1. home Hindi News
  2. national
  3. china startes cyber fraud racket after coronavirus pandemic in the world millions inadian people were cheated in the name of investing in startups vwt

लो! कोरोना महामारी के बाद अब साइबर फ्रॉड उतारू हो गया चीन, स्टार्टअप में निवेश के नाम पर भारत के लाखों लोगों को बनाया शिकार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार.
उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार.
फोटो : ट्विटर.

नई दिल्ली : लो! कोरोना वायरस का जनक चीन अब साइबर फ्रॉड का रैकेट भी चलाने लगा है. तथाकथित तौर पर पूरी दुनिया को कोरोना महामारी के मुंह में झोंकने वाला वाला चीन दुनिया को तबाह करने के लिए साइबर फ्रॉड करने की साजिश भी करने लगा है. उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अशोक कुमार ने आशंका जाहिर की है कि भारत में चीन के जरिए साइबर फ्रॉड लाखों लोगों को शिकार बनाया जा रहा है.

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा है कि साइबर फ्रॉड का एक देशव्यापी मामला सामने आया है, जिसमें देशभर में लाखों लोगों के साथ धोखाधड़ी होने की संभावना जताई जा रही है. लग रहा है कि इसमें मुख्य अभियुक्त चीन से हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले की बड़ी विवेचना की जाएगी. 7 जून 2021 को मामले में पहली गिरफ़्तारी की गई है.

उन्होंने आगे कहा कि इन्होंने लोगों को स्टार्टअप में सहायता का झांसा देकर कई लोगों की कंपनियां बनवाई और एक पावर बैंक ऐप बनाया, जिसे पूरे देश में 10 लाख लोगों ने डाउनलोड किया है. इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला भी शामिल है.

बता दें कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के प्रसार को लेकर इन दिनों चीन चौतरफा घिरा हुआ है. इस महामारी को पूरी दुनिया में फैलाने को लेकर चीन को ही जिम्मेदार माना जा रहा है, क्योंकि 2019 के दिसंबर महीने में चीन के वुहान प्रांत से ही कोरोना वायरस की उत्पत्ति हुई थी और फिर पूरी दुनिया में इसका प्रसार हुआ था. अब जबकि पूरी दुनिया इस महामारी से त्राहिमाम कर रही है, तो एक नया मामला सामने आया है.

Posted by : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें