29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पूर्व IAS अरुण पति त्रिपाठी गोपालगंज से गिरफ्तार, 776 करोड़ के घोटाले से जुड़ा है मामला

छत्तीसगढ़ में हुए 776 करोड़ के शराब घोटाले में पूर्व IAS अरुण पति त्रिपाठी गिरफ्तार कर लिया गया है. बिहार में हुई इनकी गिरफ्तारी के बाद एसीबी उन्हें अपने साथ छत्तीसगढ़ लेकर गयी. गोपालगंज पुलिस ने भोरे थाना क्षेत्र के सिसई से इनकी गिरफ्तारी की है. जनवरी से मोबाइल बंद कर फरार चल रहे थे , 9 माह तक रह चुके हैं जेल

Bihar News : छत्तीसगढ़ में 776 करोड़ रुपये के शराब घोटाले के मामले में गोपालगंज पुलिस ने पूर्व IAS और छत्तीसगढ़ उत्पाद विभाग के पूर्व विशेष सचिव अरुण पति त्रिपाठी को गिरफ्तार कर लिया है. इनकी गिरफ्तारी भोरे थाना क्षेत्र के सिसई गांव से की गयी. पुलिस कप्तान स्वर्ण प्रभात ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है.

अरुण पति त्रिपाठी जनवरी से थे फरार

एसपी ने बताया कि IAS कैडर के पदाधिकारी और छत्तीसगढ़ में अबकारी विभाग के पूर्व विशेष सचिव रहे अरुण प्रति त्रिपाठी पर घोटाले का मामला दर्ज है. छत्तीसगढ़ के भिलाई के रहने वाले प्रकाश पति त्रिपाठी के पुत्र अरुण पति त्रिपाठी 9 माह तक जेल में रहने के बाद बाहर निकले थे और बीते जनवरी माह से ही मोबाइल बंद कर फरार चल रहे थे.

गोपालगंज से हुई गिरफ्तारी

एसपी ने बताया कि छत्तीसगढ़ पुलिस की इनपुट पर गोपालगंज के भोरे थाना क्षेत्र की पुलिस ने सिसई गांव से अरुण पति त्रिपाठी को गिरफ्तार किया और इन्हें छत्तीसगढ़ की एसीबी पुलिस को सौंप दिया है. इन पर इडी का केस है. वहीं, गिरफ्तारी के बाद पूर्व विशेष सचिव अरुण पति त्रिपाठी का वीडियो भी सामने आया है, जिसमें वे छत्तीसगढ़ में नई सरकार गठन होने के बाद साजिश के तहत फंसाने का आरोप लगा रहे हैं.

जानिए पूरा मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार छत्तीसगढ़ में 776 करोड़ रुपये के शराब घोटाले का मामला सामने आया था, जिसमें सरकार ने नए सिरे से जांच के लिए एसीबी और इओडब्ल्यू ने एफआइआर दर्ज की. एफआईआर में गोपालगंज के भोरे थाना क्षेत्र के सिसई निवासी और छत्तीसगढ़ के अबकारी विभाग के पूर्व विशेष सचिव और छत्तीसगढ़ राज्य विपणन निगम लिमिटेड (सीएसएमसीएल) के एमडी अरुण पति त्रिपाठी समेत 70 लोगों को अभियुक्त बनाया था.

इसी मामले में अरुण पति त्रिपाठी फरार चल रहे थे. जिन्हें गोपालगंज पुलिस ने भोरे थाना क्षेत्र के सिसई गांव से गिरफ्तार कर छत्तीसगढ़ की एसीबी पुलिस को सौप दिया है.

9 महीने जेल में रह चुके हैं अरुण पति त्रिपाठी

एसपी ने बताया कि आइएएस कैडर के पदाधिकारी और छत्तीसगढ़ में अबकारी विभाग के पूर्व विशेष सचिव रहे अरुण प्रति त्रिपाठी पर घोटाला का मामला दर्ज है. छत्तीसगढ़ के भिलाई के रहने वाले प्रकाश पति त्रिपाठी के पुत्र अरुण पति त्रिपाठी 9 माह तक जेल में रहने के बाद बाहर निकले थे और बीते जनवरी माह से ही मोबाइल बंद कर फरार चल रहे थे.

Also Read : झारखंड का सलाहकार अरुण पति त्रिपाठी ही निकला छत्तीसगढ़ शराब घोटाले का सरगना, ED की जांच में हुआ खुलासा

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें