24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

दाे पुजारियाें के प्रवेश प्रतिबंध के विरोध में दिया धरना

दाे पुजारियाें के प्रवेश प्रतिबंध के विरोध में दिया धरना

मुजफ्फरपुर. बाबा गरीबनाथ मंदिर के पुजारी व कर्मचारी न्यास समिति के खिलाफ मंदिर के बाहर बेमियादी धरना पर बैठ गये. उन्होंने समिति के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. समिति के अध्यक्ष व सचिव काे तत्काल प्रभाव से हटाने की मांग करने लगे. मंदिर के सेवईत बैद्यनाथ पाठक उर्फ बैजू बाबा ने कहा कि इतने दिनाें से मंदिर बेहतर चल रहा था. मगर जबसे न्यास समिति के अध्यक्ष आए हैं, तब से व्यवस्था में गड़बड़ी हाे गयी है. मंदिर में दाे पुजारियाें के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया है, जाे सरासर गलत है. मंदिर में पुजारी नहीं आयेंगे ताे काैन आयेगा. धरना का नेतृत्व कर रहे पंडित अभिषेक पाठक ने कहा कि अध्यक्ष के द्वारा पुजारी काे गाली देने के साथ गाेली मारने की धमकी दी गयी. इसी के विराेध में बेमियादी धरना दे रहे हैं. जबतक अध्यक्ष व सचिव नहीं हटते, विराेध जारी रहेगा. धरना में मुख्य रूप से पिंकू पाठक, मनाेज मिश्रा, संताेष पाठक, शिबू पाठक, पंकज झा, पं. नवीन , पं. अरविंद , पं. हरिकांत पांडे, पं. साेनू झा, पं. संजीव झा, पं. विकास झा, पं. विश्वनाथ झा, पं. शशिकांत पांडे, पं. मुकेश पांडे, नाई मुकेश ,किशन, राजा ,राम किशाेर, चंदन, सफाईकर्मी विकाऊ मंडल, श्रवण, विकास, सुबाेध, सुनील फूल-माला विक्रेता विक्की मालाकार, विशाल मालाकार, आकाश भगत, छाेटू भगत व नीरज मालाकार आदि उपस्थित है. दोनों पुजारियों के खिलाफ 107 की कार्रवाई चल रही है: एसडीओ पूर्वी मुजफ्फरपुर. एसडीओ पूर्वी अमित कुमार ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि गरीब स्थान मंदिर के दोनों पुजारियों को दो साल के मंदिर परिसर में प्रवेश निषेध किया गया है. दोनों के खिलाफ धारा 107 की भी कार्रवाई चल रही है. पूर्व में इनके खिलाफ नगर थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है. कई बार समझाने के बाद भी इनलोगों के रवैये में कोई सुधार नहीं हो पाया है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें