पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने वाली युवती के घर तोड़फोड़, जानिए सीएम येदियुरप्पा ने क्या कहा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली: बेंगलुरु में नागरिकता संसोधन कानून के खिलाफ आयोजित रैली में पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने वाली युवती अमूल्या की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. पहले तो उन्हें मजिस्ट्रेट ने देशद्रोह के आरोप में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. अब उसे लोगों के आक्रोश का भी सामना करना पड़ रहा है.

अमूल्या के आवास पर पथराव हुआ

ताजा घटना में उपद्रवियों ने अमूल्या के चिकमंगलूर स्थित आवास पर पथराव किया. पथराव की वजह से अमूल्या के घर की खिड़कियों का शीशा टूट गया. लोगों ने वहां अमूल्या के खिलाफ नारेबाजी भी की. बता दें कि अमूल्या के पिता पहले ही उसके पाकिस्तान जिंदाबाद वाले नारे की निंदा कर चुके हैं. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था कि, उनकी बेटी का बयान क्षमा योग्य नहीं है. जानकारी के मुताबिक पथराव की ये घटना बुधवार देर रात की है.

कर्नाटक के सीएम-गृहमंत्री ने ये कहा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने भी बेंगलुरु की उस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि अमूल्या को किसी भी सूरत में जमानत नहीं मिलना चाहिए. उसके पिता ने भी उसके अपराध को अक्षम्य कहा है. येदियुरप्पा ने कहा कि, उसकी गतिविधियों से ये साबित होता है कि, उसका संपर्क नक्सलियों के साथ था. उन्होंने कहा कि, अमूल्या को उचित सजा मिलनी चाहिए.


कर्नाटक के गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि अमूल्य ऐसी जगह से आती है जहां नक्सली लंबे समय से सक्रिय हैं. उसने फेसबुक में बहुत सारी आपत्तिजनक पोस्ट्स शेयर की है. हम इन कोणों से भी घटना की जांच करेंगे.

ओवैसी ने की थी बयान की निंदा

गौरतलब है कि बेंगलुरु में एआईएमआईएम की तरफ से नागरिकता संसोधन कानून के खिलाफ रैली का आयोजन किया गया था. यहां पार्टी प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी मौजूद थे. तभी मंच से अमूल्या नाम की युवती ने पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया. हालांकि ओवैसी समेत वहां मौजूद लोगों ने अमूल्या को ऐसा करने से रोका. ओवैसी ने तुरंत माइक संभालते हुए घटना की निंदा की. उन्होंने कहा कि भारत हमारे लिए जिंदाबाद था और जिंदाबाद रहेगा.


इधर इस घटना के बाद अमूल्य के खिलाफ कई हिन्दू संगठनों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. आज बेंगलुरु में श्रीराम सेना और हिन्दू जनजागृति समिति के लोगों ने अमूल्य के खिलाफ प्रदर्शन किया. इस दौरान इन लोगों युवती के खिलाफ नारेबाजी भी की.

बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर का बयान

इस बीच बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर भास्कर राव ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा कि हमने अमूल्य के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. कुछ और लोगों पर भी मामला दर्ज किया गया है. हम इसमें आयोजकों की भूमिका की भई जांच कर रहे हैं. भास्कर राव ने कहा कि, हालांकि इस पूरी घटना में सांसद असदुद्दीन ओवैसी की कोई भूमिका नहीं थी क्योंकि वो भी आमंत्रित मेहमानों में शामिल थे.

भास्कर राव ने ये भी बताया कि बुधवार को जब हिंदू जागरण वेदी के लोग अमूल्या के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे, एक युवती कुछ प्लेकार्ड लेकर भीड़ के बीच बैठ गयी. इन प्लेकार्ड्स पर कन्नड़ भाषा में दलित मुक्ति, कश्मीर मुक्ति और मुस्लिम मुक्ति लिखा हुआ था. भास्कर राव ने कहा कि हमने युवती को फौरन भीड़ के बीच से मुक्त किया. फिलहाल उसे हिरासत में रखा गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें