1. home Home
  2. national
  3. corona positivity rate more than 10 percent in 30 districts of the country governments concern increased vwt

देश के 30 जिलों में 10 फीसदी से अधिक बढ़ी कोरोना पॉजिटिविटी रेट, सरकार की बढ़ी चिंता

देश में कम से कम 30 ऐसे जिले हैं, जहां पर कोरोना संक्रमण के पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से अधिक है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
संक्रमण बढ़ने का मंडराने लगा खतरा.
संक्रमण बढ़ने का मंडराने लगा खतरा.
फोटो : ट्विटर.

नई दिल्ली : कोरोना महामारी का प्रकोप इस समय भले ही थमी हुई दिखाई दे रहा है, लेकिन देश के करीब 30 जिले ऐसे हैं, जहां पर पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी के बेंचमार्क को क्रॉस कर चुकी है. कोरोना संक्रमण की इस दर के सामने आने के बाद केंद्र सरकार की चिंता एक बार फिर बढ़ गई है.

मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, देश में कम से कम 30 ऐसे जिले हैं, जहां पर कोरोना संक्रमण के पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से अधिक है. हालांकि, यह बात दीगर है कि पिछले पांच महीने से कोरोना संक्रमण के पॉजिटिविटी रेट में गिरावट दर्ज की जा रही है. रिपोर्ट्स के अनुसार, खतरे की घंटी बजा रहे देश के 30 जिलों में से 13 जिले अकेले केरल के हैं, जहां पर पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से अधिक है.

केरल के अलावा, मिजोरम आठ जिले, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश में तीन-तीन जिले, सिक्किम में दो जिले और मेघालय में कोरोना का खतरा अब भी बढ़ा हुआ है. हालांकि, देशभर के सबसे अधिक सक्रिय मामले फिलहाल केरल से ही सामने आ रहे हैं. यहां 1,44,075 एक्टिव केस हैं, जो पूरे देश के 52.01 प्रतिशत के बराबर हैं.

देश के 11 राज्यों के अन्य 18 जिले अभी भी वीकली पॉजिटिविटी रेट 5 से 10 फीसदी के बीच रिपोर्ट कर रहे हैं, जो कोरोना संक्रमण को दोबारा फैलने का संकेत देते हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, यदि किसी क्षेत्र में लगातार दो हफ्ते से वीकली पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी के नीचे हो, तभी उस इलाके के नियंत्रण में होने की बात कही जा सकती है.

रोकथाम के उपाय पर उठ रहे सवाल

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, नेशनल लेवल पर लगातार 13 दिनों से वीकली पॉजिटिविटी रेट तीन फीसदी से कम रही है. इस रिपोर्ट के बाद विशेषज्ञ अधिक जोखिम वाले इलाकों में इस्तेमाल की जा रही रोकथाम के उपायों पर सवाल उठा रहे हैं.

मामला गड़बड़ है

नाम प्रकाशित नहीं किए जाने की शर्त पर एक विशेषज्ञ ने मीडिया को बताया कि इसमें कुछ न कुछ तो गड़बड़ है. तभी इतनी संख्या में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि हम काफी टेस्ट कर रहे हैं, लेकिन इनमें केवल उन्हीं लोगों को टारगेट किया जा रहा है, जो हाई रिस्क में हैं. उन्होंने कहा कि इससे साफ जाहिर है कि पॉजिटिविटी उनमें ही ज्यादा होगी.

24 घंटे में कोरोना के 20,799 नए मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार की सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 20,799 नए मामले आए हैं. इसके साथ इस दौरान करीब 26,718 लोग ठीक होकर अपने घर वापस चले गए, जबकि 80 लोगों की कोरोना से मौत हो गई. इसी के साथ, देश में कोरोना के कुल मामले 3,38,34,702 तक पहुंच गए हैं, जबकि सक्रिय मामलों की संख्या 2,64,458 हो गई.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें