कोहरे से बस-पिकअप की टक्कर में एक युवक की मौत, छह लोग जख्मी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बक्सर/राजपुर : चौसा-मोहनियां मुख्य मार्ग पर निकृष गांव के समीप बुधवार की सुबह घने कोहरे के चलते बस और पिकअप की सीधी टक्कर हो गयी, जिसमें एक युवक की मौके पर ही मौत हो गयी. वहीं घटना में करीब आधा दर्जन लोग जख्मी हो गये. घटना के बाद पिकअप चालक भागने में सफल रहा.

सभी जख्मियों का इलाज विभिन्न जगहों पर कराया जा रहा है. घटना में तीन मवेशियों की भी मौत हो गयी. घटना की सूचना मिलते ही राजपुर और मुफस्सिल थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुट गयी.
मृतक कैमूर जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के जोरार गांव का रहने वाला जगतनारायण यादव उर्फ दल्लू यादव बताया जाता है. जख्मियों में जोरार गांव के रहने वाले दिनेश यादव, चौसा का रामदुलार राम, राधेश्याम चौबे, सत्येंद्र सिंह समेत कई लोग बताये जाते हैं. बताया जाता है कि बुधवार की सुबह बक्सर की तरफ से बस यात्रियों को लेकर मोहनिया जा रही थी.
वहीं रामगढ़ की तरफ से तीन मवेशियों को पिकअप पर लादकर चौसा बाजार लाया जा रहा था. जैसे ही दोनों वाहन निकृष गांव के समीप पहुंचे. इस दौरान तेज रफ्तार में पिकअप चालक ने एक वाहन को ओवरटेक कर आगे निकलने का प्रयास किया. घने कोहरे होने के कारण पिकअप और बस के बीच भिड़ंत हो गयी. टक्कर इतनी जोरदार थी कि दोनों के परखच्चे उड़ गये. जिसे लेकर अफरातफरी मच गया.
यात्रियों की चीख सुनकर पहुंचे गांव के लोग
बस में पड़े यात्री चीखने चिल्लाने लगे. लोगों की आवाज सुनकर आसपास के ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे. ग्रामीणों ने देखा कि कई लोग बस और पिकअप के समीप तड़प रहे हैं. इसके बाद ग्रामीणों ने सभी लोगों को इलाज के लिए विभिन्न जगहों पर भर्ती कराया.
वहीं एक युवक जगतनारायण यादव की मौके पर ही मौत हो गयी थी. स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना राजपुर थाने की पुलिस को दी. वहीं पिकअप में लदी तीन मवेशियों की मौत हो गयी थी. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची राजपुर पुलिस ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया.
राजपुर थानाध्यक्ष रंजीत कुमार सिन्हा ने बताया कि सभी जख्मियों का इलाज विभिन्न जगहों पर चल रहा है. मामले की जांच की जा रही है. दोनों वाहनों को कब्जे में ले लिया गया है. शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है.
चीख रहे थे लोग, नहीं था कोई सुनने वाला
चौसा-मोहनियां मुख्य मार्ग पर बुधवार की सुबह हुई बस-पिकअप में टक्कर के बाद सड़क पर जख्मी दर्द से चीख रहे थे. लेकिन घने कोहरे के चलते सड़क पर कोई सुनने वाला नहीं था.
कुछ देर बाद ग्रामीणों टक्कर की आवाज सुनकर घटनास्थल पर पहुंचे और सभी जख्मियों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां सभी जख्मियों का इलाज चल रहा है. जख्मियों ने बताया कि घटना के बाद लोग सड़क पर दर्द के मारे चीख रहे थे, लेकिन घने कोहरे के चलते सड़क पर सुनने वाला कोई नहीं था.
कोई अपने बच्चे और कोई अपने परिजनों को सड़क के बीच में लेकर चीख रहा था. जब तक लोग पहुंचते तब तक एक युवक की मौत हो चुकी थी. ग्रामीण अगर नहीं होते तो शायद आज एक भी लोग जिंदा नहीं बचते. उन्होंने बताया कि दर्द के साथ ठंड के वजह से भी यात्री चीख रहे थे. केवल चारों तरफ कोहरा ही कोहरा दिखायी दे रहा था.
उन्होंने बताया कि अगर कोहरा नहीं होता तो शायद मृतक जगतनारायण जिंदा होता. लोगों को कोहरे में खोजने में काफी परेशानी हुई थी. इसके चलते कुछ देर के बाद लोग घटनास्थल पर पहुंचे थे. वहीं पुलिस के पहुंचने के बाद काफी राहत मिली. स्थानीय लोगों ने बताया कि दर्द और ठंड के चलते सभी लोग चीख रहे थे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें