21.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

विधानसभा चुनाव पर लालू यादव का बड़ा दावा, बोले- नरेंद्र मोदी का खेला अब खत्म, नीतीश कुमार का नहीं कोई मुकाबला

राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना विधानसभा चुनाव के नतीजे 3 दिसंबर को आएंगे, लेकिन लालू प्रसाद ने दावा किया है कि सभी राज्यों में इंडिया गठबंधन की जीत हो रही है. उन्होंने कहा कि सब जगह का अच्छा रिपोर्ट आ रहा है. हम लोग जीत रहे हैं.

पटना. राजद सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने 5 राज्यों में हो रहे चुनाव पर बड़ा दावा किया है. राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना विधानसभा चुनाव के नतीजे 3 दिसंबर को आएंगे, लेकिन लालू प्रसाद ने दावा किया है कि सभी राज्यों में इंडिया गठबंधन की जीत हो रही है. उन्होंने कहा कि सब जगह का अच्छा रिपोर्ट आ रहा है. हम लोग जीत रहे हैं. लैंड फॉर जॉब्स मामले में दिल्ली की राऊज एवेन्यु कोर्ट में सुनवाई टलने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए राजद सुप्रीमो ने कहा कि अब नरेंद्र मोदी का खेला खत्म है. ई लोग फालतू का बात करता है. नीतीश कुमार का कोई मुकाबला नहीं है.

लैंड फॉर जॉब्स मामले में सुनवाई टली

इससे पूर्व लैंड फॉर जॉब्स मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, पत्नी राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव समेत 17 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय करने पर दिल्ली की राऊज एवेन्यु कोर्ट में सुनवाई टल गयी. अब 20 दिसंबर को इस मामले पर सुनवाई होगी. कागजातों के परीक्षण के लिए आरोपियों की ओर से समय मांगा गया है. कोर्ट ने सभी को 21 दिन का समय दिया है. इससे पहले इस मामले में 2 नवंबर को सुनवाई हुई थी. 2 नवंबर को हुई सुनवाई के दौरान आरोपियों की तरफ से चार्जशीट की स्क्रूटनी करने के लिए अतिरिक्त समय की मांग की गई थी. इसके बाद अगली सुनवाई के लिए 29 नवंबर की तारीख तय की गई थी.

Also Read: बिहार में अब नौकरी के साथ रेगुलर मोड में कर सकते हैं पीजी कोर्स, नामांकन लेने से पहले जान लें सभी डिटेल

तेजस्वी यादव समेत 17 लोगों को आरोपी बनाया गया

दरअसल, रेल में नौकरी के बदले जमीन घोटाला मामले में सीबीआई की तरफ से चार्जशीट दाखिल की गई थी. चार्जशीट में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी और उनके बेटे डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव समेत 17 लोगों को आरोपी बनाया गया है. अब इस मामले में 20 दिसंबर की सुनवाई में कोर्ट क्या निर्णय लेती है इस पर लोगों की नजर टिकी हुई है. 22 सितंबर को कोर्ट ने सीबीआई की नई चार्जशीट को मंजूर करते हुए लालू यादव, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव समेत 13 आरोपियों को 4 अक्टूबर को कोर्ट में पेश होने का समन जारी किया था. सीबाई ने डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को भी इस मामले में आरोपी बनाया है. इससे पहले तेजस्वी का नाम इस केस में नहीं था. हालांकि लालू यादव, राबड़ी देवी, बेटी सांसद मीसा भारती समेत अन्य आरोपियों का नाम पहले की चार्जशीट में शामिल था.

सीबीआई को चार्जशीट से जुड़े तमाम दस्तावेज जमा करने का निर्देश

पहले हुई सुनवाई के दौरान आरोपियों के वकील ने दलील दी कि सीबीआई की तरफ से जो चार्जशीट दाखिल की गई है उससे जुड़े कई दस्तावेज उन्हें नहीं अभी नहीं मिले हैं, जिस पर सीबीआई की स्पेशल जज गीतांजलि गोयल ने सीबीआई को चार्जशीट से जुड़े तमाम दस्तावेज आरोपियों को जल्द से जल्द मुहैया करने का आदेश दिया. इसके साथ ही लैंड फॉर जॉब के आरोपियों के पासपोर्ट भी कोर्ट में जमा करा लिए गए. इससे पहले कोर्ट ने लालू यादव, राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव को इस मामले में राहत दी थी. इसके तहत उन्हें कोर्ट आने की जरूरत नहीं पड़ेगी और लालू परिवार समेत अन्य को 50 हजार के निजी मुचलके पर जमानत दी थी.

यूपीए सरकार के कार्यकाल में हुई थी अनियमितता

लैंड फॉर जॉब मामला उस वक्त का है जब यूपीए सरकार के दूसरे कार्यकाल में लालू यादव रेल मंत्री थे. आरोप लगे है कि उन्होंने जमीन के बदले में फर्जी तरीके से नौकरी दी. इसकी जांच सीबीआई कर रही है. जांच की शुरुआत 18 मई 2022 को हुई थी. जब सीबीआई ने 16 नामजद समेत अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया था. इस मामले में पहली गिरफ्तारी 27 जुलाई 2022 को लालू यादव के करीबी भोला यादव के तौर पर हुई थी. 13 जनवरी 2023 को सीबीआई को केस चलाने की मंजूरी मिली. 7 मार्च 2023 को सीबीआई ने लालू यादव से पूछताछ की थी. 10 मार्च 2023 को लालू-राबड़ी ने कोर्ट में अपना पक्ष रखा था 16 मई 2023 को सीबीआई ने राउज एवेन्यू कोर्ट में चार्जशीट फाइल की थी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें