1. home Hindi News
  2. national
  3. india china standoff updates china releases new video of galwan valley clash indian chinese troops outrage 15 june amid ladakh lac india china border dispute upl

India china standoff: एलएसी पर बढ़ते तनाव के बीच चीन ने भारतीयों के हरे किए जख्म, जारी किया गलवान झड़प का Video

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 14-15 जून की दरम्यानी रात  गलवान में हुई झड़प का नया वीडियो सामने आया है.
14-15 जून की दरम्यानी रात गलवान में हुई झड़प का नया वीडियो सामने आया है.
Screenshot

India china standoff, India china Border dispute: पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर तनाव के बीच चीन मनोवैज्ञानिक तरीके से भारतीय सेना दबाव बनाने की कोशिशों में जुटा हुआ है. पैंगोंग सो झील के दक्षिणी छोर पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी भारतीय सैनिकों को लगातार उकसाने की कोशिश कर रहा है. इस बीच 14-15 जून की दरम्यानी रात गलवान में हुई झड़प का नया वीडियो सामने आया है.

इस वीडियो को चीनी सरकार के मुखपत्र कहे जाने वाले 'साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट' ने जारी किया है. एलएसी पर बढ़ते तनाव के बीच इस वीडियो को जारी करना चीन की मंशा को दिखा रहा है. 3 मिनट 25 सेकंड के इस वीडियो में भारत और चीन के सैनिक डंडों से एक-दूसरे पर वार करते दिख रहे हैं. यह वीडियो चीन में खूब वायरल हो रहा है.

वीडियो में दिख रहा है कि चीनी सैनिक रॉड और भाले के साथ हैं. कुछ भारतीय जवानों के कंधे पर रायफल है लेकिन उशका उपयोग नहीं किया गया. बता दें गलवान घाटी में हुई झड़प के दौरान 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे. चीन ने अपने नुकसान की बात कभी सार्वजनिक नहीं की. लेकिन सूत्रों के हवाले से कहा गया था कि कम से कम 30 चीनी सैनिक मारे गए हैं.

इसके बाद से ही दोनों देशों की ओर से सैन्य स्तर पर तनाव करने के लिए बातचीत हो रही है. हालांकि, कई चरणों की बातचीत के बाद भी अब तक कोई हल नहीं निकल सका है. चीन बार बार वादा खिलाफी कर रहा है. साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट' ने एक चीनी सैनिक के हवाले से लिखा है कि यह तय नहीं है कि ये वीडियो 15 जून की रात का ही है लेकिन ये सच है कि वीडियो इसी साल का है.

मई के बाद ऐसे कई मौके आए हैं जब दोनों देशों के सैनिकों में गुत्थमगुत्थी हुई है. चीन गलवान घाटी को भी अपने क्षेत्र में मानता है. वीडियो जारी करने के मकसद ये हो सकता है कि भारतीय जवानों ने उनके क्षेत्र में घुसपैठ की इस कारण 15 जून को उतनी बड़ी घटना घटी.

चीन ना लांघे लक्ष्मण रेखा

भारत की ओर से चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) को कड़ा संदेश भेजा गया है कि भारतीय रक्षात्मक घेरे में घुसने की कोशिश नहीं करें. भारतीय रक्षा प्रतिष्ठानों का अनुमान है कि पूर्वी लद्दाख के क्षेत्र में चीन ने 50 हजार सैनिकों को तैनात किया है. वहीं जिनजियांग और तिब्बत के अपने एयरबेसों पर चीन ने 150 फाइटर जेट्स, बॉम्बर एयरक्राफ्ट आदि की तैनाती की है.

टीओआई ने एक अधिकारी के हवाले से लिखा है कि भारत ने इस क्षेत्र में चीन की तैनाती और उसके खतरे का जवाब देने के लिए फॉरवर्ड पोजिशन पर जवानों की संख्या में पर्याप्त इजाफा किया है. 45 साल बाद एलएसी पर गोली चलने और चीन की उकसावे लगातार भरी कार्रवाई के बाद बाद भारत की ओर से ऐसी चेतावनी दी गई है.

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें