25.4 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Spinach: डायबिटीज में पालक खाने के फायदे

Spinach: डायबिटीज के मरीज को अपनी डाइट में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा वैसे भी कम रखने का परामर्श होता है क्योंकि अधिक कार्ब्स डायबिटीज के मरीज के लिए सही नहीं होते हैं. पालक में कार्ब्स की मात्रा बहुत कम होती है, इसिलिए यह डायबिटीज के मरीज़ के लिए सही होता है.

Spinach: डायबिटीज बहुत खतरनाक बीमारी है. डायबिटीज में शरीर के ब्लड शुगर का स्तर असंतुलित हो जाता है. डायबिटीज कई प्रकार के होते हैं, जिनमें सामान्य रूप से टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज होते हैं. आज के समय में हमारे देश में डायबिटीज के मरीज़ की संख्या लाखों में है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के अनुसार भारत में 18 साल से अधिक वाले वयस्क, लगभग 77 मिलियन लोग डायबिटीज (टाइप 2) से पीड़ित हैं, और लगभग 25 मिलियन प्री-डायबिटीज के शिकार हैं. इससे भी बड़ी बात ये है की 50 प्रतिशत से ज्यादा लोगों को उनके मधुमेह ग्रसित होने का अंदाज़ा ही नहीं है. डायबिटीज के मरीज को अपने ब्लड शुगर लेवल को समय पर कंट्रोल ना करने पर हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है. इसीलिए डायबिटीज को कंट्रोल करना अत्यंत आवश्यक है. इससे बचने के लिए सही लाइफस्टाइल को फॉलो करना बहुत ज़रूरी है. डायबिटीज में पालक किस तरह से लाभदायक हो सकता है. आइए जानते हैं विस्तार से..

सही मात्रा में डायबिटीज के मरीज खायें पालक

ऐसे तो हर चीज को सही मात्रा मे ही खाना चाहिए. लेकिन पालक एक ऐसी शाक है जिसे आप कितना भी खा सकते हैं और डायबिटीज के मरीज तो इसे रोज़ ले सकते हैं. इसमें लो-कैलोरी, कम कार्बोहाइड्रेट और लो-ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड होता है, डायिबटीज के मरीज बिना सोचे इसे अपनी डायट मे शामिल कर सकते हैं. ध्यान रहे पालक हमेशा अच्छी तरह धोकर फिर खायें. अगर पालक खाने से किसी भी तरह की समस्या हो तो तत्काल डॉक्टर से परामर्श ले और कुछ दिन तक पालक खाने से परहेज़ करें. चलिए जानते हैं डायबिटीज में पालक खाने के फायदे..

ब्लड शुगर कंट्रोल

पालक हरी पत्तेदार सब्जियों में आता है. यह हड्डियों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है. और पालक का सेवन ब्लड शुगर लेवेल भी कंट्रोल करता है. डायबिटीज के मरीजों को नियमित रूप से ज़रूर लेना चाहिए. पालक में होता है विटामिन-सी, प्लांट बेस्ड आयरन और मैंग्नीशियम, जो ब्लड शुगर तेज़ी से बढ़ने में रोकथाम करता है.

कार्बोहाइड्रेट की कम मात्रा

डायबिटीज के मरीज को अपनी डाइट में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा वैसे भी कम रखने का परामर्श होता है क्योंकि अधिक कार्ब्स डायबिटीज के मरीज के लिए सही नहीं होते हैं. पालक में कार्ब्स की मात्रा बहुत कम होती है, इसिलिए यह डायबिटीज के मरीज़ के लिए सही होता है.

Also Read: 5 लोगों को हल्दी वाला दूध नहीं पीना चाहिए?

वजन कम

जो मोटापे का शिकार हैं उन्हें डायबिटीज का खतरा ज्यादा होता है. पालक में कैलोरी न समान पाई जाती है. पालक के नियमित सेवन से वजन संतुलन बना रहता है, और डायबिटीज के मरीजों के लिए काफी अच्छा है. इससे शरीर का ब्लड शुगर का लेवेल भी सही रहता है.

पालक को डाइट में कैसे शामिल करें

पालक की कई तरह की रेसिपीज होती है. यह स्वादिष्ट भी होती हैं. डायबिटीज के मरीज इसे अच्छी तरह धोकर, ग्राइंडर में पीसकर इसका जूस बना सकते हैं और पालक को फ्राई करके खाया जा सकता है और सैंडविच में भी डाला जाता है.

रिपोर्टः श्रेया ओझा

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें