1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. india vs england test series no player icc will decide whether motera pitch was right for the game or not england captain joe root said this aml

IND vs ENG: खिलाड़ी नहीं आईसीसी तय करेगी कि मोटेरा की पिच खेल के लिए सही थी या नहीं, जो रूट ने कहा

By Agency
Updated Date
कप्तान जो रूट का मानना है आईसीसी तय करे कि मोटेरा का पिच खेल के लायक था या नहीं.
कप्तान जो रूट का मानना है आईसीसी तय करे कि मोटेरा का पिच खेल के लायक था या नहीं.
twitter

IND vs ENG Test Series अहमदाबाद : इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने गुरुवार को कहा कि मोटेरा की पिच टेस्ट क्रिकेट के लिए उपयुक्त थी या नहीं यह फैसला करना खिलाड़ियों का नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) का काम है. इंग्लैंड दोनों पारियों में 112 और 81 रन आउट हो गया और भारत ने 10 विकेट से मैच जीता लेकिन रूट ने पिच को इसके लिए दोष देना उचित नहीं समझा.

उन्होंने हालांकि कहा कि आईसीसी को टेस्ट क्रिकेट के लिए अनुकूल पिच को लेकर विचार करना चाहिए. रूट ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह पिच काफी चुनौतीपूर्ण था. यह बल्लेबाजी के लिए बेहद मुश्किल थी. इसका फैसला खिलाड़ी नहीं करेंगे कि यह खेल के लिए उपयुक्त थी या नहीं. यह आईसीसी का काम है.'

उन्होंने कहा, ‘एक खिलाड़ी के रूप में हमें जैसी भी परिस्थितियां हों उनमें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होता है.' रूट ने कहा कि उनकी टीम पहली पारी में बड़ा स्कोर बनाने का मौका गंवा बैठी जो कि संभव लग रहा था. उन्होंने कहा, ‘हम निराश हैं. मुझे लगता है कि हमने मौके गंवाये विशेषकर पहली पारी में. हमारा स्कोर एक समय दो विकेट पर 71 रन था और हमारे पास बड़ा स्कोर करने का वास्तव में अच्छा मौका था.'

भारत के हरभजन सिंह और वीवीएस लक्ष्मण सहित कई पूर्व खिलाड़ियों कहा कि मोटेरा की टर्निंग पिच टेस्ट क्रिकेट के लिए आदर्श नहीं है लेकिन दिग्गज सुनील गावस्कर की राय इसके विपरीत है. भारत ने तीसरे टेस्ट मैच में दूसरे दिन ही 10 विकेट से जीत दर्ज करके चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 से बढ़त बनायी. गावस्कर ने कहा कि बल्लेबाजों ने बेहद रक्षात्मक रवैये के कारण अपने विकेट गंवाये और उनमें से अधिकतर सीधी गेंदों पर आउट हुए.

पूर्व बल्लेबाज लक्ष्मण ने कहा, ‘यह टेस्ट मैच के लिए आदर्श पिच नहीं थी. यहां तक कि भारतीय बल्लेबाज भी नहीं चले.' भारत की तरफ से 400 विकेट लेने वाले गेंदबाजों में शामिल हरभजन का भी ऐसा मानना था. इस 40 वर्षीय ऑफ स्पिनर ने कहा, ‘यह आदर्श पिच नहीं थी. अगर इंग्लैंड अपनी पहली पारी में 200 रन बना लेता तो भारत भी संकट में होता. लेकिन दोनों टीमों के लिए पिचें समान हैं.'

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान ने भी पिच पर नाखुशी जतायी. उन्होंने मजाकिया अंदाज में ट्वीट किया, ‘अगर इस तरह की पिचें तैयार की जाती है तो मेरे पास जवाब है कि यह कैसे काम कर सकता है. टीमों को तीन पारियां खेलने के लिए दो.' युवराज सिंह ने भी पिच की आलोचना की लेकिन उन्होंने भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन की प्रशंसा भी की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैच दो दिन में समाप्त हो गया, पक्के तौर पर नहीं कह सकता कि यह टेस्ट क्रिकेट के लिये अच्छा है.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें