1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. diagnosis of love and rules of the game review raima sen rannvijay singh mahesh manjrekar bud

Diagnosis of Love Review : इस हफ्ते रिलीज हुई 'डायग्नोसिस लव' और 'रूल्स ऑफ द गेम', यहां पढ़ें रिव्‍यू

By उर्मिला कोरी
Updated Date
rules of the game
rules of the game
photo: twitter

ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफार्म पर अलग अलग प्रयोगों में एक प्रयोग एंथोलॉजी फिल्में हैं. जिसमें एक विषय पर अलग अलग कहानियां कही जाती है. ज़ी 5 की फोर्बिडन लव इस एंथोलॉजी की कड़ी है. 9 सितम्बर को अरेंज्ड मैरिज और अनामिका रिलीज हुई थी. 24 सितम्बर को डायग्नोसिस लव और रूल्स ऑफ द गेम रिलीज हुई है. जी 5 के इस प्रयोग की तारीफ करनी होगी. चार ग्राउंड ब्रेकिंग कहानियां जो कई पक्षों के अंधेरे पक्ष को उजागर करती है जो परदे पर कम समय में काफी एंगेज तरीके से कही जा रही है. हर फिल्म का चकित कर देनेवाला क्लाइमेक्स इन्हें आपस में जोड़ता है.

फ़िल्म: डायग्नोसिस लव

निर्देशक: महेश मांजरेकर

कलाकार: राइमा सेन, वैभव,रणविजय सिंह, महेश मांजरेकर और अन्य

रेटिंग: साढ़े तीन

डायग्नोसिस लव की बात करें तो फ़िल्म की कहानी डॉक्टर सुधा (राइमा सेन) से शुरू होती है जो गोवा के एक अस्पताल में अवार्ड विनिंग सर्जन डॉक्टर हर्ष ठाकुर( वैभव) को नौकरी पर रखने की सिफारिश कर रही है लेकिन अस्पताल कमिटी राजी नहीं है क्योंकि वैभव पर अपनी प्रेमिका के प्रेग्नेंट होने पर उसकी हत्या का आरोप है. इसी बीच हर्ष आरोपो से बरी हो जाता है और अस्पताल में उसकी नौकरी लग जाती हैं.

सुधा के पति वैभव (महेश मांजरेकर) को अपनी पत्नी पर शक होता है. उसे अपनी पत्नी और डॉक्टर हर्ष के बीच नाजायज़ रिश्ते का शक है. वो इसकी हकीकत जानने के लिए अपने एसीपी दोस्त (रणविजय सिंह) की मदद लेता है और यही से कहानी करवट बदलती है. यह फ़िल्म प्यार, रोमांस और एक्स्ट्रा मार्टियल अफ़ेयर का परफेक्ट ब्लेंड हैं.

कहानी की हर परत रहस्य को जोड़ती है जो जेहन में ये सवाल लाता है कि अब आगे क्या होगा. फोर्बिडन लव की पिछली कहानियों की तरह इस कहानी का भी क्लाइमेक्स चौकाने वाले खुलासा करता है. फ़िल्म की कहानी को और रोचक स्टारकास्ट का जबरदस्त परफॉर्मेंस बनाता है. महेश मांजरेकर, रणविजय सिंह और वैभव तीनों ही अपने किरदार में जमें हैं हां राइमा सेन की विशेष तारीफ करनी होगी. अपने किरदार की हर शेड्स को उन्होंने बहुत रोचकता से जिया है. निर्देशक के तौर पर महेश मांजरेकर की तारीफ करनी होगी. यह फोर्बिडन लव एंथोलॉजी की सबसे बेहतरीन फ़िल्म करार दी जा सकती है.

फ़िल्म: रूल्स ऑफ लव

निर्देशक: अनिरुद्ध रॉय चौधरी

कलाकार: चंदन रॉय सान्याल,आहना कुमार, अनंदिता और अन्य

रेटिंग: तीन

अब बात दूसरी फ़िल्म की रूल्‍स ऑफ द गेम. इस फ़िल्म के निर्देशक अवार्ड विनिंग निर्देशक अनिरुद्ध रॉय चौधरी हैं. आमतौर पर हमारी फिल्मों में एक धारणा है कि शादी के बाद वे खुशी खुशी रहने लगी लेकिन यह फ़िल्म बताती है कि शादी के बाद प्यार कहीं ना कहीं पीछे छूट जाता है. गेम ऑफ लव उसी की बात करता है. प्रिया (आहना कुमार) और गौरव (चंदन रॉय सान्याल) की शादी को सात साल हो चुके हैं.

दोनों एक दूसरे के प्रति समर्पित भी हैं लेकिन उनकी लव लाइफ में रोमांच की कमी है. प्रिया अपने आसपास की चीज़ों से प्रेरित होकर अपने बिस्तर पर उसे जीने की कोशिश करती है. वह रोमांच के लिए रूल्स ऑफ गेम बनाती है लेकिन किस तरह से चीज़ें बिगड़ जाती है और ये जोड़ा परेशानी में पड़ जाता है. प्रिया की एक सहेली निशा और उसका पति आनंद भी कहानी में हैं.

इस एक घंटे की कहानी में प्यार, रोमांच, पछतावा और साजिश है. ये अलग अलग कहानी के इमोशन की परत कहानी को रोमांचक बनाते हैं. अभिनय की बात करें तो चंदन रॉय सान्याल और आहना कुमार अभिनय का विश्वसनीय नाम बन चुके हैं और इस फ़िल्म में भी उन्होंने अपने किरदारों को बखूबी जिया है. निशा के किरदार में अनिंदिता ने इनदोनो का अच्छा साथ दिया है.

Posted By: Budhmani Minj

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें