कई कर्मियों का कटा मानदेय, बरखास्तगी की दी चेतावनी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बेतिया : जिलाधिकारी लोकेश कुमार सिंह ने जिला में कार्यरत मनरेगा पदाधिकारी कर्मी के अत्यंत खराब परफॉरमेन्स पर सख्त नाराजगी जाहिर किया और बैठक में ही सभी मनरेगा पीओ, जेई, पीटीएक का रैण्डमली एक प्रखंड से दूसरे प्रखंड में स्थानांतरण कर दिया. डीएम के इस सख्त रूख को लेकर मनरेगा कर्मियों में खलबली मच गई.

दरअसल, बुधवार को जिला में चलाये जा रहे महात्मा गाँधी रोजगार गारंटी योजना की प्रगति की समीक्षा के लिए समाहरणालय सभाकक्ष में सभी मनरेगा कर्मियों बैठक बुलाई गई थी. समीक्षा में पाया गया कि मनरेगा मजदूरों के भुगतान में अत्यंत विलंब किया जा रहा है. मजदूरों का मस्टर रॉल अद्यतन नहीं है. पीओ द्वारा योजनाओं का भौतिक सत्यापन नहीं किया जा रहा है.
मजदूरों के बैंक खाते को आधार से सीडिंग नहीं किया गया है. जॉब कार्डधारियों का सत्यापन नहीं किया गया है. मानव दिवस का सृजन अपेक्षाकृत काफी कम पाया गया है. डाटा का एम़आई़एस़ पर ससमय इंट्री नहीं की जा रही है. इसके चलते जिला की राज्य में मनरेगा में रैकिंग काफी नीचे चली गई है. जिलाधिकारी द्वारा इसे अत्यंत गंभीरता से लिया गया और पीओ सहित अन्य सभी मनरेगा कर्मी के कार्यो में शीघ्र अपेक्षित सुधार नहीं दिखने पर उनके खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई की चेतावनी दिया गया है. वहीं कार्य प्रगति संतोषजनक नहीं पाये जाने के चलते बगहा-1 प्रखंड, चनपटिया, लौरिया, मधुबनी,
मैनाटांड़, नौतन, ठकराहा एवं सिकटा प्रखंडों के जेई एवं पीटीएक के मानदेय में 20 से 50 प्रतिशत की कटौती का निर्देश दिया. डीडीसी द्वारा बताया गया कि पीओ के कमी के चलते कई प्रखंडों में बीडीओ को मनरेगा पीओ का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. जिलाधिकारी ने कहा कि चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष, 2017-18 में पश्चिम चम्पारण जिला को पूर्ण खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) बनाया जाना है. जिसमें बीडीओ को महती भूमिका निभानी है. इसलिए जिलाधिकारी द्वारा मनरेगा का अतिरिक्त प्रभार से सभी संबंधित बीडीओ को मुक्त कर दिया और मनरेगा पीओ के रिक्त पद वाले प्रखंडों में बगल के प्रखंड के पीओ को अतिरिक्त प्रभार देने का निदेश दिया गया. मनरेगा योजना के चयन में वृक्षारोपण वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण, आंगनबाड़ी केन्द्र भवन का निर्माण, स्कूल की चहारदीवारी का निर्माण को प्रमुखता देने का निर्देश दिया. जिलाधिकारी ने डीडीसी निदेशक, डीआरडीए को पी़आऱएस़क की बैठक बुलाकर समीक्षा करने का निदेश दिया है. इस बैठक में डी़डी़सी़, श्री राजेश मीणा, निदेशक, डी़आऱडी़ए़, श्री तारिक इकबाल, डी़पी़आऱओ़, श्री सुशील कुमार शर्मा, सभी मनरेगा पी़ओ़ सभी जे़ई़ सभी पी़टी़ए़ आदि सम्मिलित हुए.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें