सेरेना की फिटनेस और ओसाका के खराब फार्म के कारण हालेप खिताब की दावेदार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पेरिस : चोट से परेशान दिग्गज टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स को 20 साल में पहली बार फ्रेंच ओपन खिताब के प्रबल दावेदार के तौर पर नहीं देखा जा रहा है जबकि रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज जापान की नाओमी ओसाका को शीर्ष पर रहने के लिए लय में आना होगा.

इन दोनों खिलाड़ियों के लय में नहीं होने से मौजूदा चैम्पियन सिमोना हालेप को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. रोमानिया की यह खिलाड़ी क्ले कोर्ट पर दमदार खेल के लिए जानी जाती हैं. उन्हें इस टूर्नामेंट में तीसरी वरीयता दी गयी है.

सैंतीस साल की सेरेना को रिकार्ड 24वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने का इंतजार है. वह 2017 में ऑस्ट्रेलियाई ओपन के रूप में अपना 23वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के बाद गर्भवती होने के कारण कोर्ट से दूर हो गयी थीं. मां बनने के बाद वापसी करने वाली सेरेना दो बार खिताब के करीब पहुंच कर जीत दर्ज करने में नाकाम रहीं.

विम्बलडन के फाइनल में एंजेलिक कार्बेर और अमेरिकी ओपन में ओसाका से हारकर वह मार्गेट कोर्ट के 24 ग्रैंडस्लैम खिताब की बराबरी नहीं कर सकीं. वह इस साल ऑस्ट्रेलियाई ओपन के क्वार्टर फाइनल में हारकर बाहर होने के बाद चोट के कारण अब तक सिर्फ चार मैच खेल पायी हैं.

उन्होंने उम्मीद जतायी कि कड़ी मेहनत से इस टूर्नामेंट के लिए लय हासिल कर लेंगी. फ्रेंच ओपन खिताब को तीन बार जीतने वाली इस खिलाड़ी ने कहा, मैं वास्तव में बहुत ज्यादा प्रशिक्षण या अभ्यास करने में सक्षम नहीं रही हूं. मैंने जितना सोचा था उससे अधिक समय के लिए खेल से दूर रहना पड़ा.

लेकिन मैंने फिट रहने के लिए सब कुछ किया. मुझे मिट्टी (क्ले कोर्ट) पर खेलना पसंद है और मैं इसका हिस्सा बनना चाहती थी. वह रूस की विश्व रैंकिंग में 82वें स्थान पर काबिज विटालिया डायचेंको के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगी. क्वार्टर फाइनल में उनका सामना ओसाका से हो सकता है.

कोच साशा बाजिन से अलग होने के बाद नाओमी ओसाका के प्रदर्शन में गिरावट आयी है. 21 साल की यह खिलाड़ी हालांकि मैड्रिड ओपन के अंतिम आठ और स्टुटगार्ट ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रही. ओसाका का मानना है कि वह सभी तरह के कोर्ट पर दबदबा बनाने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, मैं रोलां गैरो में जीतने का सपना देख रहीं हूं.

अगर आप यदि दीर्घ अवधि के लक्ष्यों के बारे में बात कर रहे हैं, तो निश्चित रूप से मैंने अभी तक विम्बलडन नहीं जीता है और एक साल में सब कुछ जीतना वास्तव में अच्छा होगा. सेरेना और ओसाका जैसी बड़ी खिलाड़ियों की मौजूदगी के बाद भी हालेप को टूर्नामेंट का सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा है.

सट्टेबाजों ने भी तीन बार फाइनल में पहुंचने वाली इस खिलाड़ी पर दांव लगाया है. उन्हें अपने पहले मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया की अजला तोमल्जानोविच की चुनौती से पार पाना होगा. अजला 2014 में इस टूर्नामेंट के अंतिम 16 में पहुंची थीं.

हालेप ने कहा, मेरे लिये यह काफी बेहतर और आसान है क्योंकि मेरे पास पहले से एक खिताब है. इन खिलाड़ियों के अलावा दूसरी वरीयता प्राप्त कैरोलिना प्लिस्कोवा और फार्म में चल रहीं पेत्रा क्वितोवा के प्रदर्शन पर सभी की नजरें होंगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें