#Padmaavat LIVE: वाराणसी में सिनेमाहॉल के बाहर आत्मदाह की कोशिश

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

-उत्तराखंड के ऋषिकेश में फिल्म पद्मावत को लेकर एक सिनेमाघर के बाहर पुलिस और बजरंग दल कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष की खबर है.

-सुप्रीम कोर्ट सोमवार को फिल्म #Padmaavat को लेकर उन दो याचिकाओं पर सुनवाई करेगा जिसमें पद्मावत को लेकर हो रही हिंसा पर अदालत की अवमानना का मामला चलाने की मांग की गयी है. पहली याचिका कांग्रेसी नेता तहसीन पूनावाला की ओर से दाखिल की गयी है. इस पहली याचिका में चार राज्यों में पद्मावत को लेकर हिंसा का हवाला दिया गया है. दूसरी याचिका विनीत ढांडा की ओर अवमानना याचिका सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गयी है जिसमें कहा गया है कि फिल्म को सुप्रीम कोर्ट ने रिलीज करने को हरी झंडी देने के बावजूद हिंसा हो रही है.

-उत्तर प्रदेश के वाराणसी में एक सिनेमाघर के बाहर फिल्म पद्मावत के विरोध में व्यक्ति ने की आत्मदाह की कोशिश की. पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है.

-लखनऊ के नॉवल्टी सिनेमा के बाहर करणी सेना के सदस्यों ने फिल्म पद्मावत के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने लोगों को गुलाब के फूल देकर की फिल्म न देखने की अपील. एक प्रदर्शनकारी ने कहा, 'अगर किसी ने पहले से टिकट खरीद लिया है तो हम उसके नुकसान की भरपाई भी करेंगे.'

-फिल्म पद्मावत को लेकर हो रहे विरोध पर AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- यह और कुछ नहीं बल्कि भाजपा के द्वारा की जा रही 'पकोड़ा' राजनीति है. प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी ने इन विरोध करने वाले लोगों के सामने सरेंडर कर दिया है. मोदी का 56 इंच का सीना केवल मुसलमानों के लिए है.

-गुरुग्राम में स्कूल बस पर हुए हमले के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- 'मैं पूरी रात सो नहीं पाया'. उन्होंने कहा कि गुड़गांव में बच्चों की बस पर पत्थर चलाने की घटना की मैं निंदा करता हूं. मैं पूरी रात सो नहीं पाया. ये हमारे लिए डूब मरने की बात है.

-राजस्थान के उदयपुर में फिल्म पद्मावत का विरोध कर रहे लोगों ने की दुकानों में तोड़फोड़.

-हरियाणा सरकार में मंत्री राम बिलास शर्मा ने गुरुग्राम में एक स्कूल बस पर हमले की घटना पर कहा कि यह काफी चिंताजनक घटना है. मुझे उम्मीद है कि आज इस पूरे मामले का समाधान निकल आएगा. हमें ऐसी घटना का अंदेशा नहीं था.

-बिहार के मुजफ्फरपुर में करनी सेना के समर्थक तलवार लेकर सड़क पर उतरे, टायर में लगायी आग.

-राजस्थान: करनी सेना के कार्यकर्ताओं ने फिल्म के विरोध में निकाली बाइक रैली.

-सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा- यह पुराने घावों को कुरेदने का काम करता है. इसलिए ऐसी फिल्में नहीं बनना चाहिए. इसकी ऐतिहासिक वेल्यू क्या है? जीरो. वे कहते हैं कि इसका इतिहास से कोई लेना देना नहीं है. तो फिर आपने क्यों इसे बनायी? इसके अलावा, राहुल गांधी इस पर अपना स्टैंड क्लीकर क्यों नहीं करते?

-करणी सेना के अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह काल्वी ने फिर कहा है कि देश में फिल्म नहीं लगनी चाहिए. कौन क्या कह रहा है मुझे पता नहीं. मैं सभी संगठनों से कहता हूं कि जनता कर्फ्यू लगाये. यूपी, बिहार, गुजरात जनता कर्फ्यू की तरफ अग्रसर हो चुके हैं. राजस्थान में भी डिस्ट्रीब्यूटरों ने साफ मना कर दिया है. सिनेमाघरों वालों को कमाई नहीं करने देंगे.

-गुजरात में 'पद्मावत' रिलीज करने से थियेटर मालिकों का इनकार.

-मुंबई में फिल्म पद्मावता का विरोध कर रही करणी सेना के 17 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है. फिल्म पद्मावत का विरोध कर रहे करणी सेना के 44 लोगों को अहमदाबाद में गिरफ्तार किया.

-एक वकील ने शीर्ष अदालत के आदेशों का उल्लंघन करने के लिए करणी सेना और इसके पदाधिकारियों के खिलाफ भी इसी प्रकार की अवमानना कार्रवाई की मांग वाली पृथक याचिका दायर की.

-कांग्रेस समर्थक तहसीन पूनावाला ने ‘पद्मावत' फिल्म का विरोध कर रही भीड़ को काबू करने में नाकाम रहने पर चार राज्यों के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई करने की उच्चतम न्यायालय से अपील की. न्यायालय ने राजस्थान, हरियाणा, गुजरात और मध्य प्रदेश के खिलाफ दायर अवमानना याचिका पर सोमवार को सुनवाई के लिए सहमति जतायी.

-फिल्म के विरोधियों का खौफ राजधानी दिल्ली में भी देखा जा रहा है. अपने बच्चे को स्कूल छोड़ने पहुंचे एक शख्‍स ललित ने कहा कि यह परेशान करने वाला है, अगर गुरुग्राम में एक स्कूल बस पर हमला हो सकता है तो ऐसा दिल्ली में भी हो सकता है. यहां स्कूल के पास ही सिनेमाघर हैं, इसलिए मैं अपने बच्चे को छोड़ने के लिए खुद आया हूं.

-राजस्थान के उदयपुर ADM एससी शर्मा ने सरकारी और निजी स्कूलों के लिए आदेश जारी किया है और कहा है कि गणतंत्र दिवस मनाने के दौरान 'घूमर' गाने पर प्रस्तुति न दें छात्र...

गुड़गांव में स्तब्धकारी घटना
फिल्म पद्मावत आज रिलीज हो रही है. इससे एक दिन पहले यानी बुधवार को गुड़गांव में स्तब्धकारी घटना हुई. यहां उन्मादी भीड़ ने एक स्कूल बस पर हमला कर दिया. जानकारी के अनुसार बस में सवार जीडी गोयनका वर्ल्ड स्कूल के करीब 20-25 छात्र अपने घर जा रहे थे. तभी फिल्म का विरोध कर रहे एक समूह के करीब 60 कार्यकर्ताओं ने बस पर डंडों से हमला कर दिया और चालक से बस रोकने को कहने लगे. गुड़गांव पुलिस के पीआरओ रविंद्र कुमार ने कहा कि जब चालक ने उनकी बात नहीं मानी तो उन्होंने वाहन पर पथराव किया. स्कूल बस में मौजूद स्कूल के स्टाफ के लोगों ने बच्चों को सीट के नीचे घुसने को कहा और चालक से कहा कि वह बस ना रोके. कुमार ने कहा, ‘‘ डरे हुए बच्चे मदद के लिए चिल्ला रहे थे. सौभाग्य से हमले में कोई भी घायल नहीं हुआ.'

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें