1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. kangana ranaut statement on mahesh babu comment she says bollywood definitely not afford him slt

Mahesh Babu के बॉलीवुड वाले बयान पर कंगना रनौत ने ली चुटकी, कहा- उन्हें सही में बी-टाउन अफोर्ड नहीं...

महेश बाबू ने बीते दिनों एक विवादित बयान दिया था. जिसमें कहा था कि 'बॉलीवुड उन्हें अफोर्ड नहीं कर सकता'. इस बयान पर अब कंगना रनौत ने चुटकी ली है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Mahesh Babu Controversy
Mahesh Babu Controversy
Instagram

बॉलीवुड इंडस्ट्री में इन-दिनों साउथ फिल्मों का जबरदस्त क्रेज है. दर्शक बी-टाउन की फिल्मों से ज्यादा साउथ की फिल्में देखना पसंद कर रहे हैं. बॉलीवुड की फिल्में बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप कर रही है. इसी बीच बीते दिनों महेश बाबू का एक कमेंट आया. जिसमें उन्होंने कहा कि 'बॉलीवुड उन्हें अफोर्ड नहीं कर सकता', उनके इस बयान के बाद लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया. कई सेलेब्स इस मुद्दे पर अपनी बात रख चुके हैं. अब कंगना कनौत ने इस मुद्दे पर अपनी राय रखी है.

महेश बाबू के बयान पर कंगना ने कही ये बात

महेश के बयान पर टिप्पणी करने के लिए पूछे जाने पर, कंगना ने मीडिया से कहा, "वह सही हैं, बॉलीवुड महेश बाबू को अफोर्ड नहीं कर सकता, क्योंकि मैं इस तथ्य के लिए जानती हूं कि कई फिल्म निर्माता उन्हें कई फिल्में देते हैं और उन्होंने और उनकी पीढ़ी ने अकेले ही तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री को भारत में नंबर 1 बना दिया है. इसलिए अब, बॉलीवुड निश्चित रूप से उन्हें अफोर्ड नहीं कर सकता है."

कंगना रनौत ने महेश बाबू का लिया पक्ष

उन्होंने कहा कि ''छोटी-छोटी बातों पर विवाद क्यों पैदा करते हैं? अगर उन्होंने कहा कि किसी संदर्भ में, मुझे लगता है कि यह केवल समझ में आता है. हम यह भी कह सकते हैं कि हॉलीवुड हमें अफोर्ड नहीं कर सकता या हम जिस तरह से अपनी बात कहना चाहते हैं, कह सकते हैं, लेकिन यहां एक बात है, मुझे लगता है कि उन्होंने अपने काम और उद्योग के लिए सम्मान दिखाया है, यही वजह है कि वह आज जिस मुकाम पर हैं, उस स्तर तक पहुंचे हैं और हम इससे इनकार नहीं कर सकते''.

कंगना रनौत ने भाषा को लेकर कही ये बात

कंगना रनौत ने आगे कहा, तेलुगू फिल्म उद्योग को थाली में कुछ नहीं मिला. उन्होंने हाल के वर्षों में सभी को पीछे छोड़ दिया है, यहां तक​कि तमिल इंडस्ट्री को भी. हमें उनसे बहुत कुछ सीखना है. जहां तक​भाषाओं का सवाल है, मैंने इसके बारे में विस्तार से बात की है. मेरा मानना​है कि हमारे देश में सभी भाषाएं समान रूप से सम्मानजनक हैं. यह छोटी बात है कि हम एक-दूसरे की भाषाओं का सम्मान करते हैं." कंगना ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र जाने वाले गैर-मराठी भाषी व्यक्ति को मराठी सीखनी चाहिए और उत्तर भारत जाने वाले गैर-हिंदी भाषी व्यक्ति को हिंदी सीखनी चाहिए.

महेश बाबू ने कही थी ये बात

आपको बता दें कि बीते दिनों महेश बाबू से हिंदी फिल्मों में आने के बारे में पूछा गया, जिसपर उन्होंने कहा कि बॉलीवुड उन्हें 'अफोर्ड नहीं कर सकता'. हालांकि, बाद में उन्होंने स्पष्ट किया कि वह 'दूसरे इंडस्ट्री' के लिए काम नहीं करना चाहते हैं और केवल तेलुगु फिल्मों पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें