Advertisement

ranchi

  • Jan 12 2019 12:24AM
Advertisement

रांची : बड़ा तालाब में स्थापित हुई स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा, मुख्यमंत्री रघुवर दास आज करेंगे अनावरण

रांची : बड़ा तालाब में स्थापित हुई स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा, मुख्यमंत्री रघुवर दास आज करेंगे अनावरण
रांची :  राजधानी के बड़ा तालाब (रांची झील) में स्थापित की गयी स्वामी विवेकानंद की 33 फीट ऊंची कांस्य प्रतिमा का अनावरण 12 जनवरी (युवा दिवस पर) शाम चार बजे मुख्यमंत्री रघुवर दास करेंगे. यह राज्य की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी. 
 
प्रतिमा के अनावरण के साथ ही बड़ा तालाब के सौंदर्यीकरण के  पहले चरण का काम पूरा हो जायेगा. इस चरण में प्रतिमा स्थापित करना और वहां  तक पहुंच पथ का निर्माण कार्य शामिल था. प्रतिमा स्थापित करने के साथ बड़ा तालाब का सौंदर्यीकरण कार्य भी चल रहा है. हालांकि, यह कार्य अब तक   पूरा नहीं हुआ है.
 
आज सीएम करेंगे अनावरण
रांची :  बड़ा तालाब के सौंदर्यीकरण की योजना मई 2017 में बनी थी. इस पूरी योजना की लागत 17 करोड़ रुपये बतायी जा रही है. तालाब के बीच टापू पर स्वामी विवेकानंद की कांस्य की जो प्रतिमा लगायी गयी है, उसका वजन 9.8 टन है. बड़ा तालाब में दो ट्रैक हैं, जिन्हें आइलैंड-1 और आइलैंड-2 नाम दिया गया है. 
 
 आइलैंड-1 में लोगों के बैठने के लिए होगा. वहीं, आइलैंड-2 में स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा लगायी गयी है. दोनों ट्रैकों को अापस में जोड़ा गया है. जिस टापू पर प्रतिमा स्थापित है, उसका क्षेत्रफल 300 वर्ग मीटर है. 
 
वहीं, प्रतिमा के लिए 150 वर्ग मीटर का चबूतरा बनाया गया है, जिस पर ग्रेनाइट लगाया जा रहा है. भवन निर्माण निगम के अनुसार तीन माह में प्रतिमा व पैडस्टल ब्रिज के सौंदर्यीकरण का काम लगभग पूरा हो जायेगा. प्रतिमा की ऊंचाई 33 फीट है. वहीं, पैडस्टल की ऊंचाई 14 फीट है.
 
वॉकिंग ट्रैक व पार्क बनेगा 
 बड़ा तालाब के चारों ओर घेराबंदी का काम चल रहा है. तालाब के किनारे वॉकिंग ट्रैक और पार्क का भी निर्माण होगा, ताकि लोग सुबह-शाम यहां सैर कर सकें. पैडस्टियन ब्रिज में बिट्रीफाई टाइल्स लगायी जायेंगी.
 
एक लिंक रोड भी बन रहा 
 पैडस्टियन ब्रिज के सामने 10 मीटर का एक लिंक रोड है, जिसे तैयार किया जा रहा है. यह लिंक रोड मेकन द्वारा तैयार किया जा रहा है. इसे चौड़ा किया जा रहा है. इसके अलावा एक और लिंक रोड का निर्माण कार्य चल रहा है. साफ-सफाई का काम भी युद्ध स्तर पर चल रहा है. तालाब के पूर्वी छोर की साफ-सफाई कर उसे चौड़ा करने का काम चल रहा है, जहां वाहन पार्क किये जायेंगे.

राज्य की सबसे ऊंची है यह प्रतिमा
  • बड़ा तालाब के सौंदर्यीकरण और प्रतिमा स्थापित करने योजना मई 2017 में बनी थी
  • तीन माह में लगभग पूरा हो जायेगा प्रतिमा और पैडस्टल ब्रिज के सौंदर्यीकरण का काम
  • 17 करोड़ है इस योजना की लागत, तीन करोड़ खर्च हुए हैं प्रतिमा बनाने में  
  • 33 फीट ऊंची है स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा, 9.8 टन वजनी है यह प्रतिमा

ये काम भी होंगे 
  • प्रतिमा के चारों ओर चार रंगबिरंगे फव्वारे लगाये जायेंगे और पार्क भी बनेगा 
  • 153 मीटर लंबे पैडस्टियन ब्रिज में अशोका लाइट और एंटिक पोल लगाये जायेंगे 
  •  पैडस्टियन ब्रिज में बिट्रीफाई टाइल्स लगायी जायेंगी 
  •  पैडस्टियन ब्रिज व प्रतिमा चारों ओर रेलिंग भी लगायी जायेंगी 
  • बड़ा तालाब के चारों ओर घेराबंदी की जायेगी 
  •  चारों ओर पाथ-वे और वाॅकिंग ट्रैक भी बनेगा 
  •  अंडग्राउंड डस्टबिन भी लगाया जायेगा

...लेकिन, तालाब में अब भी बह रहा ड्रेनेज का गंदा पानी
स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा स्थापित तो हो गयी, लेकिन बड़ा तालाब के उत्तरी छोर से अब भी ड्रेनेज का गंदा पानी तालाब में गिर रहा है. बड़ा तालाब के आसपास दो ड्रेनेज हैं, जहां का गंदा पानी बड़ा तालाब में आकर गिरता है.
 
 गंदगी का अंबार है. जलकुंभी भी तैरता दिख रहा है. यही स्थिति तालाब के पूर्वी  और उत्तरी छोर  में भी है. शौचालय के पास अब भी पूजा की सामग्री तालाब में बिखरी पड़ी है. तालाब का पूरा पानी हरा दिखा रहा है.
 
 तालाब के दक्षिण दिशा में सड़क को चौड़ा करने का काम जारी है. पेवर ब्लॉक भी लगाये जा रहे हैं. चिन्मय मिशन की चहारदीवारी तक पेवर ब्लॉक लगा दिया गया है. इधर, नगर निगम के स्वास्थ्य पदाधिकारी डॉ किरण कुमारी ने बताया कि तालाब के चारों ओर ड्रेनेज बनाया जायेगा, जिसे बड़ा नाला से जोड़ दिया जायेगा.
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement