25.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeएजुकेशनBPSC शिक्षक भर्ती परीक्षा के दौरान सभी केंद्रों पर जैमर एक्टिव, जानें क्यों होता है इसका इस्तमाल

BPSC शिक्षक भर्ती परीक्षा के दौरान सभी केंद्रों पर जैमर एक्टिव, जानें क्यों होता है इसका इस्तमाल

BPSC Teacher Exam: बिहार में शिक्षक भर्ती परीक्षा का दूसरा फेज चल रहा है. शुक्रवार को भी परीक्षा का आयोजन हुआ है. इसमें परीक्षार्थियों पर CCTV कैमरों से नजर रखी जा रही है. साथ ही केंद्रों पर जैमर भी लगा हुआ है.

BPSC Teacher Exam: बिहार में बीपीएससी की ओर से शिक्षकों की भर्ती हो रही है. परीक्षा के दूसरे फेज का आयोजन हुआ है. शुक्रवार को दूसरे फेज के दूसरे दिन की परीक्षा हुई. शिक्षक नियुक्ति परीक्षा के लिए प्रशासन की ओर से भी कड़ी तैयारी की गई है. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है. परीक्षा केंद्रों पर शुक्रवार को अभ्यर्थियों की भारी भीड़ देखने को मिली. एग्जाम सेंटर पर अभ्यर्थियों की कड़ी जांच की जा रही है. उनके आधार कार्ड के साथ ही ई- एडमिट कार्ड का मिलान कराया जा रहा है. वहीं, आज तुफान और ट्रेन में देरी होने के कारण परीक्षा के समय में भी बदलाव किया गया था. इसकी जानकारी बीपीएससी के अध्यक्ष ने साझा की थी. अभ्यर्थियों पर CCTV कैमरों से नजर रखी जा रही है. इसके साथ ही परीक्षा सेंसर पर जैमर भी लगाया गया है.

कदाचार मुक्त परीक्षा को लेकर जैमर का प्रयोग

परीक्षार्थियों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर है. इसकी मॉनीटरिंग सीधे मुख्यालय स्थित कंट्रोल रूम से की जा रही है. केंद्रों से लाइव स्ट्रीमिंग हो रही है. शिक्षक नियुक्ति परीक्षा के दौरान सभी केंद्रों पर सुबह से ही जैमर को एक्टिव कर दिया गया. जैमर लगाने को लेकर आयोग की ओर से दिशा- निर्देश जारी किया गया था. इसके बाद जिला प्रशासन की ओर से सभी केंद्रों पर जैमर लगाया गया है. जैमर लगाने का मुख्य मकसद कदाचार मुक्त परीक्षा कराना है. बता दें कि कदाचार मुक्त परीक्षा कराने को लेकर सालों से प्रयास किए जा रहे है. परीक्षार्थियों के साथ- साथ अभिभावक भी इसको लेकर जेल तक जा चुके है. प्रशासन की ओर से युद्ध स्तर पर तैयारी की जाती है. परीक्षा का आयोजन ऐसे होने से अभ्यर्थियों का भविष्य अच्छा होता है.

Also Read: BPSC ने शिक्षक अभ्यर्थियों को दी राहत, चक्रवात तूफान मिचौंग व ट्रेन लेट होने के कारण परीक्षा के समय में बदलाव
परीक्षा में नकल को रोकने के लिए हुई तैयारी

वहीं, जैमर के उपयोग के बारे में बता दें कि यह मोबाइल फोन के नेटवर्क को जाम कर देता है. इस कारण मोबाइल का सिग्नल नहीं पकड़ पाता है. परीक्षा में नकल को रोकने के लिए जैमर का प्रयोग किया जा रहा है. कोई किसी को फोन नहीं कर सके, इस कारण जैमर का उपयोग होता है. वहीं, जैमर का उपयोग होने के दौरान आसपास के लोग भी अपने फोन का उपयोग नहीं कर सकते है. लोगों का इंटनेट काम नहीं करता है. बीपीएससी ने परीक्षा में नकल रोकने के लिए कई कदम उठाएं है. केंद्रों पर पुलिस के साथ ही मजिस्ट्रेट की भी तैनाती की गई है. कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए अधिकारियों की टीम लगातार केंद्रों पर पहुंच रही है. परीक्षा केंद्रों के आसपास धारा 144 को भी लागू किया गया है. भीड़ जमा करने से लोगों को रोका गया है.

Also Read: बिहार में जनवरी में होगी फौकानिया की परीक्षा, जानिए क्या होती है इसकी तालीम, इन दिग्गजों ने यहां की थी पढ़ाई

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें