1. home Hindi News
  2. national
  3. india china faceoff indian navy show strength in arabian sea from today the military exercise with friend countries start from today aml

India China Faceoff: आज से अरब सागर में ताकत दिखायेगी भारतीय नौसेना, दोस्त राष्ट्र भी होंगे शामिल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Symbolic Image
Symbolic Image
File

नयी दिल्ली : चीन के साथ जारी तनाव (India China Faceoff) के बीच भारतीय नौसेना (Indian Navy) के युद्धाभ्यास ‘मालाबार’ का दूसरा चरण आज से उत्तरी अरब सागर में शुरू हो रहा है. इस युद्धाभ्यास में भारतीय नौसेना का विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य, अमेरिकी विमान वाहक पोत निमित्ज और ऑस्ट्रेलिया एवं जापान की नौसेना की अग्रिम मोर्चों पर तैनात पोत चार दिन तक अरब सागर में संयुक्त युद्धाभ्यास करेंगे.

इस बाबत अधिकारियों ने पीटीआई भाषा को बताया कि इस युद्धाभ्यास के दौरान ‘क्वाड’ समूह के देशों की नौसेनाओं द्वारा मिलकर कार्य करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए समन्वित अभियान का अभ्यास किया जायेगा. उल्लेखनीय है कि मालाबार युद्धाभ्यास का पहला चरण तीन से छह नवंबर के बीच बंगाल की खाड़ी में संपन्न हुआ और इस दौरान पनडुब्बी युद्ध और समुद्र से हवा में मार करने की क्षमता का अभ्यास किया गया था.

यह युद्धाभ्यास ऐसे समय हो रहा है जब पिछले छह महीने से भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा पर गतिरोध चल रहा है जिससे दोनों देशों के रिश्तों में तनाव आया है. नौसेना ने एक बयान में बताया, ‘मालाबार युद्धाभ्यास का दूसरा चरण उत्तरी अरब सागर में 17 से 20 नवंबर के बीच होगा.’ बयान के मुताबिक अभियान के केंद्र में विक्रमादित्य विमान वाहक पोत और निमित्ज पोत पर तैनात युद्ध समूह होगा.

नौसेना ने कहा कि यह युद्धाभ्यास समुद्री मुद्दे पर चार जीवंत लोकतांत्रिक देशों के बीच समन्वय बढ़ाने के लिए और हिंद-प्रशांत क्षेत्र को खुली, समावेशी और नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था बनाए रखने की प्रतिबद्धता को दिखाने के लिए है. ऑस्ट्रेलियाई नौसेना का प्रतिनिधित्व फ्रिगेट बल्लार्ट और हेलीकॉप्टर करेंगे. भारतीय नौसेना ने बताया, ‘दो विमान वाहक पोतों के साथ अन्य पोत, पनडुब्बी और विमान अभ्यास में शामिल होंगे और चार दिनों तक गहन समुद्री अभियान को अंजाम देंगे.’

नौसेना ने बताया कि युद्धाभ्यास में ‘क्रॉस डेक फ्लाइंग ऑपरेशन' और विक्रमादित्य पर तैनात मिग-29 के और निमित्ज पर तैनात एफ-18 लड़ाकू विमान और ई2सी हॉकआई के जरिए हवाई रक्षा का अभ्यास किया जायेगा. इसके अलावा पनडुब्बी युद्ध का भी अभ्यास किया जायेगा. भारत की आईएनएस विक्रमादित्य के अलावा हवाई इकाई के हेलीकॉप्टर, डेस्ट्रॉयर कोलकाता और चेन्नई, स्टील्थ फ्रिगेट तलवार और सहायक पोत दीपक भी इस युद्धाभ्यास में भारत की ओर से शामिल होंगे.

भारतीय दल का नेतृत्व रियर एडमिरल और पश्चिमी बेड़े के फ्लैग ऑफिसर कृष्ण स्वामीनाथन करेंगे. मालाबार युद्धाभ्यास के दूसरे चरण में देश में ही निर्मित पनडुब्बी खंडेरी और पी8आई समुद्री टोही विमान भी भारतीय नौसेना की ओर से अपनी क्षमता का परिचय देंगे. इस युद्धाभ्यास से चीन के तेवर चढ़े हुए हैं.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें