1. home Hindi News
  2. national
  3. shabnam amroha rampur jail son taj meet mother know latest update shabnam and saleem case news in hindi amh

Shabnam Case : बेटे से मिलकर शबनम ने कही ऐसी बात जो दुनिया की कोई मां कभी नहीं बोलना चाहेगी...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
फांसी की सजा पाने वाली शबनम
फांसी की सजा पाने वाली शबनम
Twitter
  • शबनम ने जेल में अपने बेटे से मुलाकात की

  • बेटे को सामने देखकर शबनम ने उसे गले लगा लिया

  • शबनम फूट-फूटकर रोने लगी

उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले (UP,Amroha) की महिला शबनम (Shabnam) की चर्चा पूरे देश में हो रही है. जी हां...शबनम को फांसी देने की तैयारी चल रही है. वह आजाद भारत के बाद देश की पहली महिला होगी जिन्हें फांसी की सजा दी जाएगी. इसी बीच खबर है कि अमरोहा जिले के बावनखेड़ी में 14/15 अप्रैल 2008 में परिवार के सात सदस्यों को प्रेमी सलीम के साथ मिलकर मौत के घाट उतारने वाली शबनम ने अपने बेटे से मुलाकात की है.

जानकारी के अनुसार रविवार को रामपुर जेल में अपने बेटे से शबनम ने मुलाकात की. शबनम का बेटा लालन-पालन करने वालों के साथ अपनी मां से मिलने रामपुर की जेल पहुंचा तो उसकी आंख नम थी. बताया जा रहा है कि मां और बेटे के बीच मुलाकात करीब एक घंटे तक चली. अपने बेटे को सामने देखकर शबनम ने उसे गले लगा लिया और फूट-फूटकर रोने लगी.

दोनों के बीच इस एक घंटे के दौरान कई तरह की बातें हुईं. शबनम ने अपने बेटे को मन लगाकर पढ़ाई करने की बात कही. शबनम का बेटा जब मां से मिलकर जेल से बाहर आया तो उसकी आंखों में आंसू थे. बेटे का मन इतना भारी था कि वह मां के साथ बातचीत के बारे में किसी को बताना नहीं चाह रहा था.

फूट-फूटकर रोई शबनम : शबनम ने जेल में अपने बेटे को गले से लगा लिया और फूट-फूटकर रोने लगी. नम आंखों से उसने अपने बेटे से कहा है कि तुम मेरी चिंता नहीं करना...अच्छे से खाना... मन लगाकर पढ़ाई-लिखाई करना...मेरे नसीब में जो होगा वो होगा तुम बड़े होकर अच्छा इंसान बनना बेटा...तुम मेरी परछाई से दूर रहना...

क्या है मामला: अमरोहा जिले के हसनपुर क्षेत्र के गांव बावनखेड़ी के शिक्षक शौकत अली की इकलौती बेटी शबनम को सलीम से प्यार था. सूफी परिवार की शबनम ने अंग्रेजी और भूगोल में एमए किया था. उसके परिवार के पास काफी जायदाद था. वहीं सलीम पांचवीं फेल था और पेशे से एक मजदूर था. दोनों के संबंधों को लेकर परिजन नाराज थे और उनके संबंध को स्वीकार नहीं कर रहे थे. ऐसे में शबनम ने बड़ा फैसला लिया और 14 अप्रैल, 2008 की रात अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने माता-पिता और 10 माह के भतीजे समेत परिवार के सात लोगों को पहले बेहोश करने की दवा खिलायी. बाद में सभी को कुल्हाड़ी से काटकर मार डाला था.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें