30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

‘माई-द प्राइड ऑफ भोजपुरी’ के लिए निशांत को मिला सर्वश्रेष्ठ फिल्म निर्माता का अवार्ड…

Bhojpuri Movies: भोजपुरी इंडस्ट्री के जाने माने फ़िल्म निर्माता और वितरक निशांत उज्ज्वल को उनकी चर्चित भोजपुरी फिल्म ‘माई – द प्राइड ऑफ भोजपुरी’ के लिए सर्वश्रेष्ठ भोजपुरी फिल्म निर्माता का अवार्ड दादा साहब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवार्ड दिया गया है.

Bhojpuri Movies: भोजपुरी इंडस्ट्री के जाने माने फ़िल्म निर्माता और वितरक निशांत उज्ज्वल को उनकी चर्चित भोजपुरी फिल्म ‘माई – द प्राइड ऑफ भोजपुरी’ के लिए सर्वश्रेष्ठ भोजपुरी फिल्म निर्माता का अवार्ड दादा साहब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवार्ड दिया गया है. यह अवार्ड मुंबई के जुहू स्थित एक ऑडिटोरियम में आयोजित भव्य समारोह के दौरान कश्मीर फाइल व मैरी कॉम फेम दर्शन कुमार और इंडियन पिक्चर्स प्रोड्यूसर एसोसिएशन के अध्यक्ष अभय सिन्हा द्वारा उनको दिया गया है.

इस अवार्ड को पाकर निशांत उज्जवल खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस अवार्ड के लिए मैं दादा साहब फाल्के फिल्म फाउंडेशन का शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने मुझे इसके काबिल समझा है. इस अवार्ड ने मेरी जिम्मेदारी और बढ़ा दी है. मैं और बेहतरीन करने का प्रयास करूंगा.

रजनीश मिश्रा को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का अवार्ड

वहीं, इस अवार्ड समारोह में निशांत उज्जवल की फिल्म ‘माई – द प्राइड ऑफ भोजपुरी’ के लिए मशहूर निर्देशक रजनीश मिश्रा को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का अवार्ड दिया गया है. बेवफा सनम के लिए स्मृति सिन्हा को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री और पवन सिंह को इसी फिल्म के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड दिया गया है.

इसके अलावा, हिंदी फ़िल्म की बात करें तो गदर 2 के लिए अनिल शर्मा को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के अवार्ड से नवाजा गया. विलेन की बात करें तो मनीष बाधवा को, न्यू फेस के लिए सिमरत कौर को, टेलिविजन के लिए करण मेहरा, चाहत पांडेय, रोनित राय के अलावा दीपक तिजोरी, पूनम ढिल्लन, राजपाल यादव, प्रतीक गांधी, उदित नारायण, अली गोनी को भी इस अवार्ड से नवाजा गया.

बता दें कि निशांत उज्ज्वल अपने फिल्मी करियर के दौरान कई उत्कृष्ट फिल्मों का निर्माण किया है, जिनमें से कई फिल्मों ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा पाई है. निशांत उज्ज्वल को यह पुरस्कार मिलने से उनके प्रशंसकों और फिल्म इंडस्ट्री में खुशी की लहर है. यह पुरस्कार न केवल उनके करियर की एक बड़ी उपलब्धि है, बल्कि भोजपुरी सिनेमा के विकास में उनके योगदान को भी दर्शाता है.

मोतिहारी के रहने वाले हैं निशांत

बता दें कि निशांत उज्जवल बिहार के मोतिहारी जिला अंतर्गत बलुआ चौक के रहने वाले हैं. निशांत उज्जवल के पिता विजय कुमार सिन्हा भी फिल्म निर्माता थे. निशांत ने अपने करियर की शुरुआत जनसंपर्क से की थी. इसके बाद वे फिल्म वितरण के क्षेत्र में आए और अब वह एक बेहतरीन फिल्म निर्माता के रूप में भी अपनी पहचान बना चुके हैं. माई द प्राइड का भोजपुरी के अलावा उन्होंने फिल्म दाग एगो लांछन, मेहंदी लगा के रखना 3, विवाह 2, विवाह 3, मुझे कुछ कहना है जैसी सफल और ब्लॉकबस्टर फिल्म में बना चुके हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें