1. home Home
  2. national
  3. tmc leader reached tripura prashant kishor i pac team of 23 member detained by agartala police prt

त्रिपुरा पुलिस पर टीएमसी का आरोप, कहा- प्रशांत किशोर की टीम पर लगे मामले झूठे, बीजेपी पर लगाया यह आरोप

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की टीम के 23 सदस्यों को त्रिपुरा पुलिस ने होटल में नजरबंद कर दिया है. हालांकि, पुलिस ने इसे कोरोना प्रोटोकॉल का हवाला दिया है. लेकिन टीएमसी आरोप लगा रही है कि प्रशांत किशोर और उनकी टीम को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Abhishek Banerjee
Abhishek Banerjee
Social Media
  • प्रशांत किशोर की टीम के 23 सदस्यों को होटल में नजरबंद मामला

  • टीएमसी ने लगाया आरोप, कहा- पुलिस ने की जबरन कार्रवाई

  • टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी जा सकते हैं अगरतला

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की टीम के 23 सदस्यों को त्रिपुरा पुलिस ने होटल में नजरबंद कर दिया है. हालांकि, पुलिस ने इसे कोरोना प्रोटोकॉल का हवाला दिया है. लेकिन टीएमसी आरोप लगा रही है कि प्रशांत किशोर और उनकी टीम को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है. इस मामले को लेकर टीएमसी काफी गंभीर हो गई है, और टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी के कल यानी शुक्रवार को अगरतला पहुंचने की उम्मीद है. इसके अलावा टीएमसी अपने दो सांसद डेरेक ओ ब्रायन और काकोली घोष को भी त्रिपुरा भेज रही है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक, बंगाल के मंत्री मोलॉय घटक और ब्रत्य बसु के साथ पूर्व सांसद ऋतब्रत बनर्जी बुधवार को अगरतला पहुंचे और त्रिपुरा सरकार से आई-पीएसी के 23 सदस्यों को लगातार हिरासत में रखने पर सवाल उठाया. बता दें, पुलिस ने I-PAC सदस्यों के खिलाफ IPC और आपदा अधिनियम के तहत मामले दर्ज किए हैं, और उन्हें अपना होटल छोड़ने की अनुमति नहीं है.

गौरतलब है कि, प्रशांत किशोर अपनी कंपनी इंडियन पॉलिटिकल एक्शन के साथ 2023 में होने वाले चुनाव को लेकर आकलन करने पहुंचे थे. जहां, होटल वुडलैंड पार्क में प्रशांत किशोर और उनकी टीम के 23 सदस्यों को पुलिस ने हिरासत में लिया था. यहीं नहीं, पुलिस की ओर से टीम के सदस्यों से भी पूछताछ की जा रही है. पुलिस का कहना है कि टीम कोविड के नॉर्म्‍स का उल्‍लंघन कर रही हैं.

बंगाल के मंत्री मोलॉय घटक का आरोप है कि प्रशांत किशोर की टीम के 23 सदस्यों पर पुलिस ने मनगढ़ंत आरोप लगाया है. जबरन उन्हें हिरासत में लिया गया है. बता दें, प्रशांत किशोर की टीम के 23 सदस्यों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम का उल्लंघन करने और आईपीसी की धारा 188 के तहत आरोप लगाया गया है. मोलाय घटक ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि, भाजपा को पता होना चाहिए कि झूठे मामले दर्ज करके से वो तृणमूल को डरा नहीं सकती.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें