1. home Home
  2. national
  3. aryan drug case the plan was made on september 27 everything was a plan pkj

क्या शाहरुख से पैसे ऐंठने के लिए आर्यन को फंसाया, क्रूज पार्टी की रेड प्री प्लांड थी? जानिए गवाह का नया खुलासा

गवाह ने पुलिस को बताया है कि यह पूरी तरह से प्लानिंग के साथ किया गया है, 27 सितंबर को पूरी रणनीति को अंतिम रूप दिया गया था, जबकि 2 अक्टूबर को क्रूज जहाज पर छापा मारा गया था. इसकी पूरी योजना पहले से तैयार थी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 Aryan drug case
Aryan drug case
file

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान का नाम जब से ड्रग्स केस में आया है तब से कई बड़े खुलासे हो रहे हैं. अब नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के क्रूज़ ड्रग मामले में एक नया मोड़ आया है. एक गवाह ने बताया है कि अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन को कुछ लोगों ने पैसा बनाने के लिए फंसाया है.

गवाह ने पुलिस को बताया है कि यह पूरी तरह से प्लानिंग के साथ किया गया है, 27 सितंबर को पूरी रणनीति को अंतिम रूप दिया गया था, जबकि 2 अक्टूबर को क्रूज जहाज पर छापा मारा गया था. इसकी पूरी योजना पहले से तैयार थी.

इस संबंध में विजय पगारे ने टाइम्स ऑफ इंडिया से भी बातचीत की है जिसमें बताया कि उच्च स्तरीय पुलिस एसआईटी टीम ने 3 और 4 नवंबर को उसका बयान दर्ज किया था. पगारे ने कहा, वह सुनील पाटिल के साथ रह रहे थे, जिन्होंने दावा किया था कि उन्होंने एनसीबी को क्रूज पर ड्रग्स के बारे में जानकारी दी थी.

पाटिल का नाम व्यवसायी सैम डिसूजा के बयान में आया था, पाटिल पर उन पर पैसा बकाया है और वह पिछले कुछ महीनों से उसे वसूल करने के लिए उसके साथ रह रहा था. पाटिल 27 सितंबर को वाशी के एक स्टार होटल में ठहरे थे और उसी होटल में एक और कमरा गोसावी के नाम से बुक था. होटल में, एक अन्य गवाह, भाजपा कार्यकर्ता मनीष भानुशाली, गोसावी और पाटिल छापे से कुछ दिन पहले मिले थे. पगारे ने कहा कि वह इस बारे में अनजान थे कि क्या हो रहा है .

छापेमारी के कुछ घंटे बाद 3 अक्टूबर को भानुशाली कथित तौर पर होटल के कमरे में लौट आया. उसने पगारे को अपने पैसे लेने के लिए साथ आने के लिए कहा. दोनों एनसीबी ऑफिस गए थे. रास्ते में भानुशाली किसी से फोन पर बात कर रहा था और उसने पूजा, सैम और मयूर समेत कई नाम लिये.

गोसावी पर पैसे लेकर फरार होने का भी शक था लेकिन क्रूज पार्टी के छापे के बारे में एक समाचार क्लिप देखा और भानुशाली और गोसावी को अभियुक्तों को ले जाते हुए देखा. उन्होंने आर्यन का प्रतिनिधित्व करने वाले अधिवक्ता तक पहुंचने की कोशिश की लेकिन उन तक पहुंच नहीं सके.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें