Advertisement

other state

  • Dec 12 2016 8:13AM

वरदा तूफान : तमिलनाडु के तटीय जिलों में मूसलाधार बारिश, चेन्नई जाने वाली सभी ट्रेनों का रूट डायवर्ट

वरदा तूफान : तमिलनाडु के तटीय जिलों में मूसलाधार बारिश, चेन्नई जाने वाली सभी ट्रेनों का रूट डायवर्ट

चेन्नई : भीषण चक्रवाती तूफान ‘वरदा' के आज दोपहर यहां पहुंचने की संभावना है और चेन्नई समेत तमिलनाडु के तटीय जिलों में बहुत तेज हवाएं चलीं तथा भारी बारिश शुरू हो गयी हैं. मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि वरदा चेन्नई से 220 किलोमीटर पूर्व-पूर्वोत्तर एवं नेल्लोर से 290 किलोमीटर पूर्व -दक्षिणपूर्व में है. अधिकारी ने कहा, ‘इस प्रणाली के तकरीबन पश्चिम की ओर बढने और उत्तरी तमिलनाडु एवं आंध्र प्रदेश के निकटवर्ती दक्षिणी तटों की ओर बढते हुए धीरे धीरे कमजोर होने की संभावना है.'

 

उन्होंने कहा, ‘इसके उत्तरी तमिलनाडु एवं चेन्नई के आसपास आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तटों से 12 दिसंबर 2016 की दोपहर के बाद एक चक्रवाती तूफान के रुप में 80 से 90 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली तेज हवाओं के गुजरने की संभावना है.' चेन्नई, तिरुवल्लूर एवं कांचीपुरम जिलों में सुबह से भारी बारिश हो रही है और इन जिलों में तेज हवाएं भी चल रही हैं. इन इलाकों के कई हिस्सों में एहतियातन विद्युत आपूर्ति बंद कर दी गयी है.

थल सेना, नौसेना एवं वायु सेना के साथ सशस्त्र बलों को भी तैयार रहने को कहा गया है ताकि कभी भी आवश्यकता पड़ने पर उन्हें तैनात किया जा सके. सरकार की विभिन्न इकाइयां किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना की स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं. हालांकि निचले इलाकों के लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में जाने को कहा गया है. हवाईअड्डा अधिकारियों ने कहा कि विमान सेवाएं सामान्य रुप से संचालित हो रही हैं.

चक्रवाती तूफान 13 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से बढ़ रहा है. चक्रवात वरदा के दक्षिणी तट पर पहुंचने की आशंका के मद्देनजर आंध्र प्रदेश एवं तमिलनाडु में हाई अलर्ट घोषित किया गया है और एनडीआरएफ के दल मुस्तैद हो गये हैं. अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के तट के पास आंध्र प्रदेश एवं तमिलनाडु में अलर्ट घोषित किया गया है. 

 

नौसेना और एनडीआएफ की टीम तैयार 

चक्रवात से निपटने के लिए तमिलनाडु में एनडीआरएफ की 7 और आंध्र प्रदेश में 5 टीमें तैनात की गयी हैं. इसके साथ ही नौसेना को भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रखने को कहा गया है. समुद्र अशांत रहेगा इसलिए मछुआरों को अगले 48 घंटों तक समंदर में नहीं उतरने को कहा गया है. मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेलवम ने तमिलनाडु राज्य आपदा प्रबंध प्राधिकारण की एक बैठक की जिसने सशस्त्र बलों से भी तैयार रहने को कहा.

तमिलनाडु सरकार ने विल्लपुरम के तटीय तालुकों के अलावा चेन्नई, कांचीपुरम और तिरुवल्लूर में शैक्षणिक संस्थानों में छुट्टियां घोषित कर दी है. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने आज शाम कलेक्टरों और शीर्ष अधिकारियों के साथ टेलीकांफ्रेंस के जरिए हालात की समीक्षा की. उन्होंने उन्हें अलर्ट रहने और जरुरी राहत एवं बचाव कार्य करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि पर्याप्त मात्रा में भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुएं तैयार रखी जाएं. 

भारी बारिश के दौरान लोगों को घरों में ही रहने की चेतावनी   

एन. चंद्रबाबु नायडू ने अधिकारियों को कहा कि जान को नुकसान और फसल एवं संपत्ति को नुकमान कम करने के लिए हर कदम उठाए जाएं। तमिलनाडु सरकार की विज्ञप्ति के मुताबिक निचले और जोखिम वाले इलाकों से लोगों को निकालने के लिए बंदोबस्त करने के निर्देश दिए गए हैं. आवश्यक भोजन, पानी और अन्य बंदोबस्त के साथ राहत केंद्रों को तैयार रखा जाएगा.

आवश्यकतानुसार सेना, नौसेना, वायुसेना और तट रक्षक को अलर्ट रखा गया है. तमिलनाडु सरकार ने लोगों से भारी बारिश के दौरान घरों में रहने को कहा है. विज्ञप्ति के मुताबिक एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, दमकल और रेसक्यू सेवाओं के कर्मियों को पहले ही तैयार रहने की स्थिति में रख दिया गया है और जरुरत के मुताबिक उनका फौरन उपयोग किया जाएगा.

Advertisement

Comments

Advertisement