25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

12 करोड़ से चौड़ीकरण हुई सड़क, जल निकासी की व्यवस्था नदारत

कई दिनों से वार्ड के अंदरूनी इलाकों में जमा है पानी, आवागमन प्रभावित

कटिहार. नगर निगम के वार्डों में किये गये विकास पर सवाल उठाये जा रहे हैं. सड़क निर्माण से लेकर नाला निर्माण तक कार्य करने की बात कही जा रही है. दूसरे विभाग द्वारा भी करोड़ों की राशि से सड़क चौड़ीकरण से लेकर निर्माण कार्य किया गया. लेकिन नहीं किया गया तो अब तक मुक्क्मल जलनिकासी की व्यवस्था, जिसके कारण कई दिनों से निगम के रिहायशी वार्ड से लेकर निचले भाग जिसे पहली बार पंचायत से काटकर निगम में शामिल किया गया. मॉनसूनी बारिश के बीच कई दिनों से रिहायशी हो या वार्ड की अंदुरूनी इलाका जलभराव की समस्या बनी हुई है. खासकर आरसीडी द्वारा बाटा चौक से लेकर महमूद चौक तक करीब 2.1 किमी सड़क की चौडीकरण में करीब करीब पूरा किया गया. लेकिन जलनिकासी की व्यवस्था नहीं किये जाने के कारण इस सड़क पर भी कई दिनों से जलजमाव की समस्या बनी हुई है. जिसका नतीजा है कि आम से लेकर खास तक परेशान हैं. निचले इलाके के लोगों को पूर्व की भांति जलजमाव की समस्या को सोच कर ही डर सताने लगी है. वार्ड नम्बर तीस के पार्षद नितेश सिंह निक्कू का कहना है कि आरसीडी की ओर से सड़क चौड़ीकरण कार्य किया जा रहा है. बुडको की ओर से स्टॉर्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम का निर्माण कराया गया. लेकिन दूसरे साइड पूर्व से बनी नाले को नहीं जोड़ने की वजह से नाले का गंदा पानी अब तक सड़क पर जमा है. जिसके कारण व्यापारियों को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है. सड़क पर गंदा पानी से ग्राहक तक अब दुकान में आना मुनासिब नहीं समझ रहे हैं. जबकि कई जगहों पर कटरा में पानी प्रवेश का जा रहा है. अनाथालय रोड के ब्रांच सड़क का बुरा हाल अनाथालय रोड से पूरब की ओर निकली ब्रांच सड़क की हालत भी कम खराब नहीं है. ऐसा मोहल्ले के लोगों का कहना है कि उनलोगों का कहना है कि खासकर बजरंगबली के मंदिर के पीछे से निकली सड़क की स्थिति काफी बुरा है. सड़क पर गढ्ढा व जलजमाव के कारण दिन में किसी तरह लोग आवागमन कर लेते हैं. रात में आवागमन को लेकर सोच कर ही डरने लगते हैं. जबकि यह इलाका रिहायशी है. यहां पर चिकित्सक, प्राेफेसर से लेकर कई विभागों के बड़े-बड़े पदाधिकारियों का आवास है. कहते हैं नगर आयुक्त नाले की सफाई को लेकर पूर्व में ही निर्देश दिया गया था. इसके लिए रोस्टरवाइज कर्मचारियों को भी लगाया गया था. मानसून के 15 दिन पूर्व जलजमाव से निबटने को लेकर कार्य पूरा करने के लिए कहा गया था. कई जगहों पर पूर्व में बने नाले की निकासी नहीं रहने की वजह से जलजमाव की समस्या बरकरार है. हालांकि पूर्व की भांति इस वर्ष जलजमाव अधिक समय तक नहीं लग पा रहे हैं. मिनटों में जलजमाव से मुक्ति मिल जा रही है. कुमार मंगलम, नगर आयुक्त

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें