Advertisement

lucknow

  • Mar 23 2019 6:58PM

भाजपा ने की उ.प्र. से तीन और प्रत्याशियों के नामों की घोषणा

भाजपा ने की उ.प्र. से तीन और प्रत्याशियों के नामों की घोषणा

लखनऊ :  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश से तीन और प्रत्याशियों के नामों का शनिवार को ऐलान किया. भाजपा ने मृगांका सिंह को इस बार टिकट नहीं दिया है . मृगांका पिछले साल मई में कैराना उपचुनाव की प्रत्याशी थीं. उन्हें रालोद की तबस्सुम हसन ने हराया था. भाजपा की ओर से जारी सूची के मुताबिक कैराना से प्रदीप चौधरी को प्रत्याशी घोषित किया गया है. उत्तर प्रदेश भाजपा महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने कहा, ''प्रदीप चौधरी गंगोह विधानसभा सीट से भाजपा के वर्तमान विधायक हैं. यह विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र सहारनपुर जिले में है लेकिन यह कैराना संसदीय क्षेत्र में आता है.''

पार्टी ने बुलंदशहर (अनुसूचित जाति) सीट से भोला सिंह को पुन: प्रत्याशी बनाया है. यशवंत नगीना (अनुसूचित जाति) सीट से उम्मीदवार हैं. पिछली बार वह यहीं से चुनाव जीते थे. इस बार टिकट नहीं पाने वाली मृगांका सिंह भाजपा सांसद रहे हुकुम सिंह की बेटी हैं. हुकुम सिंह के निधन के बाद कैराना उपचुनाव हुए थे. उपचुनाव में मृगांका को राष्ट्रीय लोकदल प्रत्याशी तबस्सुम हसन से शिकस्त मिली थी. तबस्सुम को सपा और बसपा का भी समर्थन हासिल था. शनिवार की सूची के साथ ही भाजपा ने प्रदेश में लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए सभी प्रत्याशी घोषित कर दिये हैं.
 
 पहले चरण में मतदान 11 अप्रैल को होगा. पहले चरण में भाजपा ने सहारनपुर से राघव लखनपाल, मुजफ्फरनगर से संजीव कुमार बालियान, बिजनौर से कुंवर भारतेन्द्र सिंह, मेरठ से राजेन्द्र अग्रवाल, बागपत से सत्यपाल सिंह, गाजियाबाद से विजय कुमार सिंह, गौतम बुद्धनगर से महेश शर्मा और कैराना से प्रदीप चौधरी को प्रत्याशी घोषित किया है.
 
राजनीतिक रूप से अत्यंत महत्वपूर्ण उत्तर प्रदेश राज्य 80 सांसद चुनकर लोकसभा भेजता है. मृगांका 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भी कैराना विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी थीं लेकिन उन्हें सपा के नाहिद हसन ने 21 हजार 162 मतों से पराजित किया था. बात 2014 के लोकसभा चुनाव की करें तो भाजपा ने 71 सीटों पर जीत हासिल की थी और उसे 42 . 63 फीसदी मत हासिल हुए थे. भाजपा की सहयोगी अपना दल ने दो सीटें जीती थीं. सपा ने पांच सीटें जीती थीं और उसकी वोट हिस्सेदारी 22 . 35 प्रतिशत थी. बसपा एक भी सीट नहीं जीत पायी थी और उसका वोट प्रतिशत 19 . 77 था. कांग्रेस 2014 में दो सीटें जीत पायी थी और उसे 7 . 53 फीसदी मत मिले थे. कांग्रेस के खाते में अमेठी (राहुल गांधी) और रायबरेली (सोनिया गांधी) की सीटें गयी थीं. 
Advertisement

Comments

Advertisement