Women''s T20 World Cup 2020: आज भारत-ऑस्ट्रेलिया में पहली भिड़ंत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सिडनी : पहली आइसीसी ट्रॉफी जीतने के सपने संजोने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम टी-20 विश्व कप के शुरुआती मैच में शुक्रवार को ऑस्ट्रेलियाई चुनौती का सामना करेगी. लंबे समय से लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाना भारत की कमजोरी रही है. ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज में टीम फाइनल तक पहुंची थी. भारत ने इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच गंवाया और एक जीता और फाइनल में मेजबान से हार गयी.
ऑस्ट्रेलिया ने अब तक छह बार हुए टी-20 विश्व कप में चार बार जीत दर्ज की है. भारतीय मध्यक्रम और निचले क्रम को बेहतर प्रदर्शन करना होगा, ताकि नॉकआउट में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को हराया जा सके.
टीम प्रबंधन को सुनिश्चित करना होगा कि मध्यक्रम बार बार विफल साबित नहीं होने पाये. 16 बरस की शेफाली वर्मा से भारत को अच्छी शुरुआत की उम्मीद होगी. वहीं लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रही कप्तान हरमनप्रीत कौर से भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी. त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल में पदार्पण करने वाली 16 वर्ष की रिचा घोष को लगातार मौका मिलता है या नहीं, यह देखना होगा.
गेंदबाजी में भारतीय टीम स्पिनरों पर काफी निर्भर है और उसके पास बहुत अच्छे तेज गेंदबाज भी नहीं है. आम तौर पर अंतिम एकादश में अकेली स्पिनर रहने वाली शिखा पांडे पर शुरुआती सफलता दिलाने की जिम्मेदारी रहेगी. पांडे ने कहा कि नयी गेंद संभालने के कारण निश्चित तौर पर मैं शुरुआती कामयाबी के बारे में सोच रही हूं. हम पहले छह ओवर में विकेट लेना चाहेंगे, क्योंकि बल्लेबाज उसी दौरान दबाव बनाने की कोशिश करते हैं. भारतीय टीम से पिछली बार की तरह सेमीफाइनल में पहुंचने की, तो उम्मीद है ही लेकिन अगर उससे आगे कुछ होता है तो भारत में महिला क्रिकेट के नये युग का सूत्रपात होगा.
लीग राउंड में भारतीय टीम खेलेगी चार मैच
मैच ग्राउंड तारीख समय
भारत vs ऑस्ट्रेलिया सिडनी 21 फरवरी दोपहर 1.30 बजे
भारत vs बांग्लादेश पर्थ 24 फरवरी शाम 4.30 बजे
भारत vs न्यूजीलैंड मेलबर्न 27 फरवरी सुबह 8.30 बजे
भारत vs श्रीलंका मेलबर्न 29 फरवरी दोपहर 1.30 बजे
भारतीय टीम : हरमनप्रीत कौर (कप्तान), तानिया, हरलीन दयोल, राजेश्वरी गायकवाड़, रिचा घोष, वेदा कृष्णामूर्ति, स्मृति मंधाना, शिखा पांडे, अरूंधति रेड्डी, जेमिमा रौद्रिगेज, दीप्ति शर्मा, पूजा वस्त्रकार, शेफाली वर्मा, पूनम, राधा यादव.
2009 में पहली बार खेले गया था, सबसे अधिक ऑस्ट्रेलिया ने जीते हैं खिताब
2009 में शुरू हुए इस टूर्नामेंट का यह सातवां संस्करण होगा. इस टूर्नामेंट में इस बार कुल 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं. सबसे ज्यादा बार ऑस्ट्रेलिया ने खिताब जीता है, हालांकि भारत एक बार भी फाइनल में नहीं पहुंचा है.
2010, 2012 और 2014 में लगातार तीन बार कंगारू टीम ने खिताब पर अपना कब्जा जमाया था. वेस्टइंडीज में हुए 2018 वुमेंस टी-20 विश्व कप को भी ऑस्ट्रेलिया ने ही जीता था. चार में से तीन बार ऑस्ट्रेलिया ने फाइनल में इंग्लैंड को हराया है.
टी-20 विश्व का पहला संस्करण इंग्लैंड ने, तो वहीं 2016 में वेस्टइंडीज ने जीता था.
सूजी बेट्स ने बनाये हैं सबसे ज्यादा रन. बेट्स ने 28 मैचों में 34 की औसत के साथ 881 रन बनाये हैं. इस दौरान उन्होंने छह अर्धशतक लगाये हैं.
एलिस पेरी ने लिये हैं सबसे ज्यादा विकेट. पेरी ने 32 मैचों में 16.47 की औसत के साथ 36 विकेट लिये हैं. पेरी ने सबसे ज्यादा 32 मैच खेले हैं.
साराह टेलर और सूजी बेट्स ने संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा 6-6 अर्धशतक लगाये हैं.
मेग लेनिंग ने टूर्नामेंट की सर्वोच्च पारी (126 रन) खेली हैं.
वेस्टइंडीज की डियांड्रा डोटिन ने एक पारी में सबसे अधिक नौ और टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 22 छक्के लगाये हैं.विकेटकीपर साराह टेलर और रेचल प्रीस्ट ने सबसे ज्यादा 20-20 शिकार किये हैं.
इस बार ऑस्ट्रेलिया प्रबल दावेदार, लेकिन भारत भी कमजोर नहीं : मिताली
नयी दिल्ली. अनुभवी मिताली राज ने शुक्रवार को भारत के खिलाफ होने वाले आइसीसी महिला टी-20 विश्व कप के शुरुआती मैच में ऑस्ट्रेलिया को जीत का प्रबल दावेदार बताया, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि इस मुकाबले में काफी रन बनेंगे और यह बेहद करीबी मैच होगा. मिताली ने आइसीसी के लिए कॉलम में लिखा कि ऑस्ट्रेलिया प्रबल दावेदार के रूप में उतरेगा, लेकिन भारत भी कमजोर नहीं है. उनके पास कुछ बेहद प्रतिभावान खिलाड़ी हैं और मुझे लगता है कि यह काफी करीबी मुकाबला होगा और इसमें काफी रन बनेंगे. उन्होंने कहा : दोनों टीमों के पास कुछ शानदार खिलाड़ी हैं
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें