रामेश्वर कालेज में परीक्षार्थियों को प्रवेश के समय बायोमैट्रिक हाजिरी नहीं ली गयी. जब छात्र-छात्राएं अपने- अपने कक्ष में प्रवेश कर बैठ गए तब अचानक उन्हें वापस बाहर बुलाया गया. पंक्ति में खड़ा कराते हुए बायोमैट्रिक उपस्थिति दर्ज करायी गयी. इस कारण वहां अफरातफरी मच गयी. भीषण गर्मी के कारण पंक्ति में खड़ा होने के कारण अभ्यर्थियों ने इस पर आपत्ति जतायी. कई ने सिर चकराने की भी शिकायत की. मामले को लेकर कालेज के प्राचार्य डा. ब्रह्मचारी व्यासनंदन शास्त्री ने बताया कि एजेंसी के प्रतिनिधि ने कालेज में पहुंचने की जानकारी उन्हें नहीं दी. इस कारण प्रवेश के समय पंक्ति में बायोमैट्रिक हाजिरी नहीं बनाई जा सकी. परीक्षार्थी प्रवेश कर गये थे. बाद में उन्हें बाहर खड़ा कर बायोमैट्रिक हाजिरी ली गयी. प्राचार्य ने बताया कि एजेंसी की लापरवाही थी, उसने संस्थान में पहुंचने की सूचना कालेज को नहीं दी विलंब से पहुंचे परीक्षार्थियाें काे नहीं मिला प्रवेश सुबह 10.30 बजे तक ही परीक्षार्थियाें काे प्रवेश के लिए समय दिया गया था. कई केंद्राें पर इसके बाद पहुंचे परीक्षार्थियाें काे प्रवेश नहीं दिया गया, जिसके कारण कुछ देर तक हंगामा भी हुआ. वहीं एसकेजे लाॅ काॅलेज में अटेंडेंस बनाने के बाद एक छात्रा बाहर निकली, ताे दुबारा उसे प्रवेश नहीं मिला. इसके कारण वह परीक्षा में शामिल नहीं हाे सकी. तनु कुमारी ने बताया कि वह परीक्षा भवन में जा चुकी थी. अटेंडेंस लगाने के बाद एडमिट कार्ड पर हस्ताक्षर भी कर दिए थे. किसी काम से उसे बाहर जाना था, ताे अनुमति लेकर निकली. जब दुबारा अंदर जाने लगी, ताे गेट बंद हाे गया. पंखा नहीं चला, गर्मी में दी परीक्षा विश्वविद्यालय सोशल साइंस ब्लाक में परीक्षा देकर निकली छात्रा ने बताया कि भीषण गर्मी में उसे काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. पंखा की व्यवस्था नहीं होने के कारण गर्मी से बुरा हाल था. इस कारण सवालों का उत्तर लिखने में फोकस नहीं हो पा रहा था.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें