अशोकधाम से निकलेगी शिव बरात शहर में छह स्थानों पर होगी आरती

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

लखीसराय : महाशिवरात्रि को लेकर जिले भर में विभिन्न जगहों पर शिवमंदिरों में तैयारी जोरों पर है. महाशिवरात्रि का मुख्य आकर्षण जिले के बहुप्रसिद्ध अशोकधाम से निकलने वाली शिव बरात होगी, जो शुक्रवार की संध्या अशोक धाम से निकलकर विद्यापीठ चौक होते हुए बालू राम कैलाश कुमार का प्रतिष्ठान तक पहुंचेगी वहां से पुन: वापस हो अशोक धाम मंदिर पहुंचेगी.

इस दौरान भक्तों के द्वारा आरती किये जाने को लेकर मंदिर प्रशासन द्वारा शहर में छह जगहों पर शिव बरात की आरती किये जाने की व्यवस्था की है. इस संबंध में श्री इंद्रदमनेश्वर महादेव मंदिर अशोक धाम ट्रस्ट के सचिव डॉ श्याम सुंदर प्रसाद सिंह ने बताया कि भगवान भोले बाबा की बरात शोभा यात्रा अपराह्न तीन बजे प्रस्थान करेगी.
विद्यापीठ चौक होते हुए यह बरात बाजार में प्रवेश करेगी, जहां छह स्थानों पर भोले बाबा के आरती के लिए बारात रुकेगी, जिसमें विद्यापीठ चौक पर संध्या साढ़े छह बजे, थाना चौक संध्या सात बजे, छोटी दुर्गा स्थान के समीप संध्या साढ़े सात बजे, पंजाबी मोहल्ला के सामने रोड पर संध्या आठ बजे, बड़ी दुर्गा स्थान संध्या सवा आठ बजे तथा बालू राम कैलाश कुमार का प्रतिष्ठान संध्या साढ़े आठ बजे आरती के कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे.
इस बीच अशोक धाम महादेव मंदिर ट्रस्ट की ओर से सभी शिव भक्तों से आग्रह किया गया है कि जो भी स्थान उन्हें बेहतर लगे वहां पर अपने आरती थाली लेकर भगवान शंकर की बरात शोभायात्रा के आरती कार्यक्रम में भाग ले सकते हैं.
इसके अलावा भी अन्य जगहों पर महाशिवरात्रि पर्व का आयोजन किया जाना है, जिसमें नगर थाना में महाशिवरात्रि के मौके पर शुक्रवार की सुबह दस बजे से रुद्राभिषेक अनुष्ठान किया जायेगा तथा संध्या में भजन संकीर्तन के साथ ही भंडारा का आयोजन किया गया है. शहर के अष्टघट्टी पोखर नया बाजार स्थित श्री हितेश्वर नाथ मंदिर में महाशिवरात्रि का पर्व धूमधाम से मनाने की तैयारी कर ली गयी है, जहां से शुक्रवार की दोपहर तीन बजे बाजारा निकाल नगर भ्रमण किया जायेगा.
नि:शक्तता आयुक्त ने की अशोकधाम में पूजा-अर्चना : तीन दिवसीय दौरे पर लखीसराय में मौजूद नि:शक्तता आयुक्त डॉ शिवाजी कुमार ने गुरुवार को महाशिवरात्रि पर्व के एक दिन पूर्व श्रीइंद्रदमनेश्वर महादेव मंदिर अशोक धाम पहुंचकर शिवलिंग पर जलाभिषेक किया तथा पूजा-अर्चना की.
वहीं पूजा के उपरांत मंदिर के व्यवस्थापक द्वारा उन्हें चादर देकर सम्मानित किया गया. उन्होंने मंदिर परिसर का भ्रमण कर मंदिर के इतिहास के बारे में जानकारी प्राप्त की. विशाल शिवलिंग देखकर वे काफी आश्चर्यचकित हुए और कहा कि गुजरात के बाद यहीं पर इतना बड़ा शिवलिंग देखने को मिला है.
इसके प्रचार प्रसार करने की आवश्यकता है और पर्यटक स्थल घोषित करने की आवश्यकता है, जिससे लोग यहां अधिक से अधिक लोग पहुंच यहां के बारे में जानें. उसके बाद मंदिर व्यवस्थापक द्वारा उन्हें इंद्रदमनेश्वर अशोक धाम का प्रतीक चिह्न और चादर भेट किया गया. मौके पर प्रो मनोरंजन कुमार, पुरोहित चंद्रमौलेश्वर पांडेय सहित अन्य उपस्थित थे.
पूजा-अर्चना के बाद लखीसराय में आयोजित दिव्यांगजनों के चलंत न्यायालय में भाग लिया. बताते चलें कि आयुक्त डॉ शिवाजी तीन दिवसीय दौरे पर प्रखंड वार दिव्यांगजनों के समूह, बीडीओ, जनप्रतिनिधियों एवं पदाधिकारियों के साथ दिव्यांग सशक्तीकरण को लेकर बैठक की.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें