1. home Home
  2. national
  3. 16 dead in uttarakhand due to very heavy rain imd issues orange alert for 11 districts of kerala mtj

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश से 40 की मौत, चारधाम यात्रा कल से, केरल के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी

उत्तराखंड में बारिश से संबंधित घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या 34 हो गयी है. सोमवार को पांच लागों की मौत हुई थी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Uttarakhand Rains: कोसी नदी में उफान, उत्तराखंड में सब कुछ डूबा
Uttarakhand Rains: कोसी नदी में उफान, उत्तराखंड में सब कुछ डूबा
PTI

देहरादून/नैनीताल/कोच्चि: उत्तराखंड के विभिन्न हिस्सों, खासतौर से कुमाऊं क्षेत्र में मूसलाधार बारिश (Uttarakhand Rains) होने से मंगलवार को 35 और लोगों की मौत हो गयी. 5 अन्य लापता हैं. सरकार ने मृतकों को 4-4 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है. साथ ही कहा है कि जिन लोगों के घर टूट गये हैं, उन्हें नया मकान बनाने के लिए 1.09 लाख रुपये दिये जायेंगे.

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक ने बताया कि अब तक 40 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. सिर्फ नैनीताल में 25 लोगों की मौत हुई है. गढ़वाल में स्थिति नियंत्रण में है. चार धाम यात्रा कल से शुरू हो जायेगी. नैनीताल, हलद्वानी, ऊधम सिंह नगर और चंपावत में भारी बारिश से बने हालात की मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को समीक्षा की.

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में कहा कि कुमाऊं में बाढ़ का पानी घटने लगा है. लेकिन, रास्तों के खुलने में अभी वक्त लगेगा. उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ की टीमें राहत एवं बचाव अभियान में जुटी हुई हैं. हजारों लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा चुका है. मुख्यमंत्री धामी ने हेलीकॉप्टर से स्थिति की समीक्षा की है. वायुसेना के हेलीकॉप्टर को राहत एवं बचाव कार्य में लगाया गया.

बारिश के कारण कई मकान ढह गये और कई लोग मलबे में फंसे हुए हैं. कई भूस्खलनों के कारण नैनीताल तक जाने वाली तीन सड़कों के अवरुद्ध होने से इस लोकप्रिय पर्यटक स्थल का राज्य के बाकी हिस्सों से संपर्क टूट गया है. वहीं, केरल के 11 जिलों के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट (मूसलाधार बारिश की चेतावनी) जारी की है.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देहरादून में पत्रकारों को बताया कि मंगलवार को बारिश से संबंधित घटनाओं में 29 लोगों की मौत हो गयी, जबकि बादल फटने और भूस्खलनों के बाद कई लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है. उन्होंने बताया कि इसके साथ ही उत्तराखंड में बारिश से संबंधित घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या 34 हो गयी है. सोमवार को पांच लागों की मौत हुई थी.

मुख्यमंत्री धामी ने आश्वस्त किया कि सेना के तीन हेलीकॉप्टर राज्य में चल रहे राहत एवं बचाव अभियानों में मदद करने के लिए जल्द पहुंचेंगे. विभिन्न स्थानों पर फंसे लोगों को बचाने के लिए इनमें से दो हेलीकॉप्टरों को नैनीताल और एक को गढ़वाल क्षेत्र में भेजा जायेगा. मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि वे घबरायें नहीं. सभी लोगों को सुरक्षित निकाला जायेगा. जो भी जरूरी कदम उठाने की जरूरत है, सरकार उठायेगी.

उन्होंने चारधाम यात्रियों से फिर अपील की कि वे जहां हैं, वहीं रुक जाएं और मौसम में सुधार होने से पहले अपनी यात्रा शुरू न करें. धामी ने कहा कि बारिश से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है. उन्होंने माना कि लगातार बारिश से किसानों पर काफी असर पड़ा है. उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्थिति का जायजा लेने के लिए उनसे फोन पर बात की और हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया.

नैना देवी मंदिर में आयी बाढ़

नैनीताल में मॉल रोड और नैनी झील के किनारे पर स्थित नैना देवी मंदिर में बाढ़ आ गयी है, जबकि भूस्खलनों के कारण एक हॉस्टल की इमारत को नुकसान पहुंचा है. नैनीताल से प्राप्त एक रिपोर्ट के अनुसार, जिला प्रशासन शहर में फंसे पर्यटकों की मदद के लिए पुरजोर प्रयास कर रहा है.

लेमन ट्री रिजॉर्ट में घुसा कोसी का पानी, 200 पर्यटकों को बचाया गया

शहर में आने वाले और बाहर जाने वाले वाहनों में सवार यात्रियों को आगाह करने के लिए पुलिस को तैनात किया गया है तथा यात्रियों से बारिश बंद होने तक ठहरने को कहा जा रहा है. भूस्खलनों से शहर से बाहर जाने का रास्ता अवरुद्ध हो गया है. रामनगर-रानीखेत मार्ग पर लेमन ट्री रिजॉर्ट में करीब 200 लोग फंस गये. सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया है. उफान पर बह रही कोसी नदी का पानी रिजॉर्ट में घुस रहा है.

केरल में फिर मूसलाधार बारिश का अलर्ट

केरल में लगातार हो रही भारी बारिश से बमुश्किल दो दिनों की राहत के बाद भारत मौसम विज्ञान विभाग ने मंगलवार को राज्य के 11 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी कर भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है. मौसम विभाग ने राज्य के 12 जिलों में बृहस्पतिवार के लिए भी ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. कैचमेंट एरिया में पानी भर जाने की वजह से इडुक्की डैम को खोल दिया गया है.

मौसम विभाग ने तिरुवनंतपुरम, पथनमथिट्टा, कोट्टायम, एर्णाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड और कन्नूर जिलों में 20 अक्टूबर के लिए भी ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. वहीं, 21 अक्टूबर के लिए कन्नूर और कसारगोड छोड़कर अन्य सभी जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

मौसम विभाग द्वारा 24 घंटे में 20 सेंटीमीटर से ज्यादा वर्षा की संभावना पर रेड अलर्ट, 6 से 20 सेंटीमीटर तक बारिश की संभावना पर ऑरेंज अलर्ट और 6 से 11 सेंटीमीटर तक बारिश की संभावना पर येलो अलर्ट जारी किया जाता है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें